सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

संदेश

फ़रवरी, 2022 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

YO YO TEST KYA HOTA HAI

फिटनेस मापने का यो यो टेस्ट क्या होता हैं, भारतीय क्रिकेटर के लिए यो यो टेस्ट पास करने का स्कोर कितना होता हैं  यो यो टेस्ट (YO YO TEST) दौड़ आधारित फिटनेस लेवल जांच करने का तरीका हैं। यो यो टेस्ट पूर्णतः कम्प्यूटर साफ्टवेयर आधारित फिटनेस टेस्ट होता हैं। शुरुआत में यह टेस्ट फुटबॉल खिलाड़ियों के लिए बनाया गया था किन्तु जिन खिलाड़ियों ने यो यो टेस्ट पास किया उनके फिटनेस के उच्च लेवल और खेलों में उच्च प्रदर्शन को देखते हुए धीरे-धीरे सभी खेलों के खिलाड़ीयों के फिटनेस का पैमाना बन गया। यो यो टेस्ट की खोज किसने की थी  यो यो टेस्ट YO YO TEST की खोज सन् 1990 के दशक में डेनमार्क के एक फुटबॉल टीम के फिजियोलाजिस्ट जेन्स बैंग्सबो ने की थीं। यो यो टेस्ट कैसे किया जाता हैं यो यो टेस्ट में 25 मीटर की दूरी पर  तीन कोन A,B,C रखें जातें हैं जिसमें कोन A से कोन B की दूरी 5 मीटर,कोन B से कोन C की दूरी 20 मीटर होती हैं। जब कम्प्यूटर आधारित साफ्टवेयर बीप की आवाज देता है तब व्यक्ति को कोन B से दौड़ना शुरू करना होता हैं, और अगली बीप की आवाज तक कोन C तक पहुंचना पड़ता हैं। कोन C से पुनः अगली बीप की आवाज तक कोन

EXAM TIPS: परीक्षा में अच्छे अंक कैसे प्राप्त करें

  EXAM TIPS: परीक्षा में अच्छे अंक कैसे प्राप्त करें   प्रिय छात्र छात्राओं हर व्यक्ति जीवन के प्रत्येक क्षण परीक्षा देता ही रहता हैं। परीक्षा से कोई भी इंसान आजतक नहीं बच पाया हैं। बड़े बड़े महापुरुषों जैसे भगवान राम, श्री कृष्ण, गौतम बुद्ध,महावीर से लेकर महात्मा गांधी, स्वामी विवेकानंद आदि ने जीवन का प्रतिक्षण परीक्षा में ही गुजारा हैं। लेकिन आजकल के छात्र छात्राएं परीक्षा को लेकर इतने तनाव में रहते हैं कि ज़रा भी इनके प्लान के मुताबिक़ नहीं हुआ तो ये अपने जीवन के साथ खेल जातें हैं। अब कई लोग कहेंगे कि उपरोक्त सभी लोग तो महापुरुष थे हम तो साधारण इंसान हैं तो मैं आपको बताना चाहता हूं उपरोक्त सभी महापुरुषों ने साधारण इंसान के रुप प्रथ्वी पर जन्म लिया और परीक्षा देते देते महापुरुष के रूप में लोगों के बीच लोकप्रिय हो गए। ऐसा बिल्कुल भी नहीं हैं कि उपरोक्त महापुरुष जीवन की हर परीक्षा में हमेशा पास ही हुए हो असफलता इनके हिस्सें में भी आई लेकिन इन्होंने जीतने और जूझने का माद्दा कभी नहीं छोड़ा। परीक्षा के तनाव को देखते हुए भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी प्रत्येक वर्ष परीक्षा पे चर्चा कार

