शनिवार, 25 मई 2019

दिनांक 25 मई 2019 राशिफल

.                ।। 🕉 ।।
    🚩🌞 *सुप्रभातम्* 🌞🚩
📜««« *आज का पञ्चांग* »»»📜
कलियुगाब्द.........................5121
विक्रम संवत्.......................2076
शक संवत्...........................1941
मास..................................ज्येष्ठ
पक्ष....................................कृष्ण
तिथी..................................षष्ठी
प्रातः 06.25 पर्यंत पश्चात सप्तमी
रवि..............................उत्तरायण
सूर्योदय..........प्रातः 05.43.44 पर
सूर्यास्त.........संध्या 07.04.19 पर
चंद्रोदय............रात्रि 12.34.02 पर
चंद्रास्त...........प्रातः 11.09.28 पर
सूर्य राशि.............................वृषभ
चन्द्र रशि............................मकर
नक्षत्र..................................श्रवण
प्रातः 10.06 पर्यंत पश्चात धनिष्ठा
योग..................................ब्रह्मा
प्रातः 10.51 पर्यंत पश्चात इंद्र
करण................................वणिज
प्रातः 06.25 पर्यंत पश्चात विष्टि
ऋतु....................................ग्रीष्म
दिन.................................शनिवार

🇬🇧 *आंग्ल मतानुसार :-*
25 मई सन 2019 ईस्वी ।

☸ शुभ अंक.......................3
🔯 शुभ रंग.......................नीला

👁‍🗨 *राहुकाल :-*
प्रात: 09.05 से 10.44 तक । 

🌞 *उदय लग्न मुहूर्त :-*
*वृषभ*
05:10:59 07:09:16
*मिथुन*
07:09:16 09:22:35
*कर्क*
09:22:35 11:38:23
*सिंह*
11:38:23 13:49:50
*कन्या*
13:49:50 16:00:09
*तुला*
16:00:09 18:14:24
*वृश्चिक*
18:14:24 20:30:12
*धनु*
20:30:12 22:35:30
*मकर*
22:35:30 24:22:21
*कुम्भ*
24:22:21 25:55:40
*मीन*
25:55:40 27:26:36
*मेष*
27:26:36 29:07:02

🚦 *दिशाशूल :-*
पश्चिमदिशा - यदि आवश्यक हो तो जौ का सेवन कर यात्रा प्रारंभ करें। 

✡ *चौघडिया :-*
प्रात: 07.25 से 09.04 तक शुभ
दोप. 12.22 से 02.02 तक चर
दोप. 02.02 से 03.41 तक लाभ
दोप. 03.41 से 05.20 तक अमृत
संध्या 06.59 से 08.20 तक लाभ
रात्रि 09.41 से 11.02 तक शुभ ।

📿 *आज का मंत्र :-*
|| ॐ हं हनुमते नमः ||

📢 *संस्कृत सुभाषितानि -*
अथाहिंसा क्षमा सत्यं ह्रीश्रद्धेन्द्रिय संयमाः ।
दानमिज्या तपो ध्यानं दशकं धर्म साधनम् ॥ 
अर्थात :-
अहिंसा, क्षमा, सत्य, लज्जा, श्रद्धा, इंद्रियसंयम, दान, यज्ञ, तप और ध्यान – ये दस धर्म के साधन है ।

🍃 *आरोग्यं सलाह :-*
*पुरुषों के लिए हेल्थ टिप्स -*

*3. शराब को सीमित करें -*
शराब पीते समय संयम रखना बहुत ही जरूरी है। शराब का सेवन स्वास्थ्य के लिए विनाशकारी है। ज्यादा शराब पीने लीवर और यकृत को नुकसान पहुंचता है। ज्यादा शराब पीने से कई अंगों पर बुरा असर डाल सकता है और 200 से ज्यादा बीमारियां पैदा कर सकता है। 

⚜ *आज का राशिफल :-* 

🐏 *राशि फलादेश मेष :-*
*(चू, चे, चो, ला, ली, लू, ले, लो, आ)*
मित्रों तथा रिश्तेदारों की सहायता करने का अवसर प्राप्त होगा। योजना फलीभूत होगी। कार्य का विस्तार होगा। कार्यसिद्धि से प्रसन्नता रहेगी। प्रेम-प्रसंग में अनुकूलता रहेगी। जल्दबाजी में निर्णय न लें। कारोबार अच्छा चलेगा। नौकरी में प्रभाव बढ़ेगा। 

🐂 *राशि फलादेश वृष :-*
*(ई, ऊ, ए, ओ, वा, वी, वू, वे, वो)*
पूजा-पाठ में मन लगेगा। सत्संग का लाभ प्राप्त होगा। आय में वृद्धि होगी। कानूनी अड़चन दूर होगी। विवाद को तूल न दें। छोटी-मोटी यात्रा हो सकती है। लेन-देन में सावधानी रखें। व्यापार-व्यवसाय मनोनुकूल लाभ देगा।

👫 *राशि फलादेश मिथुन :-*
*(का, की, कू, घ, ङ, छ, के, को, ह)*
क्रोध व उत्तेजना पर नियंत्रण रखें। वाणी में कटु शब्दों के प्रयोग से बचें। चोट व दुर्घटना से शारीरिक हानि हो सकती है। कीमती वस्तुएं संभालकर रखें। समय प्रतिकूल है। व्यापार में मनोनुकूल लाभ होगा। नौकरी में तनाव रहेगा। 

🦀 *राशि फलादेश कर्क :-*
*(ही, हू, हे, हो, डा, डी, डू, डे, डो)*
आय के नए स्रोत प्राप्त हो सकते हैं। राजकीय सहयोग प्राप्त होगा। जीवनसाथी से सहयोग प्राप्त होगा। स्वास्थ्य अच्‍छा रहेगा। उत्साह व प्रसन्नता से कार्य कर पाएंगे। भाग्य का साथ रहेगा। प्रतिद्वंद्वी सक्रिय रहेंगे। प्रमाद न करें। 

🦁 *राशि फलादेश सिंह :-*
*(मा, मी, मू, मे, मो, टा, टी, टू, टे)*
बेरोजगारी दूर करने के प्रयास सफल रहेंगे। समय की अनुकूलता रहेगी। भरपूर प्रयास करें। सफलता प्राप्त होगी। स्थायी संपत्ति के कार्य बड़ा लाभ दे सकते हैं। उन्नति के मार्ग प्रशस्त होंगे। पार्टनरों का सहयोग मिलेगा। 

👩🏻‍🦱 *राशि फलादेश कन्या :-*
*(ढो, पा, पी, पू, ष, ण, ठ, पे, पो)*
बौद्धिक कार्य सफल रहेंगे। परीक्षा व प्रतियोगिता आदि में सफलता प्राप्त होगी। रचनात्मक कार्यों में रुचि रहेगी। नौकरी में नया कार्य कर पाएंगे। कार्य की प्रशंसा होगी। स्वादिष्ट भोजन का आनंद प्राप्त होगा। प्रसन्नता रहेगी। 

⚖ *राशि फलादेश तुला :-*
*(रा, री, रू, रे, रो, ता, ती, तू, ते)*
किसी व्यक्ति विशेष से कहासुनी हो सकती है। स्वास्थ्‍य का पाया कमजोर रह सकता है। भावना में बहकर कोई निर्णय न लें। चिंता तथा तनाव रहेंगे। लाभ के अवसर हाथ से निकल सकते हैं। आय में निश्चितता रहेगी। व्यापार ठीक चलेगा। 

🦂 *राशि फलादेश वृश्चिक :-*
*(तो, ना, नी, नू, ने, नो, या, यी, यू)*
पहले की गई मेहनत का फल मिलेगा। कारोबार में वृद्धि होगी। समाजसेवा करने का अवसर प्राप्त होगा। घर-बाहर पूछ-परख रहेगी। आय में वृद्धि होगी। जल्दबाजी न करें। 

🏹 *राशि फलादेश धनु :-*
*(ये, यो, भा, भी, भू, धा, फा, ढा, भे)*
व्यापार-व्यवसाय अच्‍छा चलेगा। नौकरी में प्रभाव बढ़ेगा। भूले-बिसरे साथियों से मुलाकात होगी। आत्मसम्मान बढ़ेगा। परिवार के साथ समय सुखमय व्यतीत होगा। पार्टनरों से मतभेद दूर होंगे। जोखिम उठाने का साहस कर पाएंगे। लाभ होगा। 

🐊 *राशि फलादेश मकर :-*
*(भो, जा, जी, खी, खू, खे, खो, गा, गी)*
यात्रा लाभदायक रहेगी। रोजगार प्राप्ति के प्रयास सफल रहेंगे। भेंट व उपहार की प्राप्ति होगी। भाग्य की अनुकूलता का लाभ लें। कोई बड़ी समस्या उत्पन्न हो सकती है। बुद्धि का प्रयोग करें। आय में वृद्धि होगी। दूसरों के कार्य में दखल न दें। 

🏺 *राशि फलादेश कुंभ :-*
*(गू, गे, गो, सा, सी, सू, से, सो, दा)*
व्ययवृद्धि होगी। आर्थिक उन्नति के प्रयास असफल रहेंगे। दुष्टजन हानि पहुंचा सकते हैं। लेन-देन में सावधानी रखें। जोखिम व जमानत के कार्य टालें। व्यापार-व्यवसाय ठीक चलेगा। आय में निश्चितता रहेगी। 

🐠 *राशि फलादेश मीन :-*
*(दी, दू, थ, झ, ञ, दे, दो, चा, ची)*
व्यावसायिक यात्रा सफल रहेगी। रुका हुआ धन मिल सकता है। व्यापार-व्यवसाय में उन्नति होगी। स्वास्थ्य अच्‍छा रहेगा। घर-बाहर प्रसन्नता का वातावरण रहेगा। दूसरों के कार्य में हस्तक्षेप न करें। जल्दबाजी न करें। 

☯ *आज का दिन सभी के लिए मंगलमय हो |*

🇮🇳🇮🇳 *भारत माता की जय* 🚩🚩

गुरुवार, 23 मई 2019

आज का राशिफल

.                *।। ॐ  ।।*
    🚩🌞 *सुप्रभातम्* 🌞🚩
📜««« *आज का पंचांग* »»»📜
कलियुगाब्द.......................5121
विक्रम संवत्.....................2076
शक संवत्........................1941
मास................................ज्येष्ठ
पक्ष..................................कृष्ण
तिथी...............................पंचमी
रात्रि 04.19 पर्यंत पश्चात षष्ठी
रवि.............................उत्तरायण
सूर्योदय.........प्रातः 05.43.31 पर
सूर्यास्त........संध्या 07.03.09 पर
चंद्रोदय..........रात्रि 11.09.45 पर
चंद्रास्त.........प्रातः 09.24.29 पर
सूर्य राशि...........................वृषभ
चन्द्र राशि...........................धनु
नक्षत्र.........................उत्तराषाढ़ा
दुसरे दिन प्रातः 07.21 पर्यंत पश्चात श्रवण
योग....................................शुभ
प्रातः 09.41 पर्यंत पश्चात शुक्ल
करण................................कौलव
दोप 03.29 पर्यंत पश्चात तैतिल
ऋतु..................................ग्रीष्म
दिन.................................गुरुवार

🇬🇧 *आंग्ल मतानुसार :-*
23 मई सन 2019 ईस्वी ।

👁‍🗨 *राहुकाल :-*
दोपहर 02.02 से 03.41 तक ।

*उदय लग्न मुहूर्त :-*
*वृषभ*
05:18:50 07:17:08
*मिथुन*
07:17:08 09:30:27
*कर्क*
09:30:27 11:46:15
*सिंह*
11:46:15 13:57:43
*कन्या*
13:57:43 16:08:00
*तुला*
16:08:00 18:22:16
*वृश्चिक*
18:22:16 20:38:04
*धनु*
20:38:04 22:43:22
*मकर*
22:43:22 24:30:14
*कुम्भ*
24:30:14 26:03:32
*मीन*
26:03:32 27:34:28
*मेष*
27:34:28 29:14:55

🚦 *दिशाशूल :-*
*दक्षिणदिशा -*
यदि आवश्यक हो तो दही या जीरा का सेवन कर यात्रा प्रारंभ करें ।

☸ शुभ अंक...................5
🔯 शुभ रंग.................पीला

✡ *चौघडिया :-*
प्रात: 05.46 से 07.25 तक शुभ
प्रात: 10.43 से 12.22 तक चंचल
दोप. 12.22 से 02.01 तक लाभ
दोप. 02.01 से 03.40 तक अमृत
सायं 05.19 से 06.58 तक शुभ
सायं 06.58 से 08.19 तक अमृत
रात्रि 08.19 से 09.40 तक चंचल |

📿 *आज का मंत्र :-*
|| ॐ बृहस्पतये नमः ||

📢 *सुभाषितम् :-*
विलम्बो नैव कर्तव्यः आयुर्याति दिने दिने ।
न करोति यमः क्षान्तिं धर्मस्य त्वरिता गतिः ॥ 
अर्थात :-
विलंब करना ठीक नहि । दिन ब दिन आयुष्य कम होता है । यमराज रुकेंगे नहि, धर्म की (काल की) गति त्वरित है ।

🍃 *आरोग्यं :-*
*पुरुषों के लिए हेल्थ टिप्स -*

*1. व्हाइट फूड्स से बचें पुरुष -*
व्हाइट मैदा, व्हाइट शुगर और अन्य संसाधित खाद्य पदार्थ न केवल विटामिन और खनिजों से रहित हैं, बल्कि उनमें प्राकृतिक फाइबर भी नहीं पाया जाता है। नतीजतन, ये तेजी से ब्लड शुगर के स्तर को बढ़ाते हैं, जो वजन बढ़ाने, मधुमेह और कई अन्य स्वास्थ्य समस्याओं में योगदान देता है।
इसलिए पुरुषों को व्हाइट मैदा, व्हाइट शुगर और स्नैक्स खाद्य पदार्थों से बने ब्रेड और बेक्ड सामान आदि से बचना चाहिए। इसकी बजाय फाइबर से समृद्ध फल, सब्जियां, फलियां और साबूत अनाज खाने पर ध्यान केंद्रित करना चाहिए। 

⚜ *आज का राशिफल :-*

🐏 *राशि फलादेश मेष :-*
*(चू, चे, चो, ला, ली, लू, ले, लो, आ)*
अध्यात्म में रुचि बढ़ेगी। सत्संग का लाभ मिलेगा। राजकीय सहयोग से बाधा दूर होकर लाभ की स्थिति बनेगी। जीवनसाथी का सहयोग प्रसन्नता में वृद्धि करेगा। व्यापार, निवेश, नौकरी व यात्रा मनोनुकूल रहेंगे। प्रमाद न करें। 

🐂 *राशि फलादेश वृष :-*
*(ई, ऊ, ए, ओ, वा, वी, वू, वे, वो)*
आंखों को चोट व रोग से बचाएं। किसी दुर्घटना से धन व तन की आशंका है। लापरवाही न करें। जोखिम व जमानत के कार्य टालें। व्ययवृद्धि होगी। नौकरी में अधिकारी अधिक की अपेक्षा करेंगे।

👫 *राशि फलादेश मिथुन :-*
*(का, की, कू, घ, ङ, छ, के, को, ह)*
जीवनसाथी की तरफ से प्रसन्नता प्राप्त होगी। शत्रुओं की सक्रियता चिंता का कारण बन सकती है। राजकीय सहयोग से कार्यसिद्धि होगी। आय में वृद्धि होगी। आर्थिक स्थिति सुदृढ़ होगी। निवेश शुभ रहेगा। 

🦀 *राशि फलादेश कर्क :-*
*(ही, हू, हे, हो, डा, डी, डू, डे, डो)*
भूमि व भवन इत्यादि की खरीद-फरोख्त लाभदायक रहेगी। रोजगार में वृद्धि होगी। नए साधन प्राप्त होंगे। चिंता तथा तनाव रहेंगे। मित्रों का सहयोग प्राप्त होगा। जीवन में कुछ उतार-चढ़ाव के साथ सफलता मिलेगी। 

🦁 *राशि फलादेश सिंह :-*
*(मा, मी, मू, मे, मो, टा, टी, टू, टे)*
परीक्षा व साक्षात्कार आदि में सफलता प्राप्त होगी। अध्ययन में मन लगेगा। किसी प्रबुद्ध व्यक्ति का मार्गदर्शन मिल सकता है। यात्रा का कार्यक्रम बन सकता है। मनोरंजन के साधन उपलब्ध होंगे। मित्रों का साथ रहेगा। लाभ होगा। 

👩🏻‍🦱 *राशि फलादेश कन्या :-*
*(ढो, पा, पी, पू, ष, ण, ठ, पे, पो)*
स्वास्थ्य का ध्यान रखें। स्वास्थ्‍य पर खर्च हो सकता है। झंझटों से दूर रहें। धन तथा मानहानि हो सकती है। भावना में बहकर कोई निर्णय न लें। शोक समाचार मिल सकता है। धनार्जन होगा।

⚖ *राशि फलादेश तुला :-*
*(रा, री, रू, रे, रो, ता, ती, तू, ते)*
प्रयास सफल रहेंगे। नए काम मिल सकते हैं। कार्य की प्रशंसा होगी। घर-बाहर पूछ-परख रहेगी। धनलाभ के अवसर सहज ही प्राप्त होंगे। जोखिम न लें। घर-बाहर प्रसन्नता का वातावरण रहेगा। 

🦂 *राशि फलादेश वृश्चिक :-*
*(तो, ना, नी, नू, ने, नो, या, यी, यू)*
घर-परिवार में अतिथियों का आगमन हो सकता है। अच्‍छी खबर प्राप्त होगी। प्रसन्नता में वृद्धि होगी। व्यय होगा। कोई बड़ा काम करने का मन बनेगा। धनलाभ होगा। व्यापार, निवेश व नौकरी मनोनुकूल लाभ देंगे। 

🏹 *राशि फलादेश धनु :-*
*(ये, यो, भा, भी, भू, धा, फा, ढा, भे)*
लेन-देन में धोखा खा सकते हैं, लापरवाही न करें। आशंका-कुशंका के चलते कार्यक्षमता प्रभावित होगी। चोट व रोग से बचें। अपने काम पर अधिक ध्यान दें। नौकरी में अधिकारी प्रसन्न रहेंगे। व्यावसायिक यात्रा सफल रहेगी। धनार्जन होगा। 

🐊 *राशि फलादेश मकर :-*
*(भो, जा, जी, खी, खू, खे, खो, गा, गी)*
फालतू खर्च पर नियंत्रण रखें। कोई मुसीबत आ सकती है, धैर्य रखें। बनते काम बिगड़ सकते हैं। विवाद से बचें। समय ठीक नहीं है। जोखिम व जमानत के कार्य टालें। दूसरों के उकसाने में न आएं। व्यवसाय से लाभ होगा। 

🏺 *राशि फलादेश कुंभ :-*
*(गू, गे, गो, सा, सी, सू, से, सो, दा)*
डूबी हुई रकम की प्राप्ति हो सकती है। भाग्य का साथ रहेगा। व्यावसायिक यात्रा मनोनुकूल रहेगी। घर-बाहर सफलता प्राप्त होगी। व्यापारिक संबंध बढ़ेंगे। बुद्धि का प्रयोग करें। व्यापार से लाभ होगा। 

🐠 *राशि फलादेश मीन :-*
*(दी, दू, थ, झ, ञ, दे, दो, चा, ची)*
किसी व्यक्ति विशेष से मार्गदर्शन प्राप्त होगा। कार्यक्षेत्र में सुधार होंगे। लाभ के अवसर हाथ आएंगे। विरोध हो सकता है। नए काम मिलेंगे। व्यापारिक संबंध बनेंगे। घर-बाहर प्रसन्नता रहेगी। 

☯ *आज का दिन सभी के लिए मंगलमय हो ।*

*।। शुभम भवतु ।।*

🇮🇳🇮🇳 *भारत माता की जय*  🚩🚩

शनिवार, 11 मई 2019

आज का राशिफल

.                 ।। 🕉 ।।
    🚩🌞 *सुप्रभातम्* 🌞🚩
📜««« *आज का पञ्चांग* »»»📜
कलियुगाब्द............................5121
विक्रम संवत्...........................2076
शक संवत्..............................1941
मास.....................................बैशाख
पक्ष.......................................शुक्ल
तिथी....................................सप्तमी
संध्या 07.43 पर्यंत पश्चात अष्टमी
रवि...................................उत्तरायण
सूर्योदय...............प्रातः 05.48.02 पर
सूर्यास्त...............संध्या 06.58.31 पर
चंद्रोदय...............प्रातः 11.29.27 पर
चंद्रास्त.................रात्रि 12.12.45 पर
सूर्य राशि....................................मेष
चन्द्र रशि...................................कर्क
नक्षत्र........................................पुष्य
दोप 01.09 पर्यंत पश्चात अश्लेशा
योग...........................................गंड
दोप 01.51 पर्यंत पश्चात वृद्धि
करण.......................................गरज
प्रातः 08.43 पर्यंत पश्चात वणिज
ऋतु.........................................ग्रीष्म
दिन......................................शनिवार

🇬🇧 *आंग्ल मतानुसार :-*
11 मई सन 2019 ईस्वी ।

☸ शुभ अंक..........................2
🔯 शुभ रंग.......................नीला

👁‍🗨 *राहुकाल :-*
प्रात: 09.07 से 10.45 तक । 

*उदय लग्न मुहूर्त :-*
मेष
04:25:35 06:06:01
वृषभ
06:06:01 08:04:18
मिथुन 
08:04:18 10:17:38
कर्क
10:17:38 12:33:25
सिंह
12:33:25 14:44:53
कन्या
14:44:53 16:55:11
तुला
16:55:11 19:09:26
वृश्चिक
19:09:26 21:25:15
धनु
21:25:15 23:30:32
मकर 
23:30:32 25:17:24
कुम्भ
25:17:24 26:50:43
मीन
26:50:43 28:21:39

🚦 *दिशाशूल :-*
पश्चिमदिशा - यदि आवश्यक हो तो जौ का सेवन कर यात्रा प्रारंभ करें। 

✡ *चौघडिया :-*
प्रात: 07.29 से 09.07 तक शुभ
दोप. 12.22 से 02.00 तक चर
दोप. 02.00 से 03.37 तक लाभ
दोप. 03.37 से 05.15 तक अमृत
संध्या 06.53 से 08.15 तक लाभ
रात्रि 09.37 से 11.00 तक शुभ ।

📿 *आज का मंत्र :-*
|| ॐ आंजनेय नमः ||

📢 *संस्कृत सुभाषितानि -*
लावण्यरहितं रुपं विद्यया वर्जितं वपुः ।
जलत्यक्तं सरो भाति नैव धर्मो दयां विना ॥ 
अर्थात :-
लावण्यरहित रुप, विद्यारहित शरीर, जलरहित तालाब शोभा नहि देते । उसी प्रकार दयारहित धर्म भी शोभा नहि देता ।

🍃 *आरोग्यं सलाह :-*
*शरीर की कमजोरी दूर करे -*

*1. दूध -*
शरीर की कमजोरी दूर करने के लिए आप दूध का सेवन कर सकते हैं। दूध का सेवन मसल्स प्रोटीन सिंथेसिस में सुधार के लिए जाना जाता है, और यह मांसपेशियों के स्वास्थ्य में योगदान दे सकता है। दूध पीना सेहत और खास तौर से हड्डिययों के लिए फायदेमंद है। इसके लिए आप रोजाना एक गिलास दूध जरूर पीजिए।

⚜ *आज का राशिफल :-* 

🐏 *राशि फलादेश मेष :-*
*(चू, चे, चो, ला, ली, लू, ले, लो, आ)*
विवाद को बढ़ावा न दें। जहां तक हो सके, यात्रा टालें। चिंता तथा तनाव रहेंगे। शत्रु सक्रिय रहेंगे। दु:खद समाचार मिल सकता है। स्वास्थ्य का पाया कमजोर रहेगा। भागदौड़ रहेगी। अपक्षित कार्य में विलंब हो सकता है। व्यापार ठीक चलेगा। 

🐂 *राशि फलादेश वृष :-*
*(ई, ऊ, ए, ओ, वा, वी, वू, वे, वो)*
समाजसेवा की प्रेरणा प्राप्त होगी। जोखिम उठाने का साहस कर पाएंगे। पहले की गई मेहनत का फल प्राप्त होगा। नौकरी में अधिकारी प्रसन्न रहेंगे। पारिवारिक चिंता बनी रहेगी। आय में वृद्धि होगी। घर-परिवार का सहयोग मिलेगा। 

👫 *राशि फलादेश मिथुन :-*
*(का, की, कू, घ, ङ, छ, के, को, ह)*
भूले-बिसरे साथियों से मुलाकात होगी। उत्साहवर्धक सूचना प्राप्त होगी। जोखिम उठाने का साहस कर पाएंगे। प्रभावशाली व्यक्तियों से संपर्क बन सकता है। लाभ के अवसर हाथ आएंगे। शत्रु सक्रिय रहेंगे। स्वास्थ्य का विशेष ध्यान रखें। 

🦀 *राशि फलादेश कर्क :-*
*(ही, हू, हे, हो, डा, डी, डू, डे, डो)*
किसी लंबी यात्रा का कार्यक्रम बन सकता है। भेंट व उपहार की प्राप्ति होगी। बेरोजगारी दूर करने के प्रयास सफल रहेंगे। समय की अनुकूलता का लाभ लें। भरपूर प्रयास करें। आय में वृद्धि होगी। पार्टनरों से मतभेद दूर होंगे। प्रसन्नता रहेगी। 

🦁 *राशि फलादेश सिंह :-*
*(मा, मी, मू, मे, मो, टा, टी, टू, टे)*
क्रोध व उत्तेजना पर नियंत्रण रखें। कुसंगति से बचें। फालतू खर्च होगा। कर्ज लेना पड़ सकता है। लेन-देन में धोखा खा सकते हैं। नकारात्मकता रहेगी। महत्वपूर्ण निर्णय जल्दबाजी न लें। आय में निश्चितता रहेगी। जोखिम न लें। 

👩🏻‍🦱 *राशि फलादेश कन्या :-*
*(ढो, पा, पी, पू, ष, ण, ठ, पे, पो)*
रुका हुआ पैसा मिल सकता है। समाजसेवा कर पाएंगे। घर-बाहर पूछ-परख रहेगी। व्यावसायिक यात्रा सफल रहेगी। लाभ के अवसर हाथ आएंगे। जल्दबाजी में लेन-देन न करें। चोट व रोग से बचें। घर-बाहर प्रसन्नता रहेगी। 

⚖ *राशि फलादेश तुला :-*
*(रा, री, रू, रे, रो, ता, ती, तू, ते)*
मित्रों तथा रिश्तेदारों का सहयोग कर पाएंगे। सामाजिक प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी। नई योजना बनेगी। तत्काल लाभ नहीं मिलेगा। कार्यप्रणाली में सुधार होगा। रुके कार्यों में गति आएगी। व्यापार-व्यवसाय अच्छा चलेगा। नौकरी में प्रभाव बढ़ेगा।

🦂 *राशि फलादेश वृश्चिक :-*
*(तो, ना, नी, नू, ने, नो, या, यी, यू)*
धर्म-कर्म में रुचि रहेगी। धार्मिक कार्य पर व्यय हो सकता है। कानूनी अड़चन दूर होगी। आशंका-कुशंका के चलते कार्यप्रणाली प्र‍भावित हो सकती है। आवश्यक वस्तुएं गुम हो सकती है। आय में वृद्धि होगी। घर-बाहर प्रसन्नता रहेगी। 

🏹 *राशि फलादेश धनु :-*
*(ये, यो, भा, भी, भू, धा, फा, ढा, भे)*
लेन-देन में जल्दबाजी न करें। कोई पुराना रोग उभर सकता है। चोट व दुर्घटना से शारीरिक हानि हो सकती है। किसी की बातों में न आकर स्वयं विवेक से कार्य करें, लाभ होगा। नौकरी में कार्यभार रहेगा। कारोबार में आय निश्चित होगी। 

🐊 *राशि फलादेश मकर :-*
*(भो, जा, जी, खी, खू, खे, खो, गा, गी)*
कानूनी अड़चन दूर होगी। प्रेम-प्रसंग में अनुकूलता रहेगी। नए मित्र बनेंगे। घर-बाहर प्रसन्नता का वातावरण निर्मित होगी। नौकरी में सहकर्मी साथ देंगे। व्यापार-व्यवसाय में अनुकूलता रहेगी। आय में वृद्धि होगी। दूसरों के कार्य में हस्तक्षेप न करें।

🏺 *राशि फलादेश कुंभ :-*
*(गू, गे, गो, सा, सी, सू, से, सो, दा)*
स्थायी संपत्ति के कार्य बड़ा लाभ दे सकते हैं। पार्टनरों का सहयोग प्राप्त होगा। उन्नति के मार्ग प्रशस्त होंगे। बेरोजगारी दूर करने के प्रयास सफल रहेंगे। लाभ के अवसर हाथ आएंगे। विवाद को बढ़ावा न दें। क्लेश होगा। समय अनुकूल है। 

🐠 *राशि फलादेश मीन :-*
*(दी, दू, थ, झ, ञ, दे, दो, चा, ची)*
बौद्धिक कार्य सफल रहेंगे। नौकरी में कोई नया कार्य कर पाएंगे। संगीत आदि में रुचि रहेगी। यात्रा मनोरंजक रहेगी। अध्ययन-लेखन आदि में प्रसन्नता व उत्साह से कार्य कर पाएंगे। किसी प्रबुद्ध व्यक्ति का मार्गदर्शन प्राप्त हो सकता है। 

☯ *आज का दिन सभी के लिए मंगलमय हो |*

🇮🇳🇮🇳 *भारत माता की जय* 🚩🚩

शुक्रवार, 3 मई 2019

दिनांक 3 मई 2019 का राशिफल

.               ।। *🕉* ।।
    🚩🌞 *सुप्रभातम्* 🌞🚩
📜««« *आज का पंचांग* »»»📜
कलियुगाब्द.......................5121
विक्रम संवत्.....................2076
शक संवत्........................1941
मास...............................बैशाख
पक्ष.................................कृष्ण
तिथी.............................चतुर्दशी
रात्रि 04.03 पर्यंत पश्चात अमावस्या
रवि............................उत्तरायण
सूर्योदय........प्रातः 05.53.21 पर
सूर्यास्त.......संध्या 06.54.33 पर
चंद्रोदय........प्रातः 04.58.20 पर
चंद्रास्त........संध्या 05.33.52 पर
सूर्य राशि.............................मेष
चन्द्र रशि............................मीन
नक्षत्र.................................रेवती
प्रातः 05.38  पर्यंत पश्चात अश्विनी
योग...................................प्रीती
दुसरे दिन प्रातः 04.56 पर्यंत पश्चात आयुष्मान
करण.................................विष्टि
दोप 03.43 पर्यंत पश्चात शकुन
ऋतु..................................ग्रीष्म
दिन...............................शुक्रवार

🇬🇧 *आंग्ल मतानुसार :-*
03 मई सन 2019 ईस्वी ।

☸ शुभ अंक.....................5
🔯 शुभ रंग...............आसमानी

👁‍🗨 *राहुकाल :-*
प्रात: 10.47 से 12.23 तक । 

🚦 *दिशाशूल :-*
पश्चिमदिशा - यदि आवश्यक हो तो जौ का सेवन कर यात्रा प्रारंभ करें। 

*उदय लग्न मुहूर्त -*
मेष 04:57:02 06:37:28
वृषभ 06:37:28 08:35:46
मिथुन 08:35:46 10:49:05
कर्क 10:49:05 13:04:53
सिंह 13:04:53 15:16:20
कन्या 15:16:20 17:26:39
तुला 17:26:39 19:40:54
वृश्चिक 19:40:54 21:56:42
धनु 21:56:42 24:02:00
मकर 24:02:00 25:48:51
कुम्भ 25:48:51 27:22:09
मीन 27:22:09 28:53:06

✡ *चौघडिया :-*
प्रात: 07.32 से 09.09 तक लाभ
प्रात: 09.09 से 10.46 तक अमृत
दोप. 12.23 से 01.59 तक शुभ
सायं 05.13 से 06.49 तक चंचल
रात्रि 09.36 से 10.59 तक लाभ । 

💮 *आज का मंत्र :-*
|| ॐ वानराय नमः ||

📢 *संस्कृत सुभाषितानि -*
दातव्यं भोक्तव्यं सति विभवे सञ्चयो न कर्तव्यः ।
पश्येह मधुकरीणां सञ्चितमर्थं हरन्त्यन्ये ॥ 
अर्थात :-
जब धन हो तब दे देना चाहिए, और न कि उसका संचय करना । देखो ! मधुमक्खी ने इकट्ठा किया हुआ धन दूसरा ले जाता है ।

🍃 *आरोग्यं सलाह :-*
*पीलिया के घरेलू उपचार -*

**अनार के पत्तों को छाया में सुखा लें. सूखे पत्तों को कूट-पीसकर बारीक चूर्ण बना लें. सेहत पर पीलिया के नकारात्मक प्रभाव को रोकने के लिये रोजाना तीन-तीन ग्राम चूर्ण सुबह और शाम मट्ठे के साथ सेवन करने से पीलिया का खात्मा हो जाता है.

**गन्ने के 100 ग्राम रस में 7 से 8 ग्राम आंवले का रस मिला लें. दिन में दो बार इसके सेवन से पीलिया रोग नष्ट हो जाता है.

**पीलिया ग्रस्त बच्चे के गले में गिलोय की लता लपेटने से पीलिया की विभीषिकता कम हो जाती है.

**गन्ने के 100 ग्राम रस में अमलतास के 5 ग्राम पीसे गूदे को मिलाकर पिलाने से पीलिया रोग से मुक्ति मिलती है.

⚜ *आज का राशिफल :-* 

🐏 *राशि फलादेश मेष :-*
*(चू, चे, चो, ला, ली, लू, ले, लो, आ)*
अचानक बड़ा खर्च होगा। यात्रा में जल्दबाजी न करें। किसी अपने ही व्यक्ति से कहासुनी हो सकती है। लेन-देन में धोखा खा सकते हैं। स्वास्थ्य का पाया कमजोर रहेगा। व्यर्थ भागदौड़ से खिन्नता रहेगी। व्यापार-व्यवसाय से आवक बनी रहेगी। 

🐂 *राशि फलादेश वृष :-*
*(ई, ऊ, ए, ओ, वा, वी, वू, वे, वो)*
आवश्यक वस्तु समय पर नहीं मिलेगी। तनाव रहेगा। थकान रह सकती है। रुका हुआ धन प्राप्ति के योग हैं। व्यावसायिक यात्रा मनोनुकूल रहेगी। नए काम मिलेंगे। धन प्राप्ति सुगम होगी। स्वास्थ्य का ध्यान रखें। पारिवारिक चिंता बनी रहेगी। 

👫 *राशि फलादेश मिथुन :-*
*(का, की, कू, घ, ङ, छ, के, को, ह)*
सरकारी कामकाज में वृद्धि के योग हैं। बाधाएं समाप्त होंगी। सामाजिक प्रतिष्ठा बढ़ेगी। नए उपक्रम प्रारंभ हो सकते हैं। नौकरी में प्रभाव बढ़ेगा। पार्टनरों से मतभेद दूर होंगे। जल्दबाजी से बचें। व्यापार-व्यवसाय ठीक चलेगा। 

🦀 *राशि फलादेश कर्क :-*
*(ही, हू, हे, हो, डा, डी, डू, डे, डो)*
नए मित्रों से लाभ होगा। ऐश्वर्य के साधन प्राप्त होंगे। तंत्र-मंत्र में रुचि रहेगी। कानूनी अड़चन दूर होकर स्थिति अनुकूल होगी। धनार्जन होगा। जीवन सुखद व्यतीत होगा। व्यापार-व्यवसाय, निवेश व नौकरी मनोनुकूल लाभ देंगे। 

🦁 *राशि फलादेश सिंह :-*
*(मा, मी, मू, मे, मो, टा, टी, टू, टे)*
आवागमन में विशेष सावधानी रखें। चोट लग सकती है। विवाद से बचें। कार्यक्षमता में कमी रहेगी। भावना में बहकर कोई निर्णय न लें। कीमती वस्तुएं संभालकर रखें। दूसरों के कार्य में हस्तक्षेप न करें। दूसरों की अपेक्षाएं बढ़ेंगी। तनाव रहेगा। 

👩🏻‍🦱 *राशि फलादेश कन्या :-*
*(ढो, पा, पी, पू, ष, ण, ठ, पे, पो)*
जीवनसाथी का सहयोग प्राप्त होगा। व्यापार-व्यवसाय से मनोनुकूल लाभ होगा। कार्य की बाधा दूर होगी। नौकरी में चैन रहेगा। निवेश लाभदायक रहेगा। जोखिम व जमानत के कार्य टालें। घर-बाहर प्रसन्नता का वातावरण निर्मित होगा। 

⚖ *राशि फलादेश तुला :-*
*(रा, री, रू, रे, रो, ता, ती, तू, ते)*
सही बात का भी विरोध हो सकता है। हित शत्रुओं से सावधान रहें। संपत्ति का कोई बड़ा सौदा बड़ा लाभ दे सकता है। प्रयास भरपूर करें। उन्नति के मार्ग प्रशस्त होंगे। दुष्टजनों से दूर रहें। परिवार के किसी व्यक्ति के स्वास्थ्‍य की चिंता रहेगी। 

🦂 *राशि फलादेश वृश्चिक :-*
*(तो, ना, नी, नू, ने, नो, या, यी, यू)*
किसी रचनात्मक कार्य में सफलता प्राप्त होगी। मन में नए विचार आएंगे। स्वादिष्ट भोजन का आनंद प्राप्त होगा। यात्रा मनोरंजक हो सकती है। स्वास्थ्‍य कमजोर रह सकता है। किसी तरह से धनहानि के योग हैं। सावधानी रखें। 

🏹 *राशि फलादेश धनु :-*
*(ये, यो, भा, भी, भू, धा, फा, ढा, भे)*
अपेक्षित कार्यों में विलंब होगा। तनाव व चिंता बने रहेंगे। अप्रसन्नतादायक सूचना प्राप्त हो सकती है। जोखिम व जमानत के कार्य टालें। पुराना रोग बाधा का कारण बन सकता है। वाणी पर नियंत्रण रखें। भागदौड़ रहेगी। धनार्जन होगा। 

🐊 *राशि फलादेश मकर :-*
*(भो, जा, जी, खी, खू, खे, खो, गा, गी)*
प्रयास सफल रहेंगे। सामाजिक कार्य करने की प्रेरणा प्राप्त होगी। घर-बाहर पूछ-परख रहेगी। पारिवारिक सहयोग से कार्य बनेंगे। जीवन सुखद व्यतीत होगा। आय में वृद्धि होगी। नौकरी में प्रभाव बढ़ेगा। थकान रह सकती है। 

🏺 *राशि फलादेश कुंभ :-*
*(गू, गे, गो, सा, सी, सू, से, सो, दा)*
उत्साहवर्धक सूचना प्राप्त होगी। घर-बाहर सभी ओर से सहयोग प्राप्त होगा। भूले-बिसरे साथियों से मुलाकात होगी। आत्मविश्वास बना रहेगा। जोखिम उठाने का साहस कर पाएंगे। कारोबार अच्छा चलेगा। जल्दबाजी न करें। 

🐠 *राशि फलादेश मीन :-*
*(दी, दू, थ, झ, ञ, दे, दो, चा, ची)*
दांपत्य जीवन सुखमय रहेगा। मित्रों के सहयोग से कार्य की बाधा दूर होगी। बेरोजगारी दूर करने के प्रयास सफल रहेंगे। कोई बड़ा कार्य करने की इच्छा पूर्ण हो सकती है। घर-बाहर सभी ओर से सफलता प्राप्त होगी। लाभ होगा। 

☯ *आज का दिन सभी के लिए मंगलमय हो |*

।। 🐚 *शुभम भवतु* 🐚 ।।

🇮🇳🇮🇳 *भारत माता की जय* 🚩🚩

गुरुवार, 11 अप्रैल 2019

आज की भविष्यवाणी

उज्जैन
 महाकाल दर्शन
.               *।। ॐ  ।।*
    🚩🌞 *सुप्रभातम्* 🌞🚩
📜««« *आज का पंचांग* »»»📜
कलियुगाब्द.........................5121
विक्रम संवत्........................2076
शक संवत्...........................1941
मास......................................चैत्र
पक्ष....................................शुक्ल
तिथी....................................षष्ठी
दोप 02.39 पर्यंत पश्चात सप्तमी
रवि................................उत्तरायण
सूर्योदय............प्रातः 06.10.22 पर
सूर्यास्त............संध्या 06.45.10 पर
चंद्रोदय............प्रातः 10.36.41 पर
चंद्रास्त.............रात्रि 12.23.43 पर
सूर्य राशि...............................मीन
चन्द्र राशि............................मिथुन
नक्षत्र...............................मृगशीर्ष
प्रातः 10.21 पर्यंत पश्चात आर्द्रा
योग..................................शोभन
दोप 03.28 पर्यंत पश्चात अतिगण्ड
करण.................................तैतिल
दोप 02.39 पर्यंत पश्चात गरज
ऋतु...................................बसंत
दिन..................................गुरुवार

🇬🇧 *आंग्ल मतानुसार :-*
11 अप्रैल सन 2019 ईस्वी ।

👁‍🗨 *राहुकाल :-*
दोपहर 02.01 से 03.34 तक ।

🌞 *उदय लग्न मुहूर्त :-*
मीन 04:52:36 06:23:32
मेष 06:23:32 08:03:58
वृषभ 08:03:58 10:02:15
मिथुन 10:02:15 12:15:34
कर्क 12:15:34 14:31:23
सिंह 14:31:23 16:42:50
कन्या 16:42:50 18:53:08
तुला 18:53:08 21:07:23
वृश्चिक 21:07:23 23:23:12
धनु 23:23:12 25:28:29
मकर 25:28:29 27:15:21
कुम्भ 27:15:21 28:48:40

🚦 *दिशाशूल :-*
*दक्षिणदिशा -*
यदि आवश्यक हो तो दही या जीरा का सेवन कर यात्रा प्रारंभ करें ।

☸ शुभ अंक....................2
🔯 शुभ रंग.................पीला

✡ *चौघडिया :-*
प्रात: 06.13 से 07.46 तक शुभ
प्रात: 10.53 से 12.27 तक चंचल
दोप. 12.27 से 02.00 तक लाभ
दोप. 02.00 से 03.34 तक अमृत
सायं 05.07 से 06.41 तक शुभ
सायं 06.41 से 08.07 तक अमृत
रात्रि 08.07 से 09.34 तक चंचल |

📿 *आज का मंत्र :-*
|| ॐ ऐं ह्रीं क्लीं कात्यायनायै नम: ||

एतत्ते वदनं सौम्यम् लोचनत्रय भूषितम्। 
पातु नः सर्वभीतिभ्यः कात्यायिनी नमोsस्तुते।।

📢 *सुभाषितम् :-*
देयं भो ह्यधने धनं सुकृतिभिः नो सञ्चितं सर्वदा
श्रीकर्णस्य बलेश्च विक्रमपते रद्यापि कीर्तिः स्थिता ।
आश्चर्यं मधु दानभोगरहितं नष्टं चिरात् सञ्चितम्
निर्वेदादिति पाणिपादयुगलं घर्षन्त्यहो मक्षिकाः ॥
अर्थात :-
निर्धन को धन देना चाहिए क्यों कि सत्पुरुषों ने कदापि उसका संचय नहीं किया, (देखो) श्री कर्ण, बलि और विक्रम की कीर्ति आज तक स्थिर रही है । (दूसरी ओर) आश्चर्य है कि मधुमक्खीयों ने मधु का दीर्घकाल तक केवल संचय ही किया, न तो उसका दान किया और न उपभोग !

🍃 *आरोग्यं :-*
*बेल के औषधीय गुण -*

16. बेल के बीजों के तेल से मालिश करने से वात विकारों को दूर किया जा सकता है। 

17. बेल के फूलों को पीसकर पानी में मिलाकर, छानकर थोड़ा-थोड़ा सेवन करने से उलटी की समस्या से छुटकारा मिलता है। 

18. कच्ची बेल के फल के टुकड़े करके पानी में उबालकर, छानकर उस पानी से कुल्ले व गरारे करने से मुंह के छाले दूर होते हैं। 

19. पित्त की समस्या होने पर रोगी को बेल का मुरब्बा खिलाने से बहुत लाभ होता है।  

20. बेल की जड़ को पानी में उबालकर उसका काढ़ा बना लें। यह काढ़ा उन्माद के रोगियों बहुत लाभ देता है।

⚜ *आज का राशिफल :-*

🐏 *राशि फलादेश मेष :-*
*(चू, चे, चो, ला, ली, लू, ले, लो, आ)*
यात्रा सफल रहेगी। नेत्र पीड़ा हो सकती है। चिंता तथा तनाव रहेंगे। धनहानि भी आशंका है। पहले की गई मेहनत का फल अब मिल सकता है। घर-बाहर पूछ-परख रहेगी। धन प्राप्ति सुगम होगी। सामाजिक कार्यों में रुचि रहेगी। धनार्जन होगा।

🐂 *राशि फलादेश वृष :-*
*(ई, ऊ, ए, ओ, वा, वी, वू, वे, वो)*
सुख के साधनों पर व्यय होगा। किसी मामले की चिंता बनी रहेगी। घर में अतिथियों का आगमन होगा। शुभ समाचार की प्राप्ति होगी। आत्मविश्वास में वृद्धि होगी। लाभ के अवसर हाथ आएंगे। नौकरी में मातहतों का सहयोग मिलेगा।

👫 *राशि फलादेश मिथुन :-*
*(का, की, कू, घ, ङ, छ, के, को, ह)*
किसी भी प्रकार से धनहानि की आशंका है। व्यावसायिक यात्रा सफल रहेगी। अप्रत्याशित लाभ हो सकता है। सट्टे व जुएं से दूर रहें। बेरोजगारी दूर करने के प्रयास सफल रहेंगे। किसी बड़ी समस्या का हल सहज ही हो सकता है। 

🦀 *राशि फलादेश कर्क :-*
*(ही, हू, हे, हो, डा, डी, डू, डे, डो)*
अचानक कोई बड़ा खर्च सामने आ सकता है। चिंता तथा तनाव रहेंगे। कोई पुराना रोग उभर सकता है। जोखिम व जमानत के कार्य टालें। क्रोध व उत्तेजना पर नियंत्रण रखें। कार्य में विलंब हो सकता है। आय बनी रहेगी। 

🦁 *राशि फलादेश सिंह :-*
*(मा, मी, मू, मे, मो, टा, टी, टू, टे)*
बकाया वसूली के प्रयास सफल रहेंगे। व्यावसायिक यात्रा लाभदायक रहेगी। चोट व रोग से बाधा संभव है। नया कार्य मिल सकता है। भाग्य का साथ मिलेगा। पार्टनरों से मतभेद दूर होंगे। कारोबार में वृद्धि के योग हैं। 

👩🏻‍🦱 *राशि फलादेश कन्या :-*
*(ढो, पा, पी, पू, ष, ण, ठ, पे, पो)*
कोई बड़ा कार्य हो सकता है। नई योजना बनेगी। मान-सम्मान मिलेगा। कारोबार अच्छा चलेगा। नौकरी में प्रभाव बढ़ेगा। यात्रा लंबी व सुखद हो सकती है। जल्दबाजी न करें। पारिवारिक सुख-शांति बनी रहेगी। विवाद न करें। 

⚖ *राशि फलादेश तुला :-*
*(रा, री, रू, रे, रो, ता, ती, तू, ते)*
विवेक का प्रयोग करें। लाभ में वृद्धि होगी। कोर्ट-कचहरी के रुके कार्यों में गति आएगी। किसी धार्मिक आयोजन में भाग लेने का अवसर प्राप्त होगा। व्यय होगा। प्रतिद्वंद्विता में कमी होगी। कुसंगति से बचें। व्यापार-व्यवसाय मनोनुकूल चलेगा।

🦂 *राशि फलादेश वृश्चिक :-*
*(तो, ना, नी, नू, ने, नो, या, यी, यू)*
किसी पुरानी व्याधि के उठने की आशंका है। काम में विलंब होगा। वाहन व मशीनरी के प्रयोग में सावधानी रखें। किसी व्यक्ति से बेवजह विवाद हो सकता है। दूसरों पर अतिविश्वास न करें। व्यापार-व्यवसाय ठीक चलेगा। 

🏹 *राशि फलादेश धनु :-*
*(ये, यो, भा, भी, भू, धा, फा, ढा, भे)*
चिड़चिड़ापन रह सकता है। थकान व कमजोरी महसूस करेंगे। किसी व्यक्ति के व्यवहार से स्वाभिमान को चोट पहुंच सकती है। दांपत्य जीवन में मधुरता रहेगी। सरकारी कामकाज में सफलता प्राप्त होगी। प्रतिद्वंद्वी शांत रहेंगे। धनार्जन होगा। 

🐊 *राशि फलादेश मकर :-*
*(भो, जा, जी, खी, खू, खे, खो, गा, गी)*
ऐश्वर्य के साधनों पर व्यय होगा। पैतृक संपत्ति से लाभ की संभावना है। कारोबार मुनाफे में वृद्धि होगी। रोजगार प्राप्ति के प्रयास सफल रहेंगे। किसी बड़ी समस्या की आशंका है। सावधानी रखें। शरीर कष्ट संभव है। 

🏺 *राशि फलादेश कुंभ :-*
*(गू, गे, गो, सा, सी, सू, से, सो, दा)*
व्यर्थ भागदौड़ रहेगी। जल्दबाजी से समस्या बढ़ सकती है। वाणी पर नियंत्रण रखें। कानूनी अड़चन आ सकती है। प्रेम-प्रसंग में अनुकूलता रहेगी। घर में प्रसन्नता रहेगी। विद्यार्थी वर्ग सफलता प्राप्त करेगा। यात्रा मनोरंजक रहेगी। 

🐠 *राशि फलादेश मीन :-*
*(दी, दू, थ, झ, ञ, दे, दो, चा, ची)*
कीमती वस्तुएं संभालकर रखें। पुराना रोग उभर सकता है। किसी भी प्रकार की बहस में हिस्सा न लें। दु:खद समाचार प्राप्ति की आशंका है। भागदौड़ रहेगी। आय में निश्चितता रहेगी। व्यापार-व्यवसाय अच्‍छा चलेगा। 

☯ *आज का दिन सभी के लिए मंगलमय हो ।*

*।। शुभम भवतु ।।*

🇮🇳🇮🇳 *भारत माता की जय*  🚩🚩

बुधवार, 10 अप्रैल 2019

मेष, कुंभ, मकर, मीन राशि वालों के आज के सितारे क्या कहते हैं जानिये यहां

उज्जैन
 जय श्री महाकालेश्वर ज्योतिर्लिंग
.                *।। ॐ  ।।*
    🚩 🌞 *सुप्रभातम्* 🌞🚩
📜 ««« *आज का पंचांग* »»»📜
कलियुगाब्द...........................5121
विक्रम संवत्..........................2076
शक संवत्.............................1941
मास........................................चैत्र
पक्ष......................................शुक्ल
तिथी....................................पंचमी
दोप 03.33 पर्यंत पश्चात षष्ठी
रवि.................................उत्तरायण
सूर्योदय.............प्रातः 06.11.19 पर
सूर्यास्त.............संध्या 06.45.35 पर
सूर्य राशि................................मीन
चन्द्र राशि..............................वृषभ
नक्षत्र.................................रोहिणी
प्रातः 10.30 पर्यंत पश्चात मृगशीर्ष
योग..................................सौभाग्य
संध्या 05.19 पर्यंत पश्चात शोभन
करण..................................बालव
दोप 03.33 पर्यंत पश्चात कौलव
ऋतु.....................................बसंत
दिन...................................बुधवार

📿 *आंग्ल मतानुसार* :-
10 अप्रैल सन 2019 ईस्वी ।

👁‍🗨 *राहुकाल* :-
दोपहर 12.28 से 02.01 तक ।

🌞 *उदय लग्न मुहूर्त :-*
मीन 04:56:31 06:27:28
मेष 06:27:28 08:07:54
वृश्चिक 08:07:54 10:06:11
मिथुन 10:06:11 12:19:31
कर्क 12:19:31 14:35:19
सिंह 14:35:19 16:46:46
कन्या 16:46:46 18:57:04
तुला 18:57:04 21:11:20
वृश्चिक 21:11:20 23:27:08
धनु 23:27:08 25:32:26
मकर 25:32:26 27:19:17
कुम्भ 27:19:17 28:52:36

🚦 *दिशाशूल* :-
उत्तरदिशा - यदि आवश्यक हो तो तिल का सेवन कर यात्रा प्रारंभ करें ।

☸ शुभ अंक........................1
🔯 शुभ रंग..........................हरा

💮 चौघडिया :-
प्रात: 06.14 से 07.47 तक लाभ ।
प्रात: 07.47 से 09.21 तक अमृत ।
प्रात: 10.54 से 12.27 तक शुभ ।
दोप 03.34 से 05.07 तक चंचल ।
सायं 05.07 से 06.40 तक लाभ ।
रात्रि 08.07 से 09.33 तक शुभ ।

📿 *आज का मंत्र* :-
।। ॐ ऐं ह्रीं क्लीं स्कंदमातायै नम: ।।

सौम्या सौम्यतराशेष सौम्येभ्यस्त्वति सुन्दरी। 
परापराणां परमा त्वमेव परमेश्वरी।।

🎙 *सुभाषितम्* :-
न रणे विजयात् शूरोऽध्ययनात् न च पण्डितः
न वक्ता वाक्पटुत्वेन न दाता चार्थ दानतः ।
इन्द्रियाणां जये शूरो धर्मं चरति पण्डितः
हित प्रायोक्तिभिः वक्ता दाता सन्मान दानतः ॥ 
अर्थात :-
रणमैदान में विजय प्राप्त करने से नहीं, बल्कि इंद्रियविजय से इन्सान शूर कहलाता है; अध्ययन से नहीं, बल्कि धर्माचरण से इन्सान पण्डित कहलाता है; वाक्चातुर्य से नहीं, पर हितकारक वाणी से व्यक्ति वक्ता कहलाता है; और (केवल) धन देने से नहीं, बल्कि सम्मान देने से (सम्मानपूर्वक देने से) इन्साना दाता बनता है ।

🍃 *आरोग्यं :*-
🍈 *बेल के औषधीय गुण -*

11. बेल के पत्तों का रस पिलाने से नाक से खून निकलने की समस्या से निजात मिलता है। 

12. बेल की जड़ का काढ़ा पीने से बुखार और श्वास रोग में ह्रदय की धड़कन शांत होती है, रोगी की घबराहट दूर होती है। 

13. पेट में कीडे होने की स्थिति में तीन-चार दिन तक बेल के पत्तों का रस पिलाने से सभी तरह के कीडे दूर होते हैं। 

14. बेल के पत्तों के रस का सेवन करने से पसीने से दुर्गध आने की समस्या दूर होती है। 

15. बच्चों को दस्त होने पर दिन में 3-4 बार बेल का गूदा खिलाने से बहुत लाभ होता है।  

⚜ *आज का राशिफल :-*

🐏 *राशि फलादेश मेष :-*
*(चू, चे, चो, ला, ली, लू, ले, लो, आ)*
भूले-बिसरे साथियों से मुलाकात होगी। उत्साहवर्धक सूचना प्राप्त होगी। व्यय होगा। आत्मसम्मान बना रहेगा। विवाद को बढ़ावा न दें। सफलता मिलेगी। व्यापार-व्यवसाय अच्छा चलेगा। बाहर जाने की इच्छा जागृत होगी। निवेश शुभ रहेगा। धनार्जन होगा। 

🐂 *राशि फलादेश वृष :-*
*(ई, ऊ, ए, ओ, वा, वी, वू, वे, वो)*
भेंट व उपहार की प्राप्ति होगी। यात्रा लाभदायक रहेगी। कोई बड़ी बाधा दूर हो सकती है। कारोबार में वृद्धि होगी। निवेश शुभ रहेगा। घर-बाहर प्रसन्नता का वातावरण रहेगा। व्यस्तता के चलते थकान रह सकती है। जोखिम न लें। 

👫 *राशि फलादेश मिथुन :-*
*(का, की, कू, घ, ङ, छ, के, को, ह)*
फालतू खर्च पर नियंत्रण रखें। कुसंगति से बचें। स्वास्थ्य पर व्यय हो सकता है। महत्वपूर्ण निर्णय लेने में जल्दबाजी न करें। किसी व्यक्ति से बेवजह विवाद हो सकता है। लेन-देन में सावधानी रखें। 

🦀 *राशि फलादेश कर्क :-*
*(ही, हू, हे, हो, डा, डी, डू, डे, डो)*
डूबी हुई रकम प्राप्त हो सकती है। भाग्य अनुकूल है। आय में वृद्धि होगी। यात्रा लाभदायक रहेगी। व्यापार-व्यवसाय अच्छा चलेगा। निवेश शुभ रहेगा। नए कार्य प्रारंभ हो सकते हैं। मान-सम्मान मिलेगा। घर-बाहर प्रसन्नता रहेगी। 

🦁 *राशि फलादेश सिंह :-*
*(मा, मी, मू, मे, मो, टा, टी, टू, टे)*
योजना फलीभूत होगी। कार्यक्षेत्र में सुधार होगा। सभी कार्य समय पर होंगे। नया काम मिल सकता है। समय की अनुकूलता का लाभ लें। भरपूर प्रयास करें। उत्साह व प्रसन्नता से कार्य कर पाएंगे। धनार्जन होगा। 

👩🏻‍🦱 *राशि फलादेश कन्या :-*
*(ढो, पा, पी, पू, ष, ण, ठ, पे, पो)*
राजकीय सहयोग से कार्य बनेंगे। लाभ के अवसर हाथ आएंगे। जोखिम न उठाएं। पारिवारिक चिंता बनी रहेगी। किसी लंबी यात्रा की योजना बन सकती है। धन प्राप्ति सुगम होगी। किसी प्रभावशाली व्यक्ति का सहयोग मिलेगा। 

⚖ *राशि फलादेश तुला :-*
*(रा, री, रू, रे, रो, ता, ती, तू, ते)*
चोट व दुर्घटना से हानि हो सकती है। पुराना रोग उभर सकता है। क्रोध व उत्तेजना पर नियंत्रण रखें। भावना में बहकर कोई भी महत्वपूर्ण निर्णय न लें। व्यापार-व्यवसाय अच्‍छा चलेगा। निवेश में जल्दबाजी न करें। नौकरी में कार्यभार रहेगा। 

🦂 *राशि फलादेश वृश्चिक :-*
*(तो, ना, नी, नू, ने, नो, या, यी, यू)*
राजकीय सहयोग से अटके काम बनेंगे। लाभ के अवसर हाथ आएंगे। प्रेम-प्रसंग में अनुकूलता रहेगी। भेंट व उपहार देना पड़ सकते हैं। छोटी-मोटी यात्रा हो सकती है। घर-बाहर प्रसन्नता रहेगी। नौकरी में मातहतों का सहयोग मिलेगा। 

🏹 *राशि फलादेश धनु :-*
*(ये, यो, भा, भी, भू, धा, फा, ढा, भे)*
रोजगार प्राप्ति के प्रयास सफल रहेंगे। उन्नति के मार्ग प्रशस्त होंगे। सुख के साधन जुटेंगे। स्थायी संपत्ति में वृद्धि के योग हैं। व्यापार-व्यवसाय मनोनुकूल चलेगा। नौकरी में अधिकारी प्रसन्न रहेंगे। घर-बाहर प्रसन्नता बनी रहेगी। प्रमाद न करें। 

🐊 *राशि फलादेश मकर :-*
*(भो, जा, जी, खी, खू, खे, खो, गा, गी)*
परीक्षा व साक्षात्कार आदि में सफलता प्राप्त होगी। पार्टी व पिकनिक का आनंद प्राप्त होगा। रचनात्मक कार्यों में रुचि जागृत होगी। प्रसन्नता व उत्साह से कार्य कर पाएंगे। नौकरी में कोई नया विचार कार्यन्वित करने का अवसर मिलेगा। विवाद से बचें। 

🏺 *राशि फलादेश कुंभ :-*
*(गू, गे, गो, सा, सी, सू, से, सो, दा)*
कोई बुरी खबर प्राप्त हो सकती है। काम में मन नहीं लगेगा। दौड़धूप अधिक रह सकती है। स्वास्थ्य का पाया कमजोर रहेगा। किसी अपने व्यक्ति से कहासुनी हो सकती है। चिंता तथा तनाव रहेंगे। लेन-देन में जल्दबाजी न करें। धनार्जन होगा। 

🐠 *राशि फलादेश मीन :-*
*(दी, दू, थ, झ, ञ, दे, दो, चा, ची)*
प्रयास सफल रहेंगे। जोखिम उठाने का साहस कर पाएंगे। लाभ के अवसर हाथ आएंगे। मित्रों तथा रिश्तेदारों का सहयोग करने का अवसर प्राप्त होगा। पराक्रम व प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी। कारोबार अच्‍छा चलेगा। नौकरी में प्रभाव बढ़ेगा। जल्दबाजी न करें। 

☯ *आज का दिन सभी के लिए मंगलमय हो ।*

।। 🐚 *शुभम भवतु* 🐚 ।।

🇮🇳🇮🇳 *भारत माता की जय* 🚩🚩

मंगलवार, 9 अप्रैल 2019

मंगलवार का राशिफल

.              ।। *ॐ* ।। 
   🚩🌞 *सुप्रभातम्* 🌞🚩
📜««« *आज का पंचांग* »»»📜
कलियुगाब्द.........................5121
विक्रम संवत्........................2076
शक संवत्...........................1941
रवि................................उत्तरायण
मास......................................चैत्र
पक्ष....................................शुक्ल
तिथी..................................चतुर्थी
दोप 04.04 पर्यंत पश्चात पंचमी
सूर्योदय............प्रातः 06.12.24 पर
सूर्यास्त............संध्या 06.45.49 पर
सूर्य राशि...............................मीन
चन्द्र राशि.............................वृषभ
नक्षत्र................................कृत्तिका
प्रातः 10.16 पर्यंत पश्चात रोहिणी
योग...............................आयुष्मान
संध्या 06.52 पर्यंत पश्चात सौभाग्य
करण....................................विष्टि
संध्या 06.04 पर्यंत पश्चात बव
ऋतु.....................................बसंत
दिन.................................मंगलवार

🇬🇧 *आंग्ल मतानुसार :-*  
09 अप्रैल सन 2019 ईस्वी |

☸ शुभ अंक................9
🔯 शुभ रंग.............काला

👁‍🗨 *राहुकाल :-*
दोप 03.34 से 05.07 तक । 

🌞 *उदय लग्न मुहूर्त :-*
मीन 05:00:27 06:31:24
मेष 06:31:24 08:11:50
वृषभ 08:11:50 10:10:07
मिथुन 10:10:07 12:23:26
कर्क 12:23:26 14:39:15
सिंह 14:39:15 16:50:42
कन्या 16:50:42 19:01:00
तुला 19:01:00 21:15:15
वृश्चिक 21:15:15 23:31:04
धनु 23:31:04 25:36:21
मकर 25:36:21 27:23:13
कुम्भ 27:23:13 28:56:32

🚦 *दिशाशूल :-*
उत्तरदिशा - यदि आवश्यक हो तो गुड़ का सेवन कर यात्रा प्रारंभ करें।

✡ *चौघडिया :-*
प्रात: 09.21 से 10.54 तक चंचल
प्रात: 10.54 से 12.27 तक लाभ
दोप. 12.27 से 02.01 तक अमृत
दोप. 03.34 से 05.07 तक शुभ
रात्रि 08.07 से 09.33 तक लाभ । 

📿 *आज का मंत्र :-*
|| ॐ ऐं ह्रीं क्लीं कूष्मांडायै नम: ||

स्तुता सुरैः पूर्वमभीष्टसंश्रयात्तथा सुरेन्द्रेण दिनेषु सेविता।
करोतु सा नः शुभहेतुरीश्वरी शुभानि भद्राण्यभिहन्तु चापदः।।

🎙 *संस्कृत सुभाषितानि :-*
मातापित्रो र्गुरौ मित्रे विनीते चोपकारिणि ।
दीनानाथ विशिष्टेषु दत्तं तत्सफलं भवेत् ॥ 
अर्थात :-
माता-पिता को, गुरु को, मित्र को, संस्कारी लोगों को, उपकार करनेवाले को और खासकर दीन-अनाथ को (या ईश्वर को) जो दिया जाता है, वह सफल होता है ।

🍃 *आरोग्यं :*-
🍈 *बेल के औषधीय गुण -*

6. बेल के पत्तों को सुखाकर जलाने से घरों में मक्खी, मच्छर नहीं आते। 

7. बेल को कांजी में डालकर सेवन करने से आमवात रोग में बहुत फायदा होता है। 

8. बेल के पत्तों के रस का सेवन करने से अम्लपित्त के कारण उत्पन्न गले के विकार दूर होते हैं। 

9. तेज बुखार होने पर बेल का रस सिर पर लगाने से बुखार कम होता है, रोगी को बहुत शांति मिलती है। 

10. शरीर के किसी भाग में सूजन होने पर बेल के पत्तों का रस से लेप करने से सूजन कम होता है।  

⚜ *आज का राशिफल :-*

🐏 *राशि फलादेश मेष :-*
*(चू, चे, चो, ला, ली, लू, ले, लो, आ)*
दूर से शुभ समाचार की प्राप्ति होगी। परिवार में अतिथियों का आगमन होगा। आत्मविश्वास में बढ़ोतरी होगी। वाणी पर संयम रखें। घर-बाहर पूछ-परख रहेगी। लाभ के अवसर हाथ आएंगे। किसी शारीरिक कष्ट की आशंका है। प्रमाद न करें। 

🐂 *राशि फलादेश वृष :-*
*(ई, ऊ, ए, ओ, वा, वी, वू, वे, वो)*
व्यावसायिक लंबी यात्रा का कार्यक्रम बन सकता है। नए काम प्राप्त होंगे। अप्रत्याशित लाभ के योग हैं। लॉटरी-सट्टे से दूर रहें। किसी पुराने अटके काम के होने से उत्साह व प्रसन्नता की वृद्धि होगी। चोट व रोग से बचें। 

👫 *राशि फलादेश मिथुन :-*
*(का, की, कू, घ, ङ, छ, के, को, ह)*
किसी भी प्रकार से धनहानि के योग हैं। लापरवाही न करें। कोई बड़ा खर्च एकाएक सामने आ सकता है। आर्थिक स्थिति बिगड़ सकती है। व्यस्तता के चलते स्वास्थ्य बिगड़ सकता है। कुसंगति से बचें। धनार्जन होगा। 

🦀 *राशि फलादेश कर्क :-*
*(ही, हू, हे, हो, डा, डी, डू, डे, डो)*
पराक्रम व प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी। दूसरे आपकी बात मानेंगे। बकाया वसूली के प्रयास सफल रहेंगे। स्वास्थ्य अच्‍छा रहेगा। चोट लग सकती है। व्यावसायिक यात्रा का कार्यक्रम लाभ देगा। कारोबार अच्‍छा चलेगा। नए काम मिलेंगे।

🦁 *राशि फलादेश सिंह :-*
*(मा, मी, मू, मे, मो, टा, टी, टू, टे)*
किसी अनहोनी की आशंका रह सकती है। आर्थिक उन्नति के लिए नई योजना बनेगी। कार्यप्रणाली में सुधार होगा। नए अनुबंध हो सकते हैं। भाग्य का साथ रहेगा। घर-बाहर प्रसन्नता का वातावरण रहेगा। प्रमाद न करें। 

👩🏻‍🦱 *राशि फलादेश कन्या :-*
*(ढो, पा, पी, पू, ष, ण, ठ, पे, पो)*
जीवनसाथी के स्वास्थ्य की चिंता रह सकती है। यात्रा सफल रहेगी। कोर्ट-कचहरी तथा सरकारी कार्यालयों में अटके काम अनुकूल रहेंगे। पूजा-पाठ में मन लगेगा। धन प्राप्ति सुगम होगी। निवेश में जल्दबाजी न करें। 

⚖ *राशि फलादेश तुला :-*
*(रा, री, रू, रे, रो, ता, ती, तू, ते)*
दुष्टजनों से सावधान रहें। वाहन व मशीनरी इत्यादि के प्रयोग में सावधानी आवश्यक है। शारीरिक हानि की आशंका है। स्वास्थ्य कमजोर रहेगा। बेवजह विवाद हो सकता है। जोखिम उठाने वाले कार्य टालें। व्यापार-व्यवसाय ठीक चलेगा। धैर्य रखें। 

🦂 *राशि फलादेश वृश्चिक :-*
*(तो, ना, नी, नू, ने, नो, या, यी, यू)*
दांपत्य जीवन मधुर रहेगा। कानूनी अड़चन दूर होकर स्थिति लाभदायक बनेगी। उत्साह व प्रसन्नता से कार्य कर पाएंगे। चोट लग सकती है। किसी उलझन में पड़ सकते हैं। धन प्राप्ति सुगम होगी। नौकरी में चैन रहेगा। प्रमाद न करें। 

🏹 *राशि फलादेश धनु :-*
*(ये, यो, भा, भी, भू, धा, फा, ढा, भे)*
ऐश्वर्य के साधनों पर व्यय हो सकता है। प्रतिद्वंद्वी रास्ता छोड़ देंगे। भूमि व भवन संबंधित कार्य बड़ा लाभ दे सकते हैं। बेरोजगारी दूर करने के प्रयास सफल रहेंगे। शेयर मार्केट व म्युचुअल फंड से लाभ होगा। 

🐊 *राशि फलादेश मकर :-*
*(भो, जा, जी, खी, खू, खे, खो, गा, गी)*
व्यस्तता के चलते थकान रह सकती है। विद्यार्थी वर्ग अपने कार्य उत्साह व लगन से कर पाएगा। स्वादिष्ट भोजन का आनंद प्राप्त होगा। छोटी-मोटी मनोरंजक यात्रा हो सकती है। संगीत आदि में रुचि रहेगी। 

🏺 *राशि फलादेश कुंभ :-*
*(गू, गे, गो, सा, सी, सू, से, सो, दा)*
वाणी में हल्के शब्दों के प्रयोग से बचें। प्रेम-प्रसंग में तनाव रह सकता है। समय पर कार्य न होने से क्षोभ उत्पन्न होगा। कोई दु:खद समाचार प्राप्त हो सकता है। भागदौड़ रहेगी। धनहानि के योग हैं, प्रयास करते रहें। 

🐠 *राशि फलादेश मीन :-*
*(दी, दू, थ, झ, ञ, दे, दो, चा, ची)*
लेन-देन में सावधानी रखें। आय में वृद्धि होगी। पहले की गई मेहनत का फल मिलेगा। समाजसेवा करने की इच्‍छा जागृत होगी। मान-सम्मान मिलेगा। कार्य की प्रशंसा होगी। जोखिम उठाने का साहस कर पाएंगे। प्रमाद न करें। 

☯ *आज मंगलवार है अपने नजदीक के मंदिर में संध्या 7 बजे सामूहिक हनुमान चालीसा पाठ में अवश्य सम्मिलित होवें |*

।। 🐚 *शुभम भवतु* 🐚 ।।

🇮🇳🇮🇳 *भारत माता की जय* 🚩🚩

प्रदूषित होती नदिया(River) कही सभ्यताओं के अंत का संकेत तो नही

विश्व की तमाम सभ्यताएँ नदियों के किनारें पल्लवित हुई हैं,चाहे मेसोपोटोमिया हो या हड़प्पा यदि नदिया नही होती तो न ये सभ्यताएँ होती और ना ही...