बुधवार, 24 अक्तूबर 2018

चिन्ताराम की चिंता CHINTARAM KI CHINTA


नेताजी पर चुटकुला
 चिंताराम की चिंता
हमारें गाँव के बगल वाले गाँव में ही रहतें हैं । मिस्टर चिंताराम 😱😱😱 चूंकि हमारे और उनके गाँव की दूरी ज्यादा नहीं हैं,इसलिए चिंताराम जी को जब भी वक़्त मिलता हमारे गाँव की चौपाल पर बैठने आ जाते हैं । 

अब चूंकि चौपाल पर बैठते तो चिंताराम अपने नाम के अनुरूप देश समाज पर अपनी चिंता व्यक्त कर ही देते !
कर ही क्या देते गाँव के बुजुर्ग तो यही कहते हैं कि जब तक चिंताराम किसी मुद्दे पर चिंता व्यक्त नहीं कर दे चिंताराम का गाँव आना और चौपाल पर बैठना सफल ही नहीं होता ।

 आज भी चिंताराम चौपाल 👳पर बैठकर देश के नेताओं के बयानों पर चिंता व्यक्त कर रहे हैं ।

कह रहे थे कैसे - कैसे नेता हैं जी बोलते कुछ और हैं करतें कुछ और !

जब विपक्ष में थे तो पेट्रोल डीजल⛽⛽⛽ की कीमतों को लेकर रोज धरना आंदोलन 💃💃💃करते थे ।

पर अब सत्ता में आ गये और हमनें उन्हें याद दिलाया कि नेताजी आपने तो घोषणा की थी की सरकार बनते ही पेट्रोल डीजल के भाव कम कर देंगे पर हाय राम ! अब ये क्या बात हुई पेट्रोल डीजल के दाम तो अमरबेल की तरह बढ़ते ही जा रहें हैं खेतों में ट्रैक्टर ले जाने से पहले और मोटरसाइकिल से घूमने से पहले  दस बार सोचना पड़ता हैं ?

हमनें भी चिंताराम की चिंता में भागीदारी करतें हुऐ पूछ ही लिया :> अरे ! चिंताराम जी फिर क्या हुआ क्या नेताजी ने कुछ पेट्रोल डीजल की क़ीमत कम करने का आस्वासन दिया या यूं ही चलते आये चौपाल पर

 ,चिंताराम ने फिर कहा :>  अरे चिंताराम की किस्मत में चेन कहां । नेताजी ने डपट कर बोला चिंताराम देश की ज्यादा चिंता मत करो वो काम तुम हम पर ही छोड़ दो तुम जब जब भी चिंता करतें हो हमसे तुम्हरा उत्तर नहीं दिया जात हैं । 

चिंताराम चिल्ला कर बोले > पर उत्तर हम थोड़े ही ना माँग रहे है ई तो देश की जनता जानना चाह रही हैं । नेताजी ने फिर लपकर चिंताराम के साथ चिंतन किया देखो चिंताराम अब ये तुम को पेंशन मिल रही हैं ना इसका खर्चा भी पेट्रोल डीजल पर लगने वाले टैक्स से ही आता हैं इसलिये अब तुम पेट्रोल डीजल की चिंता बंद करो ।


यह भी पढ़े 

●भृष्टाचार के बारें में विस्तृत जानकारी





चिंताराम ने फिर नेताजी को नंगी आँखो से देखा अरे पर आपका वादा जो आपने वोट लेते वक़्त गाँव की चौपाल पर किया था सरकार बनते ही पैट्रोल डीजल के भाव कम कर दूंगा ?

 पर ई तो उल्टा हो रहा हैं । 

नेताजी फिर गर्जे 😠😠😠:>अरे चिंताराम क्या उल्टा  ! 👎👎👎क्या सीधा ! 👍👍👍तुम हमें मत समझाओ ।

 चिंताराम फिर चिंतित होके बोले  > अरे ! पर भगवान राम तो हमें बोल के गये "      
                             "     रघुकुल रीति सदा चली आयी प्राण जाये पर वचन ना जाई "

 अब तो नेताजी को चिंताराम के चिंतन ने चम्मच बना दिया जो दाल को घुमाये बगैर घूम रहा था । नेताजी फिर सम्भलकर बोले >👀👀👀

>देखो !  चिंताराम अभी चुनाव होने में एक माह बाकी हैं इसके पहले हम आपके गाँव आकर उसी चौपाल पर चढ़कर पेट्रोल डीजल के सम्बन्द्ध में  घोषणा करेंगे ?


हमनें भी उचकर चिंताराम जी से पूछा नेता जी कब आ रहें हैं गाँव ? ?चिंताराम ने सीना तानकर सिंह 🦁🦁🦁जैसी आवाज में सुनाया कल!  कल से नेताजी चुनावी चर्चा शुरू करेंगे और वो भी अपने गॉव से ।  चौपाल पर बैठे चंचल लोगों ने चिंताराम के चोड़े सीने को थपथपाया वाह चिंताराम तुम्हारी चिंता ने तो नेताजी को भी झुका दिया ।

दूसरे दिन चिंताराम बड़े जोर शोर से नेताजी के स्वागत के लिये अपने  महीनों की पेंशन को खर्च कर हार फूल मिठाई 💐🌹🍨लाये और नेताजी का स्वागत किया ।

नेताजी मंच पर चढ़ते ही  माइक🎤🎤🎤  की और लपके माइक पकड़ते ही नेताजी ने घोषणा की "" आगामी चुनाव में गांव को हम सुविधाएं  उपलब्ध कराना चाहते हैं हम चाहते हैं कि आपके गाँव के लोग चुनाव में बढ़चढ़कर भागीदारी करें " "

चिंताराम फुसफुसाए🗣🗣🗣 नेताजी वो सुविधाएं तो ससुरी ठीक है !

 पर आप पेट्रोल डीजल का भाव कम करनें वाली घोषणा करने वाले थे ?