PATANJALI BPGRIT VS DIVYA MUKTA VATI EXTRA POWER

PATANJALI BPGRIT VS DIVYA MUKTA VATI EXTRA POWER  पतंजलि आयुर्वेद ने high blood pressure की नई गोली BPGRIT निकाली हैं। इसके पहले पतंजलि आयुर्वेद ने उच्च रक्तचाप के लिए Divya Mukta Vati निकाली थी। अब सवाल उठता हैं कि पतंजलि आयुर्वेद को मुक्ता वटी के अलावा बीपी ग्रिट निकालने की क्या आवश्यकता बढ़ी। तो आईए जानतें हैं BPGRIT VS DIVYA MUKTA VATI EXTRA POWER के बारें में कुछ महत्वपूर्ण बातें BPGRIT INGREDIENTS 1.अर्जुन छाल चूर्ण ( Terminalia Arjuna ) 150 मिलीग्राम 2.अनारदाना ( Punica granatum ) 100 मिलीग्राम 3.गोखरु ( Tribulus Terrestris  ) 100 मिलीग्राम 4.लहसुन ( Allium sativam ) 100  मिलीग्राम 5.दालचीनी (Cinnamon zeylanicun) 50 मिलीग्राम 6.शुद्ध गुग्गुल ( Commiphora mukul )  7.गोंद रेजिन 10 मिलीग्राम 8.बबूल‌ गोंद 8 मिलीग्राम 9.टेल्कम (Hydrated Magnesium silicate) 8 मिलीग्राम 10. Microcrystlline cellulose 16 मिलीग्राम 11. Sodium carboxmethyle cellulose 8 मिलीग्राम DIVYA MUKTA VATI EXTRA POWER INGREDIENTS 1.गजवा  ( Onosma Bracteatum) 2.ब्राम्ही ( Bacopa monnieri) 3.शंखपुष्पी (Convolvulus plur

PATANJALI LIPIDOM KE FAYDE,SIDE EFFECTS

PATANJALI LIPIDOM KE FAYDE SIDE EFFECTS पतंजलि LIPIDOM दिव्य फार्मेसी हरिद्वार और पतंजलि आयुर्वेद का उत्पाद हैं। पतंजलि आयुर्वेद के अनुसार LIPIDOM, पतंजलि रिसर्च इंस्टीट्यूट के टेस्ट में पूरी तरह से प्रमाणित औषधी हैं। PATANJALI LIPIDOM INGREDIENTS पतंजलि लिपीडोम में निम्नलिखित आयुर्वेदिक तत्व पाएं जातें हैं 1.अर्जुन छाल चूर्ण ( Terminalia Arjuna) 2. लहसुन   3.लौकी 4.दालचीनी ( Cinnamomum zeylanicim ) 5.गुग्गुल ( Commiphora mukul ) Other Ingredients 1.Croscarmellose Sodium 2.बबूल गोंद 3.पावडर (Talcum) PATANJALI LIPIDOM KE FAYDE 1. PATANJALI LIPIDOM में मौजूद अर्जुन छाल आयुर्वेद में ह्रदय रोगियों के लिए बहुत उत्तम टानिक की तरह काम करता हैं। 2.अर्जुन छाल में Arjuneic acid,Glycosides acid और Beta - Sistosterol प्रचुर मात्रा में पाए जाते हैं। 3.अर्जुन छाल ह्रदय की असामान्य धड़कन को नियंत्रित करता हैं। 4.अर्जुन छाल ह्रदय की धमनियों में कोलेस्ट्रोल के जमाव को नियंत्रित कर खून को पतला करता हैं। 5.LIPIDOM में मौजूद अर्जुन छाल मस्तिष्क को शांत रखकर Cardiovascular Stress को कम करता हैं जिससे उच्च

Narendra Modi Fitness Secret : रोज सुबह उठकर ये काम करते हैं मोदी

Narendra Modi fitness secrets भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की उम्र 71 वर्ष हो चुकी हैं लेकिन Narendra Modi Fitness को देखकर यह कोई नहीं बोल सकता कि नरेंद्र मोदी उम्र के 70 वसंत देख चुके हैं। नरेंद्र मोदी 18 घंटे काम करते हैं और 3 से 4 घंटे सोकर सुबह 5 बजें बिस्तर छोड़ देते हैं। पिछले साल नरेंद्र मोदी ने विडियो शेयर कर अपनी फिटनेस का राज बताया था तो आईए जानतें हैं NarendraModi Fitness Secret नरेन्द्र मोदी सुबह कितनी बजें उठते हैं नरेन्द्र मोदी नियम के सख्त पाबंद हैं वह रात को चाहें कितने बजें सोएं लेकिन सुबह 5 बजें बिस्तर छोड़ देते हैं। ऐसा करने से उनकी Biological Clock शरीर सुबह जल्दी उठने की अभ्यस्त हो गई हैं। सुबह की ताजी स्वच्छ आक्सीजन उनके शरीर में प्रवेश कर जाती हैं जिससे उन्हें दिनभर की काम करने की ऊर्जा मिलती हैं और दिमाग तरोताजा और मन प्रसन्न रहता हैं। योगासन Narendra Modi Yoga को अपने जीवन का अभिन्न हिस्सा मानते हैं उनका मानना हैं कि सुबह योग करने से उनके जीवन में चमत्कारिक बदलाव आया हैं जब नरेन्द्र मोदी गुजरात के मुख्यमंत्री थे तब भी वह नियमित योग करतें थे। सूर्य नमस्का

