सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Diabetes:कौंन से फल खानें चाहिए और कौंन से फल नहीं खानें चाहिए

जिन लोगों को Diabetes हैं उन्हें फल खानें में हमेशा डर लगा रहता हैं कि कौंन से फल खानें चाहिए और कौंन से फल नहीं खानें चाहिए वे हमेशा यह चिंता प्रकट करते हैं कि कहीं फल खानें से उनका शुगर लेवल न बढ़ जाए।

आज हम आपको पूरी तरह से प्रामाणिक जानकारी उपलब्ध कराएंगे कि किन फलों में कितनी शक्कर की मात्रा होती हैं और क्या Diabetes patient इन फलों को खा सकता हैं या नहीं।

1.आम [Mangoes]
आम स्लाइस, mango slices

एक साधारण आकार के पूरी तरह से पके आम में 46 ग्राम शक्कर मोजूद होती हैं। भारत में आम की अलग अलग प्रजाति पाई जाती हैं इसमें शक्कर की मात्रा में अंतर हो सकता हैं। उदाहरण के लिए अल्फांसो आम,बादाम आम आदि में शक्कर की मात्रा अधिक होती हैं।

देशी आम जो आकार में छोटे होते हैं में शक्कर की मात्रा कम होती हैं। 

यदि आपको Diabetes हैं तो आप पूरी तरह से पके आम की बजाय अधपके या कच्चे आम का सेवन करें। अधपका आम विटामिन, मिनरल और फायबर का अच्छा स्त्रोत होता हैं।
यदि पके आम का सेवन कर रहें हैं तो आपके शरीर में इंसुलिन की मात्रा के हिसाब से एक एक या दो पीस ही लें।

2.अंगूर [Grapes]
हरा अंगूर, green grapes

एक कप अंगूर में 23 ग्राम शक्कर मौजूद रहती हैं। अंगूर में मौजूद शक्कर शरीर में जाकर तुरंत शरीर का ग्लूकोज लेवल बढ़ा देती हैं।
अतः शरीर में शुगर लेवल कम हो या ज्यादा Diabetes patient को अंगूर खानें से परहेज़ करना चाहिए।

Diabetes patient को अंगूर में मौजूद पौषक तत्वों को पानें के लिए अन्य खानपान की वस्तुओं पर ध्यान देना चाहिए।

3.चेरी [Cherry]
Cherry, cherries,चेरी

एक साधारण कप में मौजूद चेरी में 18 ग्राम शक्कर मौजूद होती हैं। Diabetes patient को चेरी खानें से पहले अपने इंसुलिन लेवल का ध्यान रखना चाहिए।

यदि शरीर में शक्कर का लेवल सामान्य से थोड़ा ही बढ़ा हुआ रहता हैं तो सुबह के नाश्ते में थोड़ी सी चेरी ले सकतें हैं।

गर्मी के मौसम में सुबह चेरी खानें से शरीर दिनभर ऊर्जा से भरपूर बना रहेगा।

4.नाशपाती [Pears] 🍐

एक मध्यम आकार के नाशपाती में 17 ग्राम शक्कर होती हैं। आपको Diabetes हैं और फल खानें की सोच रहे हैं तो सुबह के नाश्ते में दही या छाछ के साथ एक या दो फांकें मिलाकर ले सकतें हैं।

दोपहर के भोजन में अन्य सलाद के साथ इसे भी थोड़ी मात्रा में मिलाकर खा सकते हैं।

5.तरबूज [watermelon]🍉

तरबूज गर्मीयों के मौसम का फल हैं, जिसमें बहुत अधिक मात्रा में पानी और Electrolyte होते हैं।
एक मध्यम आकार के तरबूज में 17 ग्राम शक्कर होती हैं।

Diabetes patient यदि गर्मीयों में घूम रहा हैं, बहुत अधिक सूर्य की रोशनी में काम कर रहा हैं,लू चल रही हैं तो सुबह, दोपहर और शाम के समय थोड़ा थोड़ा तरबूज खाएं।