नेताजी ने शांत भाव  😌😌😌से कहा :::-  चिंताराम तनिक रुको । 🤚✋🤚✋

हाँ तो में कह रहा था कि गाँव के लोगों को हम सुविधा देंना चाहते हैं और ये सुविधा किसी और के कहने पर नही बल्कि हमारे ईमानदारी और ज़मीनी कार्यकर्ता चिंताराम के कहने पर देना चाह रहे हैं । 

अब तो चिंताराम का सीना गर्व से फूला😎😎😎 नहीं समा रहा था ,उसकी वज़ह से गाँव वालों को एक बड़ी महंगाई से राहत मिलने वाली जो थीं ।

 नेताजी फिर बोले👉 "" अगले चुनाव में गाँव वालों को मतदान केन्द्र🗳🗳🗳 तक आने और वापस घर जाने के लिये हर एक गाँव वाले की मोटर साईकिल और ट्रेक्टर🛵में पूरा पन्द्रह लीटर पेट्रोल और 50 लीटर डीजल देंगें और वो भी बिल्कुल ही मुफ़्त ""

पूरा गाँव नेताजी की इस घोषणा से गदगद होकर नेताजी की जय जयकार करने लगा और हार माला पहनाने लगा पर नेताजी ने कहा की माला आज मैं नहीं चिंताराम को पहनाओ उसी वज़ह से पेट्रोल डीजल की समस्या से ग्रामीणों को मुक्ति मिली हैं ।

लोगों के अभिवादन और गले में टँगे हार फूल के बीच से मुँह निकालकर गदगद चिंतारामजी 😎😎😎 नेताजी के सामने नतमस्तक होकर नेताजी को वोट देने की अपील 🙏🏾🙏🏾🙏🏾कर रहा था । 











शुक्रवार, 19 अक्तूबर 2018

स्वास्थप्रद रोटी और चटनिया

🌳🌳🌳🌳🌳🌳🌳🌳🌳🌳🌳
*स्वास्थप्रद रोटी और चटनिया
🌳🌳🌳🌳🌳🌳🌳🌳🌳🌳🌳

🌱आटा अम्लीय होता है,, मात्र चोकर वाला अंश क्षारीय होता है। । मानवीय स्वास्थ्य के लिए रोटी को प्राकृतिक गुणों से भरपूर बनाने का तरीक़ा यह है कि रोटी बनाने वाले आटे में शाक सब्जियों को पीसकर या उनका रस मिलाकर रोटी बनाएं। । यहां पर कुछ तरीके प्रयोग के तौर पर दिए गए हैं--

*🍀 (1) मूली की रोटी--* मूली को कसकर आटे में मिला दें,, स्वादानुसार सेंधा नमक,, काली मिर्च,, अजवायन,, जीरा,, हल्दी मिलाकर आटा गूंथकर आधे घंटे बाद रोटी बना लें। लाभ-- बवासीर,, कब्ज दूर करता है। । लीवर को बल मिलता है। ।

*🌴(2) बथुआ की रोटी--* बथुआ की पत्तियों को धोकर,, पीसकर आटे में मिलाकर रोटी बनाएं। । स्वादानुसार क्र0 1 के अनुसार खाद्य मसाले डालें। ।
           लाभ-- रक्तवृद्धि,, रक्तशुद्धि,, वात दोश नाशक,, जीवनीशक्ति वर्द्धक। ।

*☘(3) पालक की रोटी--* पालक के पत्ते धोकर पीस लें तथा इसमें नमक,, जीरा,, अजवायन,, सेंधा नमक मिलाकर रोटी बनाएं। ।
        लाभ-- कब्ज निवृत्ति तथा एनीमिया में लाभप्रद। ।

*🌿(4) लौकी की रोटी--* आटे में लौकी का रस मिलाकर उपरोक्त विधि के अनुसार जीरा,, सेंधा नमक मिलाकर आटे को गूंथकर रोटी बनाकर खाएं। ।
          लाभ-- यह रोटी उच्च रक्तचाप,, हृदय रोग से बचाती है। ।
*🌲(5) मेथी की रोटी--* मेथी के पत्तों को धोकर,, पीसकर आटे में गूंथकर रोटी बनाएं। । स्वाद के लिए सेंधा नमक,, जीरा अजवायन,, काली मिर्च मिलाएं।।

        *लाभ-- रक्तशोधक,,* वातरोगनाशक, कब्ज नाशक।।

*🌴(6) एलोवेरा की रोटी--* एलोवेरा के पत्तों को धोकर चाकू से ऊपर का छिलका   हटाकर गूदे को निकाल कर छान लें। । इसमें धनियां,, जीरा,, अजवायन,, सेंधा नमक,, काली मिर्च,, हल्दी मिलाकर आटे को गूंथकर रोटी बनाकर खाएं। ।

         *लाभ-- संधिवात,, गठिया इत्यादि वातरोगों में लाभप्रद। ।* यकृत अमाशय एवं आंतों के रोग से बचाव।। आंतो के कैंसर से बचाव करता है। ।
*🌱(7) आलू की रोटी--* आलू को कद्दू कस करके,, कपड़े मे रखकर दबा कर पानी निचोड़ कर आटे में मिला लें तथा स्वादानुसार नमक,, जीरा,, अजवायन,, धनिया हल्दी मिलाकर रोटी बनाएं। ।

          लाभ-- यह रोटी नेत्रज्योति बढ़ाती है तथा रक्तशोधक है।।

☘घी या तेल के परांठे-- यकृत के लिए हानिकारक होते हैं। । अतः परांठों के स्थान पर उपरोक्तानुसार रोटियां बनाकर खाएं तथा रोटी बनने के बाद घी लगा कर सेवन कर सकते हैं परन्तु हृदय के रोगियों को घी का सेवन नहीं करना चाहिए। ।