Keto Diet Ke Fayde Aur Nuksan | कीटो आहार के फायदे और नुकसान

Keto Diet Ke Fayde Aur Nuksan| कीटो आहार के फायदे और नुकसान बीमारियों की रोकथाम के लिए आजकल सम्पूर्ण विश्व में keto diet का प्रचलन बहुत तेजी से बढ़ रहा हैं। Keto Diet Therapy के नाम से पहचाने जानें वाली यह पद्धति सन् 1920 से लोकप्रिय हुई थी। Keto Diet kya Hoti hai कीटो डाइट में उच्च वसा,मध्यम प्रोटीन और कम कार्बोहाइड्रेट युक्त भोजन दिया जाता हैं। जब शरीर कार्बोहाइड्रेट के स्थान पर अधिक वसायुक्त भोजन ग्रहण करता हैं तो लीवर में कार्बोहाइड्रेट से बनने वाले ग्लूकोज के स्थान पर वसा का पाचन करता हैं जिससे Ketones उत्पन्न होते हैं और Metabolic Rate बढ़कर शरीर वसा को तेजी से पचाने लगता हैं। कीटो डाइट चार्ट में शामिल वसायुक्त भोजन से शरीर को 75 प्रतिशत तक ऊर्जा मिलनी चाहिए,20 प्रतिशत ऊर्जा प्रोटीन से मिलनी चाहिए और 5 प्रतिशत ऊर्जा कार्बोहाइड्रेट से मिलनी चाहिए। कीटो डाइट के फायदे Keto Diet Ke Fayde √ कीटो डाइट मिर्गी के दौरों में बहुत तेजी से आराम दिलाती हैं क्योंकि दिमाग को कार्बोहाइड्रेट और ग्लूकोज के माध्यम से मिलने वाली ऊर्जा वसा से मिलने लगती हैं और इससे मिर्गी के दौरें नियंत्रित हो जातें

Morning Allergy: ये घरेलू उपचार करके आप सुबह की छींक से छुटकारा पा सकते हैं

Morning Allergy: ये घरेलू उपचार करके आप सुबह की छींक से छुटकारा पा सकते हैं हल्दी आयुर्वेद में हल्दी का धुआं सूंघने की प्रक्रिया हर्बल स्मोकिंग कहलाती है। इसमें एक-दो चम्मच हल्दी पाउडर को गर्म तवे पर रखकर इससे निकलने वाले धुआं को सूंघा जाता है। तवे पर एक चम्मच घी गर्म कर के भी हल्दी पाउडर डाला जा सकता है। काली मिर्च चार पांच काली मिर्च और एक चुटकी हल्दी पाउडर को पेपर लीफ यानी काली मिर्च के पत्ते में अच्छी तरह से लपेट लें और इसे हल्का गर्म करें। ब्रश करने के तुरंत बाद इसे चबाएं। बच्चों को इसे न दें क्योंकि इससे मुंह और छाती में जलन हो सकती है। सेहजन के पत्ते  सेहजन के पत्ते और लहसुन को मिलाकर अच्छी तरह से पेस्ट बना लें। इसे कपड़े या रूमाल पर लगाएं और सूंघे। सेहजन उपलब्ध न होने पर तुलसी पत्ता का भी इस्तेमाल किया जा सकता है। सौंफ एंटीऑक्सिडेंट्स होने की वजह से सौंफ का सेवन हर्बल टी के तौर पर किया जा सकता है। इससे एलर्जी के प्रति लड़ने की प्रतिरोधकता विकसित होती है। इसी तरह काली मिर्च का भी सेवन करना * लाभकारी होता है। सौंफ पाचनशक्ति को मजबूत बनाती हैं। मेथी के बीज एक कप पानी में मेथी के द