तरबूज खानें से शरीर में Electrolyte Balance बना रहेगा और पानी की कमी नहीं होगी।

Diabetes के कारण बार बार लगने वाली प्यास में कमी आएगी।

6.अंजीर [Figs]

एक सामान्य आकार के अंजीर में 16 ग्राम शक्कर मौजूद रहती हैं। यदि शुगर पेशेंट में प्रोटीन की कमी हो तो अंजीर की एक या दो फांकें पनीर के साथ सेवन करें। 

7.केला [Bananas]🍌

केला बारह महीने उपलब्ध फल हैं, भारतीय घरों में,जिम, फिटनेस सेंटर और स्पोर्ट्स सेंटरों में केले का सेवन किया जाता हैं।

एक केले में 14 ग्राम शक्कर होती हैं। इसके अलावा यह फायबर, मैग्नीशियम आयरन आदि का बहुत उत्तम स्त्रोत होता हैं।

जिन Diabetes patient का वजन अधिक है उन्हें केला नहीं खाना चाहिए। बस केले एक केला सुबह के समय लें सकते हैं।

Diabetes Patient को कच्चे केले की चि

8.ऐवाकेडो [Avocado] 🥑


एक ऐवाकेडो में शक्कर की मात्र 1.33 ग्राम मात्रा पाई जाती हैं। ऐवाकेडा ऊर्जा, खनिज,और विटामिन ए,बी,सी से भरपूर फल हैं।

Diabetic patients जिनका शुगर लेवल बहुत ऊंचा रहता हैं भी इस फल को बहुत अधिक मात्रा में खा सकते हैं।

सुबह के नाश्ते में, दोपहर के भोजन में या शाम के नाश्ते में ऐवाकेडो Diabetic patients के लिए best fruit हैं।

9.अमरूद [Guavas]

Diabetes:कौंन से फल खानें चाहिए और कौंन से फल नहीं खानें चाहिए के क्रम में अगला फल हैं अमरूद

अमरूद शुगर पेशेंट के लिए बेस्ट फल हैं,एक अमरूद में 5 ग्राम शक्कर होती हैं। 

अमरूद में बहुत सारा फायबर मौजूद होता हैं जो कब्ज दूर करता हैं।

Diabetic patient अमरूद को सलाद के रुप में, दही के साथ, सेंडविच के साथ खाएं।

• अमरूद में पाए जाने वाले पौषक तत्व

10.रसबेरी [Raspberries]


एक कप रसबेरी में 5 ग्राम शक्कर होती हैं। इसमें भरपूर मात्रा में फाइबर होता हैं जो पेट को सही रखता है। रसबेरी में ऊर्जा भरपूर होती हैं, सुबह के नाश्ते में रसबेरी शेक आपको दिनभर तरोताजा रख सकता हैं।

11.पपीता [Papaya]

आधे कटे हुए पपीता में 6 ग्राम शुगर होती हैं। Diabetic patient यदि एक बार में आधा पपीता खाता है तो शरीर में विटामिन ए के साथ, खनिज तत्व और पानी की पूर्ति आसानी से हो जाती हैं।

सुबह दोपहर और शाम को पपीता खाना Diabetic patient का पेट भी साफ रखता है।

12.स्ट्राबेरी [Straberry]

Diabetes:कौंन से फल खानें चाहिए और कौंन से फल नहीं खानें चाहिए के क्रम में अगला नंबर हैं स्ट्राबेरी का 

एक कप भरकर स्ट्राबेरी में मात्र 7 ग्राम शक्कर होती हैं। शुगर पेशेंट इसे सलाद के रुप में, दही के साथ, भरपूर मात्रा में खा सकते हैं।

स्ट्राबेरी में मौजूद खनिज तत्व, विटामिन Diabetic patient के शरीर को पोषण प्रदान करते हैं।

13.सीताफल [Custurdapple]

पका हुए एक सीताफल में 50 ग्राम तक शक्कर होती हैं अतः Diabetic patient को सीताफल नहीं खाना चाहिए।

अधपके या कच्चे सीताफल में शक्कर की मात्रा कम होती हैं अतः इसे बहुत थोड़ी मात्रा में खा सकते हैं।