यह भी पढ़े 👌👌👌

० होली पर्व स्वास्थ्य का पर्व

० आयुर्वेदिक ओषधि सूचि

० हाइपोसलाइवेशन यानि लार का कम बनना भी एक बीमारी हैं

*🍀प्राकृतिक सात्विक स्वादिष्ट चटनियां खाएं-- भोजन में रुचि जगाने के लिए प्राकृतिक तरीके से चटनी बनाएं। । इनमें स्वाद तो होता ही है सभी पोषक तत्व भी न पकाने की वजह से सुरक्षित रहते हैं जो हमारी सेहत के लिए बेहद लाभदायक होता है। । सभी विटामिन्स एवं खनिज लवणों से युक्त चटनी अपने भोजन में सम्मिलित कर भोजन का स्वाद बढ़ाएं।।*

*🍃अमरूद की चटनी--* 100 ग्राम अमरूद,, 50 ग्राम अनारदाना तथा 1-2 हरी मिर्च,, काला नमक,, सफेद नमक स्वादानुसार मिलाकर पीस लें। । यह चटनी कब्ज निवारक होती है ।।

*🌿पुदीने की चटनी--* पुदीने की पत्तियां 100 ग्राम तथा 50 ग्राम धनिया पत्ती,, 100 ग्राम दही 1-2 हरी मिर्च स्वादानुसार नमक मिलाकर पीस लें। । यह चटनी गैस अपच को दूर करती है। ।

*🌱टमाटर की चटनी--* 100 ग्राम टमाटर 50 ग्राम धनिया पत्ती,, 2 हरी मिर्च,, 20 ग्राम अदरक तथा स्वादानुसार नमक,, जीरा,, भुनी हुई हींग मिलाकर पीस लें। । यह चटपटी चटनी भूख बढ़ाती है। । इससे जठराग्नि तेज होती है। ।
चटनी के लाभ
 टमाटर की चटनी


*🍀नारियल की चटनी--* कच्चा नारियल 100 ग्राम धनिया पत्ती 50 ग्राम 2 हरी मिर्च नमक तथा भुना हुआ जीरा अजवायन स्वादानुसार मिलाकर थोड़ा पानी मिला लें जिससे पीसने में आसानी हो। । यह चटनी स्वाद बढ़ाने के लिए तथा संधिवात में लाभदायक है। ।

*मूंगफली की चटनी--* मूंगफली के दाने 50 ग्राम लेकर 200 ग्राम पानी में 8 घंटे भिगो कर रखें तत्पश्चात उसे 50 ग्राम दही 50 ग्राम धनिया पत्ती 2 हरी मिर्च तथा भुना हुआ जीरा अजवायन हींग के साथ पीस लें। । चटनी तैयार है। ।

*🌴आंवला की चटनी--* 100 ग्राम आंवला  बिना गुठली के,, धनिया पत्ती 100 ग्राम,, अदरक,, हरी मिर्च,, नमक,, जीरा,, अजवायन मिलाकर पीस लें। । यह चटनी विटामिन सी से भरपूर है।। रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाती है। ।
*धनिया
 की चटनी--* धनिया पत्ती 100 ग्राम मुनक्का 20 ग्राम खजूर 20 ग्राम अदरक 10 ग्राम हरी मिर्च काला नमक दही जीरा काली मिर्च अजवायन को स्वादानुसार मिलाकर पीसकर नीबू का रस मिलाकर आंवला उपलब्ध है तो पीसकर मिला दें। । यह चटनी पाचक स्वादिष्ट एवं पित्त नाशक होता है। ।

*🍃पालक की चटनी--* पालक 100 ग्राम, मूली धनिया 50-50 ग्राम,, हरी मिर्च,, अदरक,, गुड़,, काला नमक,, सेंधा नमक तथा आंवला,, अजवायन स्वादानुसार मिलाएं। । चटनी तैयार है। । यह चटनी बहुमूत्र विकार दूर करती है। ।

*☂इमली की चटनी--* 50 ग्राम पकी इमली को गरम पानी में आधा घंटा भिगो कर रखें तत्पश्चात मसलकर छान लें। । इसमें हरी मिर्च,, हींग,, जीरा,, अजवायन, पुदीना,, अदरक एवं गुड़ मिलाकर पीस लें। । यह चटनी पेचिस के रोगियों के लिए लाभप्रद होती है ।।

*किसमिश की चटनी--* 50 ग्राम किसमिस 50 ग्राम अनारदाना छुहारा 50 ग्राम 8 घंटे पानी में भिगो कर रखें।। छुहारे की गुठली निकाल दें। । नारियल 50 ग्राम तथा पुदीना,, धनिया,, काली मिर्च,, हरी मिर्च तथा नमक स्वादानुसार मिलाकर पीस लें थोड़ा सा नीबू का रस मिला दें। । यह चटनी एनीमिया दूर करती है ,, खून बढ़ाती हैं। ।

*🍀तिल की चटनी--* 100 ग्राम तिल 10 ग्राम सौंफ 10 ग्राम मुनक्का 2 अंजीर को 8-10 घंटे पानी में भिगो कर रखें तत्पश्चात नमक हरी मिर्च जीरा अजवायन भुने हुए आदि स्वादानुसार मिलाकर चटनी बनाएं।  यह चटनी लीवर के रोगों में लाभदायक और पौष्टिक है। । हड्डी मजबूत करती है। कैल्सियम की कमी दूर करती है ।।

*🌴खजूर की चटनी--* खजूर 100 ग्राम लौकी 50 ग्राम बंदगोभी 50 ग्राम अमरूद 50 ग्राम (बिना बीज,, गुठली के) अजवायन हरी मिर्च धनिया अदरक नीबू का रस सेंधा नमक स्वादानुसार मिलाकर पीस लें। । यह चटनी कब्ज दूर करती है ,, रक्तचाप संतुलित करती है तथा हीमोग्लोबिन बढ़ाती है। ।

*☘सेब की चटनी--* 100 ग्राम सेब 50 ग्राम पत्ता गोभी 50 ग्राम गाजर 50 ग्राम टमाटर 50 ग्राम खजूर तथा अदरक सेंधा नमक हरी मिर्च तथा जीरा अजवायन भुने हुए आदि स्वादानुसार मिलाकर पीस लें। । यह चटनी हृदय रोग उच्च रक्तचाप के रोगियों के लिए फायदेमंद है। ।

