25 मई 2018

प्रतियोगी परीक्षाओं में अक्सर पूछे जानें वालें प्रश्न


Genral knowledge for compitative exam
 Madhypradesh gk

Q.भारतीय रिजर्व बैंक का मुख्यालय कहाँ स्थित हैं ?
१.नई दिल्ली
२.कोलकता
३.मुम्बई
४.चैन्नई

Q.2.भारत का प्रथम प्रक्षेपण उपग्रह कोंन सा था ?

१.एप्पल
२.स्पूतनिक
३.कासमास
४.आर्यभट्ट 

Q.3.भारत के राष्ट्रपति निर्वाचित होनें के पूर्व श्री रामनाथ कोविन्द किस राज्य के राज्यपाल थे ?

१.अरूणाचल प्रदेश
२.उत्तर प्रदेश
३.बिहार

● निलम्बन के बारे में रोचक जानकारी

Q.4.माइक्रोसाफ्ट के उस संस्थापक का क्या नाम हैं जो अपनी दानशीलता के कारण प्रसिद्ध हैं ?

१.टीम बर्नर
२.बिल गेट्स
३.बिल वेल्स
४.डेल कार्नेगी

Q.5.रोंहिग्या मुसलमान किस देश के मूल निवासी हैं ?

१.म्यामाँर
२.बांग्लादेश
३.नेपाल
४.इंडोनेशिया

Q.6.रियाल मेड्रिड और बार्सिलोना क्लब किस खेल से संबधित हैं ?

१.क्रिकेट
२.हाँकी
३.गोल्फ
४.फुटबाँल

Q.7.बहुप्रचारित e way बिल किस व्यवस्था से संबधित हैं ?

१.कृषि व्यवस्था
२.GST कर व्यवस्था
३.पर्यटन व्यवस्था
४.विज्ञान व्यवस्था

Q.8.' अभिज्ञानशाकुंतलम् ' किस महान कवि की रचना हैं ?

१.महाकवि कालीदास
२.तुलसीदास
३.रामदास
४.अर्जुन दास

Q.9.भारतीय संविधान के निर्माण में कितना समय लगा था ?

१.3 वर्ष 23 दिन
२.2 वर्ष 11 माह 18 दिन
३.5 वर्ष 4 माह 11 दिन
४.7 वर्ष 7 माह 12 दिन

Q.10.प्रसिद्ध आयुर्वेदाचार्य " चरक " किसके दरबार में निवास करतें थे ?

१.विक्रमादित्य
२.कनिष्क
३.अशोक
४.बिंदुसार

Q.11.दिल्ली की प्रथम महिला सुल्तान का नाम क्या था ?


१.चाँद बीबी
२.नूरजहाँ
३.आलमआरा
४.रजिया सुल्तान

Q.12. म.प्र.में स्थित किस किलें को दक्षिण का प्रवेश द्धार कहा जाता हैं ?

१.माँडू का किला
२.ग्वालियर का किला
३.रायसेन का किला
४.असीरगढ़ का किला

Q.13.भारत का प्रथम स्थापित राष्ट्रीय उघान कोंन सा था ?

१.जिम कार्बेट राष्ट्रीय उघान
२.गिर राष्ट्रीय उघान
३.कांजीरंगा राष्ट्रीय उघान
४.पेंच राष्ट्रीय उघान

Q.14.गाँधी - इरविन समझोतें को कांग्रेस के किस अधिवेशन में मंजूरी मिली थी ?

१.लाहोर अधिवेशन
२.कराची अधिवेशन
३.मुम्बई अधिवेशन
४.दिल्ली अधिवेशन

Q.15.मौलिक अधिकारों और राष्ट्रीय आर्थिक कार्यक्रमों से संबधित प्रस्ताव कांग्रेस के किस अधिवेशन में प्रस्तुत किये गये थे ?

१.नागपुर अधिवेशन
२.लाहोर अधिवेशन
३.कराची अधिवेशन
४.शिमला अधिवेशन

Q.16.भारतीय स्वतंत्रता आंदोंलन के दौरान" The philosophy of The bomb "नामक दस्तावेज किसनें तैयार किया था ?

१.खुदीराम बोस ने
२.भगवतीचरण वोहरा
३.भूलाभाई देसाई
४.सिस्टर निवेदिता

Q.17.सन् 1927 में ब्रूसेल्स में आयोजित साम्राज्यविरोधी बैठक में कांग्रेस का प्रतिनिधित्व किस नेता ने किया था ?

१.जवाहरलाल नेहरू
२.महात्मा गाँधी
३.सुभाष चन्द्र बोस
४.राजेन्द्र प्रसाद

Q.18.'' भारत नौजवान सभा " का संस्थापक महामंत्री कौंन था ?

१.चन्द्रशेखर आजाद
२.रामप्रसाद बिस्मिल
३.खुदीराम बोस
४.भगत सिंह

Q.19.जेल में भूख हड़ताल के कारण किस क्रांतिकारी की मौंत हुई थी ?