14.सेब [ Apple] 🍎

भारत में सबसे ज्यादा खाया जाने वाला फल सेब ही हैं बीमारी के समय तो घर परिवार और रिश्तेदार बीमार व्यक्ति के लिए सेब ही लाते हैं लेकिन क्या आप जानते हैं एक सेब में 45 ग्राम शक्कर होती हैं जो Diabetic patient के लिए नुकसानदायक हो सकती हैं।

अतः Diabetic patient सेब का सेवन करने से पहले अपने शुगर लेवल को ध्यान में रखें अधिक शुगर लेवल होने पर सेब कम ही खाएं।

15.आंवला 

Diabetes Patient को कौंन से फल खानें चाहिए और कौंन से फल नहीं खानें चाहिए के क्रम में अगला फल आंवला हैं।

एक देशी आंवला मात्र 3 ग्राम शक्कर का स्त्रोत होता हैं, आंवले में विटामिन सी, खनिज तत्व भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं।

Diabetic patient यदि नियमित आंवला सेवन करता हैं तो उसकी प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती हैं।

आंवले में विटामिन सी भरपूर मात्रा में होने से Diabetic patient को मसूड़ों से संबंधित तकलीफ नहीं होगी और हाथ पांव में सुन्नपन नहीं होगा।

16. अनार [Pomegranate]

एक सामान्य अनार में शक्कर की मात्रा 30 ग्राम तक होती हैं। जिन Diabetic patient का हिमोग्लोबिन कम होता हैं उन्हें थोड़ी बहुत मात्रा में अनार सुबह शाम नाश्ते के साथ खाना चाहिए।

18.चुकंदर [Turnip]

एक कप चुकंदर के टुकड़ों में 16 ग्राम शक्कर मौजूद रहती हैं। 

Diabetic patient यदि चुकंदर सलाद के रुप में खाता हैं तो हिमोग्लोबिन बढ़ता हैं और डायबिटिक न्यूरोपैथी की संभावना कम हो जाती हैं।

चुकंदर खानें से डायबिटीज़ के उन मरीज को जो उच्च रक्तचाप से भी पीड़ित हैं और जिन्हें नींद नहीं आती हैं उन्हें नींद बहुत अच्छी आएगी।

• चुकंदर खानें के क्या फायदे विस्तार से जानकारी

19.खीरा [Cucumber] 🥒

खीरा फायबर,पानी और विटामिन का प्रचुर स्त्रोत होता हैं।खीरा में 4 ग्राम शक्कर होती हैं अतः Diabetic patient इसे पर्याप्त मात्रा में खा सकते हैं।

पेट भरकर खानें से शरीर में ऊर्जा महसूस होगी और बार बार भूख लगने की समस्या नहीं होगी।

20.नारियल [Coconut] 🥥

नारियल में का एक फल मात्र ग्राम शक्कर का स्त्रोत होता हैं। डायबिटीज़ मरीज यदि नियमित सुबह शाम नारियल खाता हैं तो शरीर में इंसुलिन का लेवल सही करने में मदद मिलेगी।

नारियल में मौजूद मैग्नीशियम, सोडियम जैसे तत्व Diabetes Patient के रक्तचाप को नियंत्रित करने में मदद करते हैं और टैकीकार्डिया में आराम दिलाते हैं।

नारियल पानी Diabetic patient का मेटाबॉलिज्म रेट सुधारता हैं।


21.जामुन [Java plum]

Diabetes Patient के लिए सबसे उपयोगी फल हैं जामुन आयुर्वेद में जामुन को Diabetes Patient के लिए औषधि माना गया हैं।

एक जामुन में 1 ग्राम से भी कम शुगर होती हैं। इसमें मौजूद तत्व इंसुलिन का स्तर शरीर में बढ़ाते हैं।

जामुन की गुठली पेन्क्रियास की बिगड़ी कार्यप्रणाली सुधारती हैं।

जामुन सुबह दोपहर शाम कभी भी खाया जा सकता हैं। इसकी गुठली का पावडर बनाकर सुबह खाली पेट सेवन करना चाहिए।