*कच्चे आम की चटनी*-- आम 100 ग्राम धनिया पत्ती 100 ग्राम पुदीना 100 ग्राम अदरक 5 ग्राम हरी मिर्च नमक जीरा अजवायन हींग आदि स्वादानुसार मिलाकर चटनी बनाएं। । गरमी के दिनों में यह लाभप्रद है।।


*🌱कब्ज दूर करने के लिए क्या करें--* हमारे भोजन में रेशे की मात्रा न होने से कब्ज होता है। । इसका सरल उपाय है कि हम भोजन में छिलका युक्त हरी सब्जियों का प्रयोग अवश्य करें। । मैदा चीनी बेसन के व्यंजन तथा फास्ट फूड कब्ज पैदा करते हैं।। सलाद अर्थात जिन सब्जियों को कच्चा खाया जाता है जैसे-- मूली गाजर टमाटर पत्ता गोभी खीरा ककड़ी आदि इन्हें प्राकृतिक रूप से अवश्य खाएं। । इनसे रेशे की पूर्ति होती है। । अनावश्यक गरमी भी बाहर निकलती है। 
🌳🌳🌳🌳🌳🌳🌳🌳🌳🌳🌳



# प्रसिद्ध आयुर्वेदिक दोहे :::


आयुर्वेद दोहे 

१.पानी में गुड डालिए, बीत जाए जब रात!
सुबह छानकर पीजिए, अच्छे हों हालात!!

२.धनिया की पत्ती मसल, बूंद नैन में डार!*
दुखती अँखियां ठीक हों, पल लागे दो-चार!!

३.ऊर्जा मिलती है बहुत, पिएं गुनगुना नीर!*
कब्ज खतम हो पेट की, मिट जाए हर पीर!!

४.प्रातः काल पानी पिएं, घूंट-घूंट कर आप!*
बस दो-तीन गिलास है, हर औषधि का बाप!!

५.ठंडा पानी पियो मत, करता क्रूर प्रहार!*
करे हाजमे का सदा, ये तो बंटाढार!!

६.भोजन करें धरती पर, अल्थी पल्थी मार!*
चबा-चबा कर खाइए, वैद्य न झांकें द्वार!!

७.प्रातः काल फल रस लो, दुपहर लस्सी-छांस!*
सदा रात में दूध पी, सभी रोग का नाश!!

८.प्रातः- दोपहर लीजिये, जब नियमित आहार!* 
तीस मिनट की नींद लो, रोग न आवें द्वार!!

९.भोजन करके रात में, घूमें कदम हजार!*
डाक्टर, ओझा, वैद्य का , लुट जाए व्यापार !!

१०.घूट-घूट पानी पियो, रह तनाव से दूर!*
एसिडिटी, या मोटापा, होवें चकनाचूर!!

११.अर्थराइज या हार्निया, अपेंडिक्स का त्रास!*
पानी पीजै बैठकर, कभी न आवें पास!!

१२.रक्तचाप बढने लगे, तब मत सोचो भाय!*
सौगंध राम की खाइ के, तुरत छोड दो चाय!!

१३.सुबह खाइये कुवंर-सा, दुपहर यथा नरेश!*
भोजन लीजै रात में, जैसे रंक सुजीत!!

१४ देर रात तक जागना, रोगों का जंजाल!*
अपच,आंख के रोग सँग, तन भी रहे निढाल^^

१५.दर्द, घाव, फोडा, चुभन, सूजन, चोट पिराइ!*
बीस मिनट चुंबक धरौ, पिरवा जाइ हेराइ!!

१६.सत्तर रोगों कोे करे, चूना हमसे दूर!*
दूर करे ये बाझपन, सुस्ती अपच हुजूर!!

१७.भोजन करके जोहिए, केवल घंटा डेढ!*
पानी इसके बाद पी, ये औषधि का पेड!!

१८.अलसी, तिल, नारियल, घी सरसों का तेल!*
यही खाइए नहीं तो, हार्ट समझिए फेल!

१९.पहला स्थान सेंधा नमक, पहाड़ी नमक सु जान!*
श्वेत नमक है सागरी, ये है जहर समान!!

२०.अल्यूमिन के पात्र का, करता है जो उपयोग!*
आमंत्रित करता सदा, वह अडतालीस रोग!!

२१.फल या मीठा खाइके, तुरत न पीजै नीर!*
ये सब छोटी आंत में, बनते विषधर तीर!!

२२.चोकर खाने से सदा, बढती तन की शक्ति!*
गेहूँ मोटा पीसिए, दिल में बढे विरक्ति!!

२३.रोज मुलहठी चूसिए, कफ बाहर आ जाय!*
बने सुरीला कंठ भी, सबको लगत सुहाय!!

२४.भोजन करके खाइए, सौंफ, गुड, अजवान!*
पत्थर भी पच जायगा, जानै सकल जहान!!

२५.लौकी का रस पीजिए, चोकर युक्त पिसान!*
तुलसी, गुड, सेंधा नमक, हृदय रोग निदान!

२६.चैत्र माह में नीम की, पत्ती हर दिन खावे !*
ज्वर, डेंगू या मलेरिया, बारह मील भगावे !!

२७.सौ वर्षों तक वह जिए, लेते नाक से सांस!*
अल्पकाल जीवें, करें, मुंह से श्वासोच्छ्वास!!

२८.सितम, गर्म जल से कभी, करिये मत स्नान!*
घट जाता है आत्मबल, नैनन को नुकसान!!

२९.हृदय रोग से आपको, बचना है श्रीमान!*
सुरा, चाय या कोल्ड्रिंक, का मत करिए पान!!

३०.अगर नहावें गरम जल, तन-मन हो कमजोर!*
नयन ज्योति कमजोर हो, शक्ति घटे चहुंओर!!