१.सचिन्द्रनाथ सान्याल
२.देवीसिंह
३.जतिनदास
४.वीर सावरकर

Q.20.6 अप्रेल 1930 को गाँधी जी द्धारा समुद्र तट से एक मुठ्ठी नमक उठाकर कोंन से आंदोंलन का श्री गणेश किया था ?

१.असहयोग आंदोंलन
२.भारत छोड़ो आंदोंलन
३.सविनय अवज्ञा आंदोंलन
४.नील आंदोंलन

Q.21.किसनें कहा था " जातिप्रथा को समाप्त किये बिना अछूतोद्धार असंभव हैं "

१.पांडूरंग शास्त्री
२.डाँ.भीमराव अम्बेड़कर
३.रमाबाई
४.वीनोबा भावे

Q.22.कांग्रेस समाजवादी पार्टी की स्थापना किसनें की थी ?

१.डाँ.अम्बेड़कर
२.सैफूद्दीन किचलू
३.जय प्रकाश नारायण,नरेन्द्र देव और मीनू मसानी
४.जवाहरलाल नेहरू

Q.23 " समाजवाद क्यों ? " पुस्तक किसनें लिखी थी ?

१.माओत्स तुंग
२.पी.सी.जोशी
३.आचार्य नरेन्द्र देव
४.जयप्रकाश नारायण

Q.24.किस सन् में महात्मा गाँधी ने कांग्रेस पार्टी से इस्तीफा दे दिया था ?

१. सन् 1934 में
२.सन् 1946 में
३.सन् 1922 में
४.सन् 1925 में

Q.25.Discovery of india पुस्तक किसनें लिखी थी ?

१.जवाहरलाल नेहरू ने
२.सुभाषचन्द्र बोस ने
३.महात्मा गाँधी
४.सरोजनी नायडू





                              ● इंग्लैण्ड की क्रांति

                                 ● दीनदयाल उपाध्याय के बारे में विस्तृत जानकारी


Q.26.' अखिल भारतीय किसान सभा 'के संस्थापक अध्यक्ष और संस्थापक महासचिव कोंन थे ?


१.लाला लाजपतराय और जवाहरलाल नेहरू
२.सरदार वल्लभभाई पट़ेल और महात्मा गाँधी
३.स्वामी सहजानंद और एन.जी.रंगा
४.सरोजनी नायडू और एनी बेसेंट़

Q.27.फेड़रेशन आँफ इंड़ियन चेम्बर्स एण्ड़ कामर्स की स्थापना कब हुई थी?

१.सन् 1923 में
२.सन् 1927 में
३.सन् 1946 में
४.सन् 1932 में

Q.28.प्रथम विश्व युद्ध कब से कब तक हुआ था ?
१.सन् 1914 से 1918 तक
२.सन् 1934 से 1935 तक
३.सन् 1945 से 1955 तक
४.सन् 1943 से 1945 तक

Q.29.लीबिया की राजधानी का क्या नाम हैं ?

१.घाट़
२.सेबा
३.त्रिपोली
४.तुबरूक

Q.30.इनमें से किस देश की सीमा लाल सागर से नही मिलती हैं ?

१.सूड़ान
२.इरीट्रीया
३.मिस्र
४.चाड़

Q.31.इनमें से कौंन सा अफ्रीकी देश भू - आवेष्ठित हैं ?

१.दक्षिण अफ्रीका
२.नामीबिया
३.केन्या
४.माली


Q.32.Bay of Biscay किस देश से संबधित हैं

१.अमेरिका
२.पोलेंड़
३.फ्रांस
४.रोमानिया

Q.33.बाल्टिक सागर की सीमा स्पर्श करनें वाले देश कौंन से हैं ?

१.आस्ट्रिया,इटली,हंगरी
२.यूक्रेन,अल्बानिया,बुल्गारिया
३.लिथुआनिया,लाटविया,एस्टोनिया
४.फ्रांस, स्पेन,पुर्तगाल

Q.34.उलूग खान किस मध्यकालीन शासक का नाम था ?

१.बलबन
२.इल्तुतमिश
४.फिरोज तुगलक
४.मोहम्मद बिन तुगलक

Q.35.महाराजा रणजीत सिंह ने अपनी राजधानी किसे बनाया था ?

१.काबुल
२.पेशावर
३.अमृतसर
४.लाहोर

Q.36.'केन्द्रीय फिल्म प्रमाणन बोर्ड़' भारत सरकार के किस मंत्रालय के अन्तर्गत आता हैं ?

१.पर्यटन मंत्रालय

२संस्कृति मंत्रालय
३.सूचना और प्रसारण  मंत्रालय
४.मानव संसाधन मंत्रालय

Q.37.प्रथम भारतीय महिला शतरंज ग्रेंड़ मास्टर कौंन थी ?

१.कोनेरू हम्पी

३.पी.लक्ष्मी
३.एस.मीनाक्षी
४.एस.विजयलक्ष्मी

Q.38.निम्नलिखित किस तत्व से सर्वाधिक यौगिक का निर्माण होता हैं ?

१.हाइड्रोजन
२.कार्बन
३.आक्सीजन
४.नाइट्रोजन

Q.39.हैदराबाद राज्य की स्थापना मुगल साम्राज्य के एक वजीर ने की थी उसका क्या नाम था ?

१.निजाम - उल - मुल्क
२.कुतुबशाह
३.टीपू सुल्तान
४.हैदर अली

Q.40.शीतकाल में कुहरा अधिक होता हैं जब 

१.आकाश में बादल होतें हैं
२.आकाश साफ होता हैं
३.जब हवा चल रही हो
४.जा तूफान आ रहा हो.

Q.41.निम्न में से कोंन सी क्रिया ' केशिका क्रिया ' हैं ?

१.मोटर से कुँये का पानी उलीचना
२.पौधे की जड़ों द्धारा पानी पत्तियों तक पहुँचना
३.पानी गिरना
४.पानी का धूप से सूखना

Q.42.वायुयान ऊपर किस सिद्धांत के अनुसार उठता हैं?

१.आइंस्टीन के सिद्धांत अनुसार
२.न्यूट़न के सिद्धांत अनुसार
३.बरनोली के प्रमेय अनुसार
४.यंग के सिद्धांत अनुसार

Q.43.इंड़ोनेशिया की मुद्रा का क्या नाम हैं ?

१.टका
२.टका
३.पैसा
४.इंड़ोनेशियन रूपिया

Q.44.यदि जल में नमक मिला दिया जायें तो जल का क्वथनांक

१.घटेगा
२.बढ़ेगा
३.अपरिवर्तित रहेगा
४.पहले बढ़ेगा फिर घटेगा

Q.45.संविधान में शिक्षा को रखा गया हैं ?

१.राज्य सूची
२.केन्द्र सूची
३.समवर्ती सूची
४.इनमें से कोई नही

Q.46.सरदार वल्लभ भाई पटेल राष्ट्रीय पुलिस अकादमी कहाँ स्थित हैं ?

१.गुडगाँव
२.नोएड़ा
३.दिल्ली
४.हैदराबाद

Q.47.सामुदायिक विकास कार्यक्रमों में जनता की भागीदारी का सुझाव किसनें दिया था ?

१.अशोक मेहता समिती
२.यंग समिती
३.रजनी समिती
४.बलवंत राय मेहता समिती

Q.48.मनुष्य शरीर में रक्त का कितना प्रतिशत होता हैं ?

१.12%
२.13%
३.10%
४.15%

Q.49.अन्तर्राष्ट्रीय मज़दूर दिवस किस तारीख़ को मनाया जाता हैं?

१.1 मई
२.1 जून
३.3 मई
४.3 जून

Q.50.अमजद अली का सम्बंध किस वाद्य से हैं ?

१.सारंगी
२.सरोद
३.शहनाई
४.तबला

Q.51.राँक गार्ड़न कहाँ स्थित हैं ?

१.चंड़ीगढ़
२.हैदराबाद
३.जयपुर
४.बनारस

Q.52.महात्मा गाँधी की मृत्यु कब हुई थी?

१.30,मार्च 1930
२.30,फरवरी 1930
३.30 जनवरी 1930
४.30,अक्टूबर. 1930

Q.53.भारतीय विज्ञान संस्थान कहाँ स्थित हैं ?

१.बैंगलूरू
२.जयपुर
३.कानपुर
४.लखनऊ

Q.54.भाषा के आधार पर गठित होनें वाले " राज्य पुनर्गठन आयोग " का अध्यक्ष किसे बनाया गया था ?

१.फज़ल अली
२.सिंहदेव
३.प्रकाश गुप्ता
४.मंड़ल 

Q.55.भारत के किस प्रधानमंत्री के कार्यकाल में राज्य पुनर्गठन आयोग की नियुक्ति की गई थी ?

१.राजीव गाँधी
२.इन्दिरा गाँधी
३.मोरारजी देसाई
४.जवाहरलाल नेहरू

Q.56.निम्नलिखित में से किस शहर में इंटीग्रल कोच फेक्टरी स्थित हैं ?

१.अमृतसर
२.कानपुर
३.पेराम्बूर
४.इन्दौर

Q.57.दुग्ध निषेचन हार्मोंन किसे कहा जाता हैं ?

१.थायराक्सिन
२.एण्ड्रोजन
३.इंसुलिन
४.आक्सीटोसीन

Q.58.डल झील किस राज्य में अवस्थित हैं ?

१.उत्तर प्रदेश
२.जम्मू और कश्मीर
३.दिल्ली
४.राजस्थान

Q.59.यदि आप खजुराहों में घूम रहें हो तो आप किस राज्य में हैं ?

१.मध्यप्रदेश
२.उत्तर प्रदेश
३.पंजाब
४.हरियाणा

Q.60.दमिश्क इनमें से किस देश की राजधानी हैं ?

१.स्पेन
२.जापान
३.जिम्बाब्वें
४.सीरिया

Q.61.चींटी काटनें पर दर्द किस कारण होता हैं ?

१.तेज काटनें से
२.विष के कारण
३.फार्मिक अम्ल के कारण
४.एसिटिक एसिड़ के कारण

Q.62.होलकरों ने म.प्र.के किस भाग पर शासन किया था ?

१.ग्वालियर पर
२.इन्दौर पर
३.भोपाल पर
४.छतरपुर पर

Q.63.रणनितिक धातु कौंन सी हैं ?

१.तांबा
२.सोना
३.टाइटेनियम
४.जस्ता

Q.64.जलपुरूष के नाम से कौंन जाना जाता हैं?

१.महेन्द्र सिंह
२.लोकेन्द्र सिंह
३.नागार्जुन सिंह
४.राजेन्द्र सिंह

Q.65.' उस्ताद अलाउद्दीन खाँ ' संगीत समारोह म.प्र.के किस जिलें में आयोजित होता हैं ?

१.इन्दौर
२.शाजापुर
३.मैहर ( सतना)
४.ग्वालियर

Q.66.पे्ट्रोलियम उत्पाद आयात करनें के मामलें में भारत दुनिया के शीर्ष आयातक राष्ट्रों में शामिल हैं क्या आप बता सकतें हैं ? दुनिया के पेट्रोलियम आयातक राष्ट्रों में भारत का कौंन सा क्रम हैं ?

१.प्रथम
२.द्धितीय
३.तीसरा
४.चौथा

Q.67.वास्कोडिगामा ने किस बँदरगाह पर पहली बार कदम रख यूरोप और भारत के मध्य समुद्री मार्ग की खोज की थी ?

१.तूतिकोरन ( तमिलनाडु)
२.कालीकट ( केरल)
३.विशाखापट्टनम् ( आंध्रप्रदेश)
४.सूरत ( गुजरात)

Q.68.आधुनिक पनडुब्बी का आविष्कारक कौंन था ?

१.जान फिलीप
२.एन्ड्रयू फिलीप
३.जान हिल्टन
४.जान 

Q.69.भारत में पहली बार अनुच्छेद 356 का प्रयोग कब व किसकी सरकार के विरूद्ध कर उसे बर्खास्त किया गया था ?

१.13 जुलाई 1955,वीरसिंह देव सरकार के विरूद्ध
२.31 जुलाई 1959,नंबूदरीपाद सरकार के विरूद्ध
३.23 अगस्त 1983,अर्जुन सिंह सरकार के विरूद्ध
४.9 जनवरी 1977,ज्योति बसु सरकार


Q.70.भारत का 29 वाँ राज्य निम्न में से कौंन हैं ?

१.तेलंगाना
२.गोवा
३.उत्तराचंल
४.छत्तीसगढ़

Q.71."" गगन नारंग "" किस खेल के प्रतिष्ठित खिलाड़ी हैं ?

१.एथलेटिक्स
२.क्रिकेट
३.फुटबाल
४.शूटिंग


Q.72." पोकरण" एक जगह हैं जहाँ परमाणु परीक्षण किये जातें हैं यह जगह किस राज्य में हैं ?

१.कर्नाटक
२.तमिलनाडु
३.आन्ध्रप्रदेश
४.राजस्थान

Q.73.आक्सफोर्ड़ विश्वविधालय किस देश का प्रतिष्ठित विश्वविधालय हैं ?

१.अमेरिका
२.ब्रिटेन
३.कनाड़ा
४.चीन

Q.74." स्माइलिंग बुद्धा " किस आपरेशन का गुप्त नाम था ?

१.कारगिल युद्ध में चलाये गये आपरेशन का
२.चीन के विरूद्ध लडें गये युद्ध का
३.भारत द्धारा किये गये पहले परमाणु परीक्षण का
४.चुनाव में अापराधिक व्यक्तियों को दूर करनें हेतू

Q.75.भारत ने अपना पहला परमाणु परीक्षण किस तारीख़ को किया था ?

१.18,मई 1974 को
२.23 मई 1976 को
३.31 मार्च 1973 को
४.20 अप्रेल 1973 को

Q.76.यूरोप की सर्वोच्च पर्वत चोंटी का क्या नाम हैं ?

१.माउँट किलिमंजारो
२.माउँट स्सली
३.माऊँट एलबुर्ज
४.माऊँट एल्पस

Q.77.स्वतंत्रता समर के दौरान क्रांतिवीरों को सेल्यूलर जेल में बंद कर दिया जाता था ,बताईयें ये सेल्यूलर जेल कहाँ स्थित हैं ?

१.चैन्नई
२.पुडुचेरी
३.लक्ष्यद्धीप
४.अंडमान और निकोबार द्धीपसमूह

Q.78.' दलविहीन प्रजातंत्र ' का सुझाव किसनें दिया था ?

१.आचार्य रामनारायण नें
२.जयप्रकाश नारायण नें
३.जयप्रकाश शास्त्री नें
४.महात्मा गाँधी नें


Q.79.भारत रत्न प्राप्त करनें वालें प्रथम विदेशी कौंन थें ?

१.खान अब्दुल गफ्फार खान
२.नेल्सन मंडेला
३.मदर टेरेसा
४.श्रीमाओ भंडारनायके

Q.80.डलहोजी पर्वतीय नगर किस राज्य में स्थित हैं ?

१.सिक्किम
२.उत्तर प्रदेश
३.मणिपुर
४.हिमाचल प्रदेश

Q.81.निर्वाचन आयोग एक

१.सांवेधानिक संस्था हैं
२.अर्द्ध साँवेधानिक संस्था हैं
३.योजनात्तर संस्था हैं
४.सामान्य संस्था हैं

Q.82.होम्योपैथी चिकित्सा विधा के जनक कौंन थे ?

१.सेम्यूल हेनीमन
२.न्यूटन
३.आइजेक 
४.कोल्ट

Q.83.बाल गंगाधर तिलक को ' भारतीय अशांति का जनक ' किसनें कहा था ?

१.लार्ड कर्जन
२.लार्ड लिनलिथगो
३.काइली
४.वेलेंटाइन शिरोल

Q.84.अमृतलाल बेगड़ एक प्रसिद्ध पर्यावरणविद हैं उनका विशेष योगदान किस क्षेत्र में हैं ?

१.बाघ संरक्षण
२.नदी संरक्षण
३.गिद्द संरक्षण
४.मोती संरक्षण


Q.85.तेनालीराम किसके दरबार में रहतें थे ?

१.अकबर
२.कृष्णदेव राय
३.शाहजंहा
४.राणा प्रताप

Q.86.PVC का पूरा नाम क्या हैं ?

१.पालिस्टर वाल क्लीयर
२.पाली विनाइल क्लोराइड़
३.पार्सन वोलोटाइल क्लोराइड़
४.परपल वान क्लोस

Q.87.सुनील क्षेत्री किस खेल के खिलाड़ी हैं ?

१.हाँकी
२.शतरंज
३.जूड़ो
४.फुटबाल

Q.88.दीपा कर्माकर किस खेल से संबधित हैं ?

१.टेबल टेनिस
२.जिम्नास्टिक
३.फुटबाल
४.क्रिकेट

Q.89.म.प्र.में 'आटो टेस्टिंग ट्रेक' कहाँ स्थापित किया गया हैं ?

१.मंडीदीप ( भोपाल )
२.मनेरी ( मंड़ला )
३.पीथमपुर ( धार )
४.मालनपुर ( भिंड़)

Q.90.ब्लादिमीर पुतीन किस देश के लोकप्रिय राजनेता हैं ?

१.रूस
२.कनाड़ा
३.चीन
४.लीबिया

Q.91.किम - जोंग - ऊन किस देश के राष्ट्राध्यक्ष हैं ?

१.दक्षिण कोरिया
२.जापान
३.ताइवान
४.उत्तर कोरिया


Q.92.एवरेस्ट पर चढ़नें वाली विश्व की प्रथम महिला कौंन थी ?

१.सुषमा व्यास ( भारत )
२.एंटोनिया मारिया ( इटली )
३.जिंको ताइबी ( जापान)
४.ताँग शी ( चीन )

Q.93.विश्व प्रसिद्ध महाकाल मंदिर किस प्रदेश में स्थित हैं ?

१.महोबा ( उत्तर प्रदेश )
२.उज्जैन ( मध्यप्रदेश)
३.नासिक ( महाराष्ट्र )
४.औंकारेश्वर ( म.प्र )

Q.94.हीरा किसका अपररूप हैं ?

१.जस्ता
२.ताँबा
३.प्लेटिनम
४.कार्बन

Q.95.केन्द्रीय आयुर्वैद संस्थान कहाँ स्थित हैं ?

१.कानपुर
२.राजपुर
३.जयपुर
४.उज्जैन


Q.96.सेबी ( SEBI ) का पूरा नाम क्या हैं ?

१.Service election board of india
२.security exchange board of india
३.Supervision exchange board of india
४.similar exchange board of india

Q.97.त्वचा का काला रंग किस वर्णक की उपस्थिति के कारण होता हैं ?

१.केरोटिन
२.नाइसिन
३.बिलुरूबिन
४.मेलेनिन

Q.98.एवरेस्ट पर चढ़नें वाली प्रथम भारतीय महिला कौंन  थी ?

१.कुमारी सविता
२.गीता फोगट
३.बछेन्द्री पाल
४.सोनम चौहान

Q.99. स्वतंत्रता समर के किस क्रांतिकारी को जनता प्यार से " मास्टर दा " कहती थी ?

१.मगनराम ओस्तवाल
२.सूर्य सेन
३.एस.एस.बंगाली
४.अरविंद घोष

Q.100.डाँ.भीमराव अम्बेड़कर का जन्म किस जगह पर हुआ था ?

१.अमरोहा ( उत्तर प्रदेश )
२.मुम्बई ( महाराष्ट्र )
३.महू ( मध्यप्रदेश )
४.इन्दौर ( मध्यप्रदेश )

Q.101.आनलाइन कंपनी  Flipcart के संस्थापक निम्न में सें कौंन थे ?

१.मुकेश अंबानी
२.हरीश गोयल
३.आदि गोदरेज
४.सचिन बंसल और बिन्नी बंसल

Q.102." बंदी जीवन " किस क्रांतिकारी की पुस्तक हैं ?

१.एनी बेसेंट
२.शचीन्द्रनाथ सान्याल
३.सुभाषचन्द्र बोस
४.सरोजनी नायडू

Q.103.उ.प्र.में किसान सभा का गठन किसके सद्प्रयासों का नतीजा था ?

१.जयकर और प्रसाद
२.राठौड़ बंधु
३.मदनमोहन मालवीय और इंन्द्रनारायण द्धिवेदी
४.चापेकर बंधु

Q.104.भारत छोड़ों आंदोंलन के दोंरान ' कांग्रेस रेड़ियों ' कोंन चला रहा था ?

१.उषा मेहता
२.सुचेता कृपलानी
३.राजकुमारी अमृतकोर
४.मीना मसानी

Q.105.द्धितीय विश्व युद्ध का आरंभ किस तिथी को हुआ था ?

१.30 सितम्बर,1939 
२.7 सितम्बर,1940
३.9 सितम्बर, 1933
४.3 सितम्बर, 1939

Q.106.GNP का पूर्ण नाम बताइयें ?

१.Grant net product
२.Grass net principal
३.Grass netional product
४.Grass net production

Q.107.मेकेनिकल केलक्यूलेटर का निर्माण किसनें किया था ?

१.राबर्ट 
२.ब्लेज पास्कल
३.एलन मस्क
४.चार्ल्स बेवेज

Q.108.एलन मस्क ने किस कंपनी की स्थापना की हैं ?

१.फोर्ड
२.टाटा
३.महिन्द्रा
४.टेस्ला

Q.109.एशियाटिक सोसायटी आँफ बंगाल की स्थापना कब हुई थी ?

१.सन् 1784 ई.में
२.सन् 1765 ई.में
३.सन् 1546 ई.में
४.सन् 1333 ई.में

Q.110.अन्तर्राष्ट्रीय रेड़क्रास संगठन की स्थापना किसनें की थी ?

१.एड़म स्लोवास्की
२.मेड़म कामा
३.जे.एच.ड्यूनेंट
४.पाइथोगोरस

Q.111."The art of happiness " कृति के रचयिता कौंन था ?

१.एड़म स्मिथ
२.टेसी थामस
३.जेसी क्रिस्टोफर
४.दलाई लामा

Q.112."अन्तर्राष्ट्रीय श्रम संगठन " का मुख्यालय कहाँ हैं ?

१.न्ययार्क
२.मुम्बई
३.जेनेवा
४.लंदन

Q.113.अन्तर्राष्ट्रीय मजदूर दिवस किस तारीख को मनाया जाता हैं ?

१.1,मई 
२.3,मई
३.9,जून
४.7,जून

Q.114.कोटोपेक्सी नामक ज्वालामुखी किस देश में स्थित हैं ?

१.भारत
२.इंड़ोनेशिया
३.थाईलेंड़
४.इक्वाडोर

Q.115.सेल्वास घास किस महाद्धीप में पाई जाती हैं ?

१.दक्षिण अमेरिका
२.दक्षिण अफ्रीका
३.जापान
४.चीन




8 मई 2018

म.प्र.युवा स्वरोजगार योजना और मुख्यमंत्री कौशल संवर्धन योजना

भारत में बेरोजगारी की दर पूरें विश्व में सबसे ज्यादा हैं.जहाँ एक बड़ी युवा आबादी काम करनें की उम्र की होनें के बावजूद उन्हें काम नही मिल पा रहा हैं.

बेरोजगारी की यही स्थिति भारत के प्रदेशों की हैं.म.प्र.इस मामलें में अछूता नही हैं,प्रदेश में बेरोजगारी की इस भयावहता से छूटकारा दिलानें तथा युवाओं को कौशलपूर्ण प्रशिक्षण उपलब्ध करानें के लियें म.प्र.शासन नें  म.प्र.युवा स्वरोजगार योजना तथा मुख्यमंत्री कौशल संवर्धन योजना शुरू की हैं.





# म.प्र.युवा स्वरोजगार योजना





म.प्र.के युवाओं को स्वरोजगार की ओर आकर्षित करनें के उद्देश्य से यह योजना शुरू की गई हैं.इस योजना के माध्यम से युवाओं को स्वरोजगार शुरू करनें हेतू बैंकों से रियायती दर पर ऋण उपलब्ध कराना.
रोजगार योजना
 स्वरोजगार योजना

# म.प्र.युवा स्वरोजगार योजना के उद्देश्य



• म.प्र.के बेरोजगार युवाओं को अपना स्वंय का रोजगार उपलब्ध कराना.


• युवा रोजगार प्राप्त करनें की अपेक्षा रोजगार देनें वाला बन सकें.



# पात्रता




• आवेदक को म.प्र.का मूल निवासी होना अनिवार्य हैं.




• आवेदनकर्ता रोजगार कार्यालय में पंजीकृत हो यानि वह बेरोजगार हो.




• आवेदनकर्ता की उम्र 18 से 39 वर्ष के बीच होना आवश्यक हैं.



• योजना का लाभ प्राप्त करनें वाला व्यक्ति किसी भी बैंक का डिफाल्टर नहीं होना चाहियें.




• योजना का लाभ प्राप्त करनें वाला व्यक्ति पहले से इस तरह की अन्य योजना का लाभार्थी नही होना चाहियें.



# आवेदन कहाँ करें 






संबधित जिलें के जिला व्यापार एँव उधोग केन्द्र में आवेदन समस्त दस्तावेजों के साथ दो प्रतियों में




# योजना की विशेषता





• इस योजना में प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम के तहत उधोग इकाई हेतू अधिकतम 25 लाख रूपये तथा सेवा इकाई हेतू अधिकतम 10 लाख रूपये का ऋण उपलब्ध कराया जाता हैं.




• इस योजना में ऋण पर अनुदान उपलब्ध कराया जाता हैं जो सामान्य वर्ग के आवेदकों को कुल लागत का 15% हैं.तथा अनूसूचित जाति जनजाति और पिछड़ा वर्ग के लिये कुल लागत का 30% होता हैं.




# लाभ प्राप्त करनें हेतू आवश्यक दस्तावेज़





• जन्मतिथी का प्रमाण पत्र



• म.प्र.का मूल निवासी प्रमाण पत्र



• आधार कार्ड़



• मतदाता परिचय पत्र




• शैक्षणिक योग्यता संबधी प्रमाण पत्र



• भूमि ,भवन यदि किराये पर हो तो किरायानामा



• मशीनरी /उपकरण/साज - सज्जा हेतू वर्तमान दरों के कोटेशन ( यदि लागू हो तो )



• जाति संबधी प्रमाण- पत्र (यदि लागू हो तो )




• यदि उधमिता प्रशिक्षण प्राप्त हो तो उसका प्रमाण पत्र




• यदि गरीबी रेखा से निचें जीवन यापन करतें हैं,तो राशन कार्ड 





# मुख्यमंत्री कौशल संवर्धन योजना





प्रदेश में औधोगिक ज़रूरतों के मुताबिक प्रशिक्षित कामगारों की पूर्ति प्रदेश के ही मानव संसाधन से करनें हेतू यह योजना शुरू की गई हैं.




# योजना का उद्देश्य





• परंपरागत आई.टी.आई द्धारा पूर्ति नही की जा सकनें वालें प्रशिक्षण कार्यक्रम संचालित करना.



• गुणवत्तापूर्ण प्रशिक्षण द्धारा रोजगार के अवसर में वृद्धि लाना.



• राष्ट्रीय मानको के अनुरूप प्रशिक्षण प्रदान करना.


# प्रशिक्षण के लिये पात्रता





• औपचारिक शिक्षा को छोड़ चुकें युवा



• ऐसे युवा जो अपने अनौपचारिक कौशल का प्रमाणीकरण चाहतें हो.



• ऐसे युवा जो अपना कौशल विकसित कर स्वरोजगार में नियोजित होना चाहतें हैं.




• महिलायें और वंचित समूह जो कौशल प्राप्त करना चाहतें हो.



• विमुक्त,घुमक्कड़ और अर्ध घुमक्कड़ वर्ग के युवा



• नक्सलवाद क्षेत्रों के युवा.




# प्रशिक्षण के क्षेत्र


• परिधान



• ग्रह सज्जा


• कृषि



• प्लम्बर



• आटोमोबाइल



• लकडी का काम



• तकनीकी क्षेत्र


• निर्माण क्षेत्र


• घरेलू काम


• बिजली से संबधित काम



• हार्डवेयर से संबधित क्षेत्र



• खाद्य प्रशिक्षण


• रिटेल



• आईटी


• सुरक्षा



• टेलीकाँम



• टूरिज्म और हास्पिटेलिटी



• वित्त


# योजना की समीक्षा 





म.प्र.सरकार द्धारा शुरू दोनों योजनाएँ सैद्धांतिक रूप में ठीक हैं किंतु व्याहवारिक रूप से खामियों से भरी हुई हैं जैसें




• बैंक से कर्ज लेना युवाओं के लिये मैराथन दोड़ जैसा हैं क्योंकि बैंक आसानी से युवाओं को ऋण प्रदान नही करती .




• मुख्यमंत्री युवा स्वरोजगार योजना में ऋण प्राप्त करनें वालें युवाओं का प्रतिशत बेरोजगार युवाओं के मुकाबलें बहुत कम हैं.हम कह सकतें हैं कि योजना ' ऊँट के मुँह में जीरें ' के समान साबित हो रही हैं.




• मुख्यमंत्री कौशल संवर्धन योजना में प्रशिक्षण प्राप्त करनें वालें युवाओं को नियोजित करनें की समुचित व्यवस्था नही हैं.




• कौशल संवर्धन योजना में ट्रेनिंग प्रदान करनें वालें ट्रेनिंग केन्द्रों का विकेन्द्रण छोटे कस्बों तक नही हुआ हैं.




• स्वरोजगार योजना में भ्रष्टाचार बहुत बड़ी समस्या हैं प्रत्येक काम का रेट तय हैं जो ऋण प्राप्तकर्ता को देना पड़ता हैं.यहाँ तक की बैंक अधिकारीयों को रिश्वत देनें के बाद ही ऋण राशि मिलती हैं.




यदि इन दोंनों योजनाओं का महत्व प्रदेश के विकास के दृष्टिकोण से देखे तो कहा जा सकता हैं कि ये योजनाएँ युवाओं को बेहतर भविष्य प्रदान कर सकती हैं बशर्तें 




#१. योजना का क्रियान्वयन बेहतर हो



#२.प्रशिक्षण के उपरांत नियोजन की बेहतर व्यवस्था हो.


#३.भ्रष्टाचार कम हो



#४.वास्तविक लाभार्थीयों तक योजना का लाभ पहुँचें.



#५.बैंकों से बेरोजगार युवाओं को ऋण देनें की प्रक्रिया सरलीकृत होना चाहियें.








6 मई 2018

लाडली लक्ष्मी योजना # LADLI LAXMI YOJNA

#1.लाड़ली लक्ष्मी योजना क्या हैं ?


लाड़ली लक्ष्मी मध्यप्रदेश शासन द्धारा बालिकाओं की स्थिति में सकारात्मक परिवर्तन लानें के लियें सन् 2006 में शुरू की गई एक महत्वपूर्ण योजना हैं.

#2. योजना के उद्देश्य


• बालिकाओं के जन्म के प्रति समाज में सकारात्मक धारणा बनाना.

• बालिकाओं की जन्म दर में सुधार लाना.

• बालिकाओं की शैक्षिक और आर्थिक स्थिति में सुधार लाकर उन्हें समाज में पहचान दिलाना.

• जन्म से ही बालिकाओं के बेहतर भविष्य की आधारशीला रखना.

• बालिका भ्रूण हत्या को हतोत्साहित करना.

#3. योजना के लिये नोड़ल विभाग


महिला और बाल विकास विभाग ,मध्यप्रदेश

#4. लाड़ली लक्ष्मी योजना की पात्रता शर्तें


• इस योजना का लाभ 1 जनवरी,सन् 2006 के बाद जन्मी बालिकाओं को मिलेगा.

• बालिका के माता - पिता म.प्र.के मूल निवासी होना चाहियें.

• यह योजना दो संतान तक ही सीमित हैं यदि प्रथम संतान बालिका हो तो द्धितीय संतान होनें के बाद माता - पिता में से किसी एक को परिवार नियोजन करवाना अनिवार्य होगा.

• द्धितीय संतान के जन्म से एक वर्ष पूर्व प्रथम बालिका का आवेदन प्रस्तुत करना होगा.

• यदि द्धितीय संतान बालिका हैं तो वह भी इस योजना का लाभ उठाने की पात्रता रखती हैं बशर्तें बालिका के माता- पिता में से किसी एक ने परिवार नियोजन करवा लिया हो.

• इस योजना का लाभ लेनें वाली बालिका के माता - पिता आयकर दाता नहीं होना चाहियें.

• यह योजना गोद ली हुई बालिका संतान के लिये भी परंतु अभिभावक को इसका प्रमाण देना होगा.

• यदि जुडवाँ बालिकाओं का जन्म होता हैं,तो उस दशा में सभी जुडवाँ बालिकाओं को योजना का लाभ मिलेगा.

• योजना का लाभ प्राप्त करनें हेतू बालिका के जन्म से एक वर्ष के भीतर आवेदन आवेदन करना होगा.

• यदि किसी कारणवश बालिका के जन्म के प्रथम वर्ष के भीतर आवेदन नहीं कर पायें हो तो दूसरें वर्ष में आवेदन जिला कलेक्टर को करना होगा.

• माता - पिता की मृत्यु होनें की दशा में लाड़ली लक्ष्मी योजना में आवेदन करनें की छूट पाँच वर्ष होगी.

#5. आवेदन कहाँ करना होगा


संबधित गाँव या वार्ड़ के आंगनवाड़ी केन्द्र पर आँगनवाड़ी कार्यकर्ता को.

#6. योजना का विवरण


• लाड़ली लक्ष्मी योजना में लाभार्थी बालिका के नाम पर शासन पाँच साल तक प्रतिवर्ष 5,000 रूपयों के " राष्ट्रीय बचत पत्र " खरीदता हैं.

• बालिका जब कक्षा 6 उत्तीर्ण करती हैं तब 2,000 हजार रूपयें बालिका को प्रदान किये जातें हैं.

• कक्षा 9 में प्रवेश करनें पर बालिका को धनराशि प