22.सिंघाडा [water chestnut]

सिंघाड़ा Diabetic patient के लिए बहुत उत्तम फल हैं सिंघाड़े के एक फल में 0.1 ग्राम शुगर होती हैं। 

सिंघाड़े में मिनरल के साथ विटामिन और फाइबर बहुतायत में पाया जाता हैं। इसमें मौजूद स्टार्च का ग्लाइसेमिक इंडेक्स बहुत कम होता हैं अर्थात यह शरीर में जाकर बहुत धीरे धीरे ग्लूकोज में बदलता है।

Diabetes Patient को सिंघाड़ा दही या छाछ के साथ सुबह के नाश्ते में लेना चाहिए।

ऐसे डायबिटीज़ मरीज जिनका शुगर लेवल मैदा,आटा या चावल खाने के बाद बहुत अधिक बढ़ता है उन्हें सिंघाड़े के आटे से बनी रोटी खाना चाहिए इससे शरीर में शुगर लेवल नियंत्रण में रहेगा।

23.खिरनी 

गर्मियों में मालवा क्षेत्र में खिरनी बहुतायत में होती हैं। खिरनी के एक कप फल में 30 ग्राम शक्कर होती हैं। जिन लोगों का शुगर लेवल कंट्रोल रहता हैं वह दोपहर में खिरनी का सेवन कर सकते हैं।

जिन लोगों का शुगर लेवल बहुत अधिक होता हैं ऐसे लोग खिरनी के बीज का पावडर बनाकर सुबह शाम आधा चम्मच लें तो शुगर लेवल नियंत्रित रहता हैं।

24.करोंदा [Cranberries]

करोंदा गर्मीयों में पैदा होता हैं, इसमें मौजूद विटामिन, खनिज और पानी शरीर को पोषण प्रदान करते हैं।

एक कप करोंदा में 10 ग्राम शक्कर होती हैं। यदि Diabetes Patient शरीर में गर्मी की वजह से जलन हो रही हैं। गर्मियों के कारण लू लग गई हैं तो करोंदा सुबह शाम जरुर खाएं।

Diabetes Patient को दस्त लगे हो शरीर में एनर्जी लेवल कम हो गया है तो करोंदा खाना चाहिए।

25.खरबूजा

एक छोटा खरबूजा‌ जो हाथ में आसानी से आ जाता हो में 50 ग्राम तक शक्कर होती हैं। खरबूजे में पानी पर्याप्त मात्रा में होता हैं।

Diabetes Patient को खरबूजा खानें में सावधानी बरतनी चाहिए और अपने शुगर लेवल को ध्यान में रखकर ही खरबूजा खाना चाहिए।

26.संतरा Orange 🍊

Diabetes:कौंन से फल खानें चाहिए और कौंन से फल नहीं खानें चाहिए  के क्रम में अगला फल हैं संतरा

संतरा के एक फल में 50 ग्राम से भी अधिक शक्कर होती हैं लेकिन यह विटामिन सी का बहुत उत्तम स्त्रोत होता है। 

जिन लोगों की शुगर कंट्रोल रहती हैं उन्हें कुछ मात्रा में संतरा की फांके सुबह के नाश्ते में ब्रेड के साथ खाना चाहिए।

27.निम्बू 

एक निम्बू में 1 ग्राम से भी कम शुगर होती हैं अतः ऐसे Diabetes Patient जिनका शुगर लेवल बहुत बड़ा होता हैं उन्हें नियमित सुबह के समय निम्बू पानी पीना चाहिए।

निम्बू पानी से शरीर में विटामिन सी भरपूर मिलेगा और पेन्क्रियास में इंसुलिन बनना शुरू होगा।

सुबह दोपहर और शाम के समय भी निम्बू भोजन या सलाद में निचोड़कर उपयोग किया जा सकता हैं। ऐसा करने से शुगर मरीज जो नियमित गोली दवाई लेते हैं वह किडनी से Detox होकर पैशाब के रास्ते बाहर निकल जाती हैं और किडनी खराब नहीं होती हैं ‌।