३१.तुलसी का पत्ता करें, यदि हरदम उपयोग!*
मिट जाते हर उम्र में,तन में सारे रोग।









रविवार, 14 अक्तूबर 2018

औषधियों में विराजमान नवदुर्गा

औषधियों में विराजमान नवदुर्गा

एक मत यह कहता है कि ब्रह्माजी के दुर्गा कवच में वर्णित नवदुर्गा नौ विशिष्ट औषधियों में विराजमान हैं।
◆●◆●◆●◆●◆●◆●
हरड़ त्रिफला का घटक हैं
हरड़
(1) प्रथम शैलपुत्री (हरड़) :
प्रथम माता
 शैलपुत्री
कई प्रकार के रोगों में काम आने वाली औषधि हरड़ हिमावती है जो देवी शैलपुत्री का ही एक रूप है। यह आयुर्वेद की प्रधान औषधि है। यह पथया, हरीतिका, अमृता, हेमवती, कायस्थ, चेतकी और श्रेयसी सात प्रकार की होती है। 


(2) ब्रह्मचारिणी (ब्राह्मी) :
ब्राह्मी उत्तम मस्तिष्क ओषधी हैं
 ब्राह्मी
नवरात्रि के दुसरें दिन माता ब्रम्हचारिणी की उपासना की जाती हैं
 ब्रम्हचारिणी
ब्राह्मी आयु व याददाश्त बढ़ाकर, रक्तविकारों को दूर कर स्वर को मधुर बनाती है। इसलिए इसे सरस्वती भी कहा जाता है।


(3) चंद्रघंटा (चंदुसूर) :
नवरात्रि के तीसरें दिन माता चन्द्रघंटा की उपासना की जाती हैं
 चन्द्रघंटा
यह एक ऎसा पौधा है जो धनिए के समान है। यह औषधि मोटापा दूर करने में लाभप्रद है इसलिए इसे चर्महंती भी कहते हैं। 


(4) कूष्मांडा (पेठा) :
नवरात्रि के चोथे दिन माता कुष्मांडा की आराधना की जाती हैं
 माता कुष्मांडा
इस औषधि से पेठा मिठाई बनती है। इसलिए इस रूप को पेठा कहते हैं। इसे कुम्हड़ा भी कहते हैं जो रक्त विकार दूर कर पेट को साफ करने में सहायक है। मानसिक रोगों में यह अमृत समान है। 


(5) स्कंदमाता (अलसी) : देवी स्कंदमाता औषधि के रूप में अलसी में विद्यमान हैं। यह वात, पित्त व कफ रोगों की नाशक औषधि है। 

(6) कात्यायनी (मोइया) : देवी कात्यायनी को आयुर्वेद में कई नामों से जाना जाता है जैसे अम्बा, अम्बालिका व अम्बिका। इसके अलावा इन्हें मोइया भी कहते हैं। यह औषधि कफ, पित्त व गले के रोगों का नाश करती है।

(7) कालरात्रि (नागदौन) : यह देवी नागदौन औषधि के रूप में जानी जाती हैं। यह सभी प्रकार के रोगों में लाभकारी और मन एवं मस्तिष्क के विकारों को दूर करने वाली औषधि है।

(8) महागौरी (तुलसी) : तुलसी सात प्रकार की होती है सफेद तुलसी, काली तुलसी, मरूता, दवना, कुढेरक, अर्जक और षटपत्र। ये रक्त को साफ कर ह्वदय रोगों का नाश करती है। 

(9) सिद्धिदात्री (शतावरी) : दुर्गा का नौवां रूप सिद्धिदात्री है जिसे नारायणी शतावरी कहते हैं। यह बल, बुद्धि एवं विवेक के लिए उपयोगी है।


यह भी पढ़े 








शनिवार, 6 अक्तूबर 2018

06/10/2018 का पंचांग राशिफल और चोघडिया 06/10/2018 ka panchang rasifal aur choghdiya

.  
उज्जैन
 बाबा महाकाल उज्जैन
                 ।। 🕉 ।।

       🚩🌞 *सुप्रभातम्* 🌞🚩
📜««««« *आज का पंचांग* »»»»»📜
कलियुगाब्द................................5120
विक्रम संवत्...............................2075
शक संवत्..................................1940
मास.........................................अश्विन
पक्ष...........................................कृष्ण
तिथी........................................द्वादशी
दोप 04.40 पर्यंत पश्चात त्रयोदशी
रवि.....................................दक्षिणायन
सूर्योदय..........................06.20.05 पर
सूर्यास्त..........................06.10.54 पर
सूर्य राशि....................................कन्या
चन्द्र राशि....................................सिंह
नक्षत्र..........................................मघा
संध्या 05.06 पर्यंत पश्चात पूर्वाफाल्गुनी
योग............................................शुभ
रात्रि 11.41 पर्यंत पश्चात शुक्ल
करण.........................................तैतिल
दोप 04.40 पर्यंत पश्चत गरज
ऋतु............................................शरद
दिन........................................शनिवार

🇬🇧 *आंग्ल मतानुसार :-*
06 अक्तूबर सन 2018 ईस्वी ।

☸ शुभ अंक......................3
🔯 शुभ रंग...............आसमानी

👁‍🗨 *राहुकाल :-*
प्रात: 09.19 से 10.46 तक । 

🚦 *दिशाशूल :-*
पूर्वदिशा- यदि आवश्यक हो तो उड़द का सेवन कर यात्रा प्रारंभ करें। 

⚜ *चौघडिया :-*
प्रात: 07.50 से 09.18 तक शुभ
दोप. 12.14 से 01.41 तक चंचल
दोप. 01.41 से 03.09 तक लाभ
दोप. 03.09 से 04.37 तक अमृत
सायं 06.05 से 07.37 तक लाभ
रात्रि 09.09 से 10.41 तक शुभ। 

📿 *आज का मंत्र :-*
|| ॐ विष्णुमायेति नमः ||

🎙 *संस्कृत सुभाषितानि :-*
प्राणायामं प्रत्याहारं, नित्यानित्य विवेकविचारम्।
जाप्यसमेत समाधिविधानं, कुर्ववधानं महदवधानम्॥३०॥
अर्थात :-
प्राणायाम, उचित आहार, नित्य इस संसार की अनित्यता का विवेक पूर्वक विचार करो, प्रेम से प्रभु-नाम का जाप करते हुए समाधि में ध्यान दो, बहुत ध्यान दो ॥३०॥

🍃 *आरोग्यं :-*
*बालों के लिए पोषक तत्व -*

*3. बेरीज -*
एंटीऑक्सीलडेंट से भरपूर बेरीज को सुपर फूड्स की गिनती में शामिल किया जाता है। बेरीज में स्ट्रॉ बेरी, जामुन, चेरी, ब्लूम बेरी, बेर जैसे फल है। विटामिन सी से भरपूर, बेरीज फायदेमंद कंपाउंड और कई विटामिन का स्रोत है जो बालों के विकास में वृद्धि कर सकता है। इसमें एंटीऑक्सीडेंट गुण पाए जाते हैं जो हानिकारक अणुओं से होने वाले नुकसान के खिलाफ हेयर फॉलिकल्स की रक्षा में मदद करते हैं, जिन्हें मुक्त कणों के रूप में भी जाना जाता है जो प्राकृतिक रूप से शरीर और पर्यावरण में मौजूद हैं। विटामिन सी शरीर को कोलेजन का उत्पादन करने में भी मदद करता है। कोलेजन एक स्वाभाविक रूप से पाए जाने वाले प्रोटीन का समूह है जो बालों को भंगुर और टूटने से रोकता है।

⚜ *आज का राशिफल :-* 

🐏 *राशि फलादेश मेष :-*
पार्टी व पिकनिक का आनंद मिलेगा। बौद्धिक कार्य सफल रहेंगे। कार्य में आसानी रहेगी। समय आनंद से बीतेगा। लाभ में वृद्धि होगी। प्रतिष्ठित व्यक्तियों से मुलाकात होगी। मार्गदर्शन व सहयोग प्राप्त होगा। दिखावे पर खर्च होगा। अनर्गल आरोप लग सकते हैं। सावधानी आवश्यक है। 

🐂 *राशि फलादेश वृष :-*
चोट व दुर्घटना से हानि संभव है। जल्दबाजी से बचें। भाइयों से विवाद हो सकता है। वाणी पर नियंत्रण रखें। उच्चाधिकारी संतुष्ट नहीं होंगे। विशेष प्रयास करना पड़ेगा। वस्तुएं संभालकर रखें। थकान रहेगी। पुराना रोग उभर सकता है, व्यवसाय लाभदायक रहेगा। 

👫 *राशि फलादेश मिथुन :-*
प्रयास सफल रहेंगे। रुके कार्य बनेंगे। चारों तरफ से प्रशंसा मिलेगी। कार्य के लिए बाहर जाना पड़ सकता है। कार्य में बेहतरी तथा परिवार में खुशी का माहौल रहेगा। विवाद से बचें। स्वाभिमान को ठेस पहुंच सकती है। निवेश शुभ रहेगा। धन प्राप्ति सुगम होगी। 

🦀 *राशि फलादेश कर्क :-*
अतिथियों का आगमन होगा। उन पर व्यय होगा। शुभ समाचार प्राप्त होंगे। परिवार में बेवजह तनाव रह सकता है। वाणी पर नियंत्रण रखें। शत्रुभय रहेगा। चोट व रोग से बचें। आलस्य हावी रहेगा। निवेश शुभ रहेगा। व्यवसाय ठीक चलेगा। जीवनसाथी के स्वास्थ्य की चिंता रह सकती है।

🦁 *राशि फलादेश सिंह :-*
बेरोजगारी दूर होगी। अप्रत्याशित लाभ हो सकता है। व्यावसायिक यात्रा सफल रहेगी। भाग्य का भरपूर साथ मिलेगा। शारीरिक कष्ट संभव है। विवेक का प्रयोग लाभ में वृद्धि करेगा। कोई बड़ी समस्या हल हो सकती है। शत्रु परास्त होंगे। व्यवसाय ठीक चलेगा। प्रसन्नता रहेगी। 

👱🏻‍♀ *राशि फलादेश कन्या :-*
वाणी पर नियंत्रण रखें। यात्रा में सावधानी रखें। वस्तुएं गुम हो सकती हैं। फालतू खर्च होगा। बेवजह परेशानी आ सकती है। काम में मन नहीं लगेगा। आय ठीक रहेगी। पुराना रोग उभर सकता है। विवाद न करें। बेचैनी रहेगी। बाकी सब सामान्य रहेगा। 

⚖ *राशि फलादेश तुला :-*
जीवनसाथी से सहयोग प्राप्त होगा। बकाया वसूली के प्रयास सफल रहेंगे। कामकाज ठीक चलेगा। प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी। आय के नए स्रोत प्राप्त हो सकते हैं। भागदौड़ अधिक होगी। आराम का अवसर नहीं मिलेगा। थकान रहेगी। जोखिम न लें।

🦂  *राशि फलादेश वृश्चिक :-*
नई योजना बनेगी। कार्यप्रणाली में सुधार होगा। नए अनुबंध हो सकते हैं। स्थायी संपत्ति से लाभ के योग हैं। रोजगार में वृद्धि होगी। लेन-देन में सावधानी रखें। विवेक का प्रयोग करें। घर-बाहर प्रसन्नता रहेगी। सामाजिक प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी। जल्दबाजी न करें।

🏹 *राशि फलादेश धनु :-*
भ्रम की स्थिति बन सकती है। चोट व रोग से बाधा संभव है। अध्यात्म में रुचि बढ़ेगी। देव दर्शन हो सकता है। व्यवसाय ठीक चलेगा। राजकीय बाधा दूर होकर लाभ की स्थिति बनेगी। यात्रा मनोनुकूल रहेगी। विरोधी पस्त होंगे। निवेश शुभ रहेगा। जोखिम न लें। 

🐊 *राशि फलादेश मकर :-*
वाहन व मशीनरी के प्रयोग में लापरवाही न करें। दूसरों के व्यवहार में सावधानी रखें। बनते काम बिगड़ सकते हैं। पार्टनरों से मतभेद हो सकता है। कीमती वस्तुएं संभालकर रखें। व्यवसाय ठीक चलेगा। लाभ में कमी हो सकती है। धैर्य रखें। काम में मन नहीं लगेगा।

🏺 *राशि फलादेश कुंभ :-*
कुसंगति से हानि होगी। प्रेम-प्रसंग में अनुकूलता रहेगी। कोर्ट व कचहरी के काम निबटेंगे। आय में वृद्धि होगी। घर-बाहर प्रसन्नता रहेगी। सुख के साधन जुटेंगे। चोट व रोग से बचें। यात्रा मनोरंजक रहेगी। मित्र व संबंधी सहयोग करेंगे। रुके कार्यों में गति आएगी। शुभ समय। 

🐋 *राशि फलादेश मीन :-*
भूमि व भवन के खरीद-फरोख्त की योजना बनेगी। बेरोजगारी दूर करने के प्रयास सफल रहेंगे। परीक्षा व साक्षात्कार आदि में सफलता मिलेगी। कार्य में बेहतरी तथा परिवार में खुशी का माहौल रहेगा। कुछ चिंता तथा तनाव रह सकते हैं। व्यवसाय ठीक चलेगा। 

☯ *आज का दिन सभी के लिए मंगलमय हो |*

।। 🐚 *शुभम भवतु* 🐚 ।।

🇮🇳🇮🇳 *भारत माता की जय* 🚩🚩

बुधवार, 3 अक्तूबर 2018

दिनांक 3/10/2018 का राशिफल पंचांग और चोघडिया dinank 03/10/2018 ka rashifal panchang aur choghdiya

   
Ujjain
 Baba mahakal Ujjain
           *।। ॐ  ।।*

   🚩🌞 *सुप्रभातम्* 🌞🚩
📜««« *आज का पंचांग* »»»📜
कलियुगाब्द........................5120
विक्रम संवत्.......................2075
शक संवत्..........................1940
मास................................आश्विन
पक्ष....................................कृष्ण
तिथी.................................नवमी
रात्रि 12.08 पर्यंत पश्चात दशमी
रवि.............................दक्षिणायन
सूर्योदय..................06.19.22 पर
सूर्यास्त..................06.12.06 पर
सूर्य राशि............................कन्या
चन्द्र राशि...........................मिथुन
नक्षत्र...............................पुनर्वसु
रात्रि 10.19 पर्यंत पश्चात पुष्य
योग...................................परिघ
दोप 12.16 पर्यंत पश्चात शिव
करण................................तैतिल
दोप 01.13 पर्यंत पश्चात गरज
ऋतु....................................वर्षा
दिन.................................बुधवार

🇬🇧 *आंग्ल मतानुसार* :-
03 अक्तूबर सन 2018 ईस्वी ।

👁‍🗨 *राहुकाल* :-
दोपहर 12.15 से 01.43 तक । 

🚦 *दिशाशूल* :-
उत्तरदिशा - यदि आवश्यक हो तो तिल का सेवन कर यात्रा प्रारंभ करें ।

☸ शुभ अंक..............6
🔯 शुभ रंग...............हरा

💮 चौघडिया :-
प्रात: 06.21 से 07.49 तक लाभ ।
प्रात: 07.49 से 09.18 तक अमृत ।
प्रात: 10.46 से 12.14 तक शुभ ।
दोप. 03.11 से 04.39 तक चंचल ।
सायं 04.39 से 06.08 तक लाभ ।
रात्रि 07.39 से 09.11 तक शुभ ।

📿 *आज का मंत्र* :-
।।ॐ शुलीनिम नम: ।।

🎙 *सुभाषितम्* :-
गेयं गीता नाम सहस्रं,
ध्येयं श्रीपति रूपमजस्रम्।
नेयं सज्जन सङ्गे चित्तं,
देयं दीनजनाय च वित्तम्॥२७॥
अर्थात :-
भगवान विष्णु के सहस्त्र नामों को गाते हुए उनके सुन्दर रूप का अनवरत ध्यान करो, सज्जनों के संग में अपने मन को लगाओ और गरीबों की अपने धन से सेवा करो॥२७॥

🍃 *आरोग्यं* :-
*डैंड्रफ का रामबाण इलाज -*

*3. अंडा और नींबू -*
एक छोटे से कटोरे में आप दो सफेद अंडे को डालें और उसमें एक फ्रेस नींबू को निचोड़ें। इसे अच्छी तरह से मिलाने के बाद इस मिश्रण को आप अपने बालों पर अच्छी तरह से लगाएं। आप इसे आधा घंटे के लिए अपने बालों पर लागएं और फिर अपने बालों को नीम के साबुन से धो लें। इससे अंडा स्कैल्प को प्रोटीन प्रदान करेगा और डैंड्रफ को दूर करने में बहुत ही सहायता करेगा, जो बालों के अच्छे स्वास्थ्य के लिए आवश्यक है। दूसरी तरफ विटामिन सी मुक्त कणों के कारण होने वाले ऑक्सीडेटिव तनाव के खिलाफ सुरक्षा प्रदान करेगा। आपको बता दें कि विटामिन सी ब्लड सर्कुलेशन और कोलेजन को बढ़ावा देने में मदद करता है, जो स्कैल्प स्वास्थ्य को बढ़ावा देता है। 

⚜ *आज का राशिफल :-*

🐏 *राशि फलादेश मेष* :- 
रोजगार में वृद्धि होगी। मेहनत का फल भरपूर प्राप्त होगा। पराक्रम व प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी। निवेश, यात्रा व नौकरी मनोनुकूल रहेंगे। मित्र व संबंधी सहयोग करेंगे। विरोधी सक्रिय रहेंगे। धन प्राप्ति सुगम होगी। जोखिम उठाने का साहस कर पाएंगे। प्रसन्नता में वृद्धि होगी। प्रमाद न करें। 

🐂 *राशि फलादेश वृष* :- 
अतिथियों का आगमन होगा। उत्साहवर्धक सूचना प्राप्त होगी। वाणी में हल्के शब्दों के प्रयोग से बचें। आत्मसम्मान में वृद्धि होगी। जोखिम उठाने का साहस कर पाएंगे। निवेश शुभ रहेगा। नौकरी में कुछ प्रतिकूलता रह सकती है। व्यवसाय ठीक चलेगा। घर-बाहर प्रसन्नता रहेगी। 

👫 *राशि फलादेश मिथुन* :- 
व्यावसायिक यात्रा पूर्णत: सफल रहेगी। रोजगार में वृद्धि होगी। आय बढ़ेगी। भेंट व उपहार की प्राप्ति हो सकती है। निवेश शुभ रहेगा। नौकरी में प्रमोशन मिल सकता है। प्रसन्नता रहेगी। दूसरों के झगड़ों में न पड़ें। परिवार के किसी सदस्य की चिंता रहेगी।

🦀 *राशि फलादेश कर्क* :- 
व्ययवृद्धि से तनाव रहेगा। विवाद को बढ़ावा न दें। पुराना रोग उभर सकता है। आवश्यक वस्तु गुम हो सकती है। अपरिचित व्यक्तियों पर अतिविश्वास न करें। जोखिम व जमानत के कार्य टालें। व्यवसाय ठीक चलेगा। उतार-चढ़ाव बना रहेगा। 

🦁 *राशि फलादेश सिंह* :- 
बकाया वसूली के प्रयास सफल रहेंगे। यात्रा से लाभ होगा। उच्चाधिकारी प्रसन्न रहेंगे। उन्नति के मार्ग प्रशस्त होंगे। निवेश शुभ रहेगा। झंझटों में न पड़ें। भाग्य का साथ मिलेगा। प्रमाद से बचें। लाभ में वृद्धि होगी। घर-परिवार में प्रसन्नता रहेगी। 

👱🏻‍♀ *राशि फलादेश कन्या* :- 
आर्थिक नीति में परिवर्तन सफल रहेगा जिसका भविष्य में लाभ मिलेगा। घर-बाहर पूछ-परख रहेगी। स्वास्थ्य का पाया कमजोर रह सकता है। काम में मन लगेगा। जल्दबाजी से बचें। आय में वृद्धि होगी। भाई-बंधुओं का सहयोग प्राप्त होगा। 

⚖ *राशि फलादेश तुला* :- 
तीर्थाटन की योजना बनेगी। तंत्र-मंत्र में रुचि रहेगी। कोर्ट व कचहरी के काम निबटेंगे। उत्तेजना पर नियंत्रण रखें। जोखिम लेने का साहस कर पाएंगे। आय के नए स्रोत प्राप्त हो सकते हैं। उच्चाधिकारी के कोपभाजन बन सकते हैं। सावधान रहें।

🦂 *राशि फलादेश वृश्चिक* :- 
वाहन व मशीनरी के प्रयोग में सावधानी रखें, विशेषकर स्त्रियां। कुसंगति से हानि होगी। दूसरों से अपेक्षा न करें। जल्दबाजी से बाधा संभव है। चिंता तथा तनाव रहेंगे। व्यवसाय ठीक चलेगा। आय-व्यय बराबर रहेगा। अतिविश्वास हानि देगा। 

🏹 *राशि फलादेश धनु* :- 
मित्र व संबंधियों के सहयोग से लाभ होगा। जीवनसाथी से सहयोग प्राप्त होगा। राजकीय काम बनेंगे। प्रसन्नता रहेगी। निवेश शुभ रहेगा। यात्रा मनोरंजक रहेगी। नौकरी में अधिकार बढ़ सकते हैं। प्रसन्नता रहेगी। जोखिम न उठाएं। 

🐊 *राशि फलादेश मकर* :- 
संपत्ति के कार्य लाभ देंगे। बेरोजगारी दूर करने के प्रयास सफल रहेंगे। यात्रा लाभदायक रहेगी। नौकरी में सामंजस्य बैठाएं। निवेश शुभ रहेगा। भ्रम की स्थिति बन सकती है। व्यवसाय ठीक चलेगा। धन प्राप्ति सुगम होगी। अपनों से बिगाड़ न करें। प्रमाद से बचें।

🏺 *राशि फलादेश कुंभ* :- 
रचनात्मक कार्य सफल रहेंगे। परीक्षा व प्रतियोगिता में लाभ की स्थिति निर्मित होगी। पार्टी व पिकनिक का आनंद मिलेगा। नौकरीपेशा विवेक से कार्य करें। लाभ होगा। बड़ों से मार्गदर्शन लें। घर-बाहर प्रसन्नता रहेगी। सामाजिक कार्य में रुचि बढ़ेगी। 

🐋 *राशि फलादेश मीन* :- 
विवाद को बढ़ावा न दें। बुरी खबर मिल सकती है। पुराना रोग उभर सकता है। दूसरों से अपेक्षा दु:ख का कारण बनेगा। जोखिम व जमानत के कार्य टालें। व्यवसाय ठीक चलेगा। लाभ होगा। परिवार के किसी सदस्य की चिंता रहेगी। 

☯ आज का दिन सभी के लिए मंगलमय हो ।

।। 🐚 *शुभम भवतु* 🐚 ।।

🇮🇳🇮🇳 *भारत माता की जय* 🚩🚩

कान्वलेसंट प्लाज्मा थैरेपी क्या हैं ? यह कोरोना वायरस के इलाज में किस प्रकार मददगार हैं what is convalescent plasma therpy in hindi

कान्वलेसंट प्लाज्मा थैरेपी क्या हैं  What is Convalescent plasma therpy in hindi  Convalescent plasma therpy कान्वलेसंट प्लाज्...