28.हापशूट Hopshoot

यूरोप में पाया जाने वाला यह फल दुनिया के सबसे मंहगे फलों में से एक है।

हापशूट में मौजूद तेल डायबिटीज़ की वजह से पुरुष की कामेच्छा की कमी को ठीक कर देता हैं।

• हापशूट के अनगिनत फायदे

29.ड्रैगन फ्रूट Dragon fruit

एक बाउल ड्रैगन फ्रूट में 10 ग्राम तक शक्कर होती हैं। Diabetes Patient यदि सुबह के नाश्ते में और दोपहर में ड्रैगन फ्रूट लेता है तो शरीर में विटामिन, खनिज की पूर्ति हो जाती हैं और शरीर ऊर्जा से भरपूर बना रहता हैं।

Diabetes Patient ड्रैगन फ्रूट को दही,छाछ और दूध के साथ या भोजन के साथ सलाद के रुप में भी ले सकता हैं।

30.कीवी Kiwi 🥝

Kiwi fruit भी डायबिटीज़ मरीज के लिए बहुत आदर्श फल हैं। कीवी खानें से डायबिटीज़ मरीज को कमजोरी, थकावट और बार पैशाब जाने की समस्या नियंत्रित होती हैं।

एक कीवी फल में 5 ग्राम तक शक्कर होती हैं।

31.अनानास Pineapple 🍍

अनानास के एक सामान्य आकार के फल में 100 ग्राम से अधिक शक्कर होती हैं। अतः डायबिटीज़ मरीज को अनानास खानें में सावधानी रखनी चाहिए और अपने शुगर लेवल पर ध्यान देकर अनानास खाना चाहिए।

32.चीकू

एक सामान्य रूप से पके हुए चीकू में 40 ग्राम से अधिक शक्कर होती हैं जबकि कच्चे चिकू में शक्कर की मात्रा 5 ग्राम से भी कम होती हैं।
अतः ऐसे डायबिटीज़ मरीज जिनको कैल्शियम की कमी है एक दो फांक नियमित रूप से कच्चे चीकू की खा सकते हैं। लेकिन ध्यान रहे कच्चे चीकू का स्वाद बहुत तीखा होता हैं जिससे जीभ पर छाले भी हो सकतें हैं।

लेखक
डाक्टर पी के व्यास
बीएएमएस, आयुर्वेद रत्न 

• कीटो डाइट के फायदे

• नमक के फायदे और नुकसान

• गर्मियों में लू से बचाव के लिए क्या करना चाहिए

• निर्गुण्डी के औषधीय गुण

• 5 तरीकों से आप फलों और सब्जियों से अधिक पोषण प्राप्त करेंगे

टिप्पणियाँ

बेनामी ने कहा…
Bahut kam ki jankari hai

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

गेरू के औषधीय प्रयोग

गेरू के औषधीय प्रयोग गेरू के औषधीय प्रयोग   आयुर्वेद चिकित्सा में कुछ औषधीयाँ सामान्य जन के मन में  इतना आश्चर्य पैदा करती हैं कि कई लोग इन्हें तब तक औषधी नही मानतें जब तक की इनके विशिष्ट प्रभाव को महसूस नही कर लें । गेरु भी उसी श्रेणी की   आयुर्वेदिक औषधी   हैं। जो सामान्य मिट्टी   से   कहीं अधिक   इसके   विशिष्ट गुणों के लिए जानी जाती हैं। गेरु लाल रंग की मिट्टी होती हैं। जो सम्पूर्ण भारत में बहुतायत मात्रा में मिलती हैं। इसे गेरु या सेनागेरु कहते हैं। गेरू आयुर्वेद की विशिष्ट औषधी हैं जिसका प्रयोग रोग निदान में बहुतायत किया जाता हैं । गेरू का संस्कृत नाम  गेरू को संस्कृत में गेरिक ,स्वर्णगेरिक तथा पाषाण गेरिक के नाम से जाना जाता हैं । गेरू का लेटिन नाम  गेरू   silicate of aluminia  के नाम से जानी जाती हैं । गेरू की आयुर्वेद मतानुसार प्रकृति गेरू स्निग्ध ,मधुर कसैला ,और शीतल होता हैं । गेरू के औषधीय प्रयोग 1. आंतरिक रक्तस्त्राव रोकनें में गेरू शरीर के किसी भी हिस्से में होनें वाले रक्तस्त्राव को कम करने वाली सर्वमान्य औषधी हैं । इसके लिय

काला धतूरा के फायदे और नुकसान kala dhatura ke fayde aur nuksan

धतूरा भगवान शिव का प्रिय पौधा है। भगवान शिव धतूरा अपने मस्तिष्क पर धारण करते हैं और जो लोग धतूरा भगवान शिव को अर्पण करते थे वे उन्हें मनचाहा आशीष प्रदान करते हैं। धतूरा भी कई प्रकार का होता है जैसे काला धतूरा, सफेद धतूरा, पीला धतूरा आदि। आज हम आपको "काला धतूरा के फायदे और नुकसान kala dhatura ke fayde aur nuksan" के बारे में बताएंगे।  काला धतूरा के फायदे और नुकसान आयुर्वेद आयुर्वेद चिकित्सा में काला धतूरा बहुत महत्वपूर्ण औषधि के रूप में बहुत लंबे समय से इस्तेमाल हो रहा है । धतूरा बहुत ही जहरीला फल होता है , प्रकृति में गर्म और भारी होता है। काला धतूरा का वैज्ञानिक नाम काला धतूरा का वैज्ञानिक नाम धतूरा स्ट्रामोनियम DHATURA STRAMONIUM है । अंग्रेजी में इसे डेविल्स एप्पल Devil's apple, डेविल्स ट्रम्पेट Devil's trumpet के नाम से जाना जाता है। संस्कृत में इसे दस्तूर, मदन, उन्मत्त ,शिव प्रिय महामोधि, कनक आदि नाम से जानते हैं। काला धतूरा की पहचान कैसे करें  काला धतूरा के पत्ते नोक दार ,डंठल युक्त और बड़े आकार के होते हैं। काला धतूरा के फूल घंटी

टीकाकरण चार्ट [vaccination chart] और संभावित प्रश्न

 टीकाकरण चार्ट # 1.गर्भावस्था के समय टीकाकारण ::: गर्भावस्था की शुरूआत में Titnus का पहला टीका टी.टी - 1. टी.टी -1 के चार सप्ताह बाद टी.टी.-2 यदि पिछली गर्भावस्था में टी.टी - 2 दिया गया हैं,तो केवल बूस्टर दीजिए. # टीके की मात्रा ,कैसें और कहाँ दें 0.5 ml.मात्रा प्रशिक्षित व्यक्ति द्धारा ऊपरी बांह की मांसपेशी में. # महत्वपूर्ण गर्भावस्था के 36 सप्ताह हो गयें हो तो मात्र टी.टी.- बूस्टर देना चाहियें.  टीकाकरण का दृश्य # 2.शिशुओं के लियें टीकाकरण  #जन्म के समय ::: 1. B.C.G.  =     0.1 ml बाँह पर त्वचा के निचें. 2.हेपेटाइटिस बी.=  0.5 ml मध्य जांघ के बाहरी हिस्सें पर मांसपेशी में 3.o.p.v.या oral polio vaccine = दो बूँद मुहँ में . ०  जानिये पोलियो क्या होता हैं ? #6 सप्ताह पर ::: 1.हेपेटाइटिस बी. = 0.5 ml 2.D.P.T. = 0.5 ml मध्य जांघ का बाहरी हिस्सें में माँसपेशियों में. 3.o.p.v.या oral polio vaccine. #10 सप्ताह पर ::: 1.हेपेटाइटिस बी. 2.D.P.T. 3.o.p.v. #14 सप्ताह पर ::: 1.हेपेटाइटिस बी. 2.D.P.T. 3.o.p.v.   #9 से 12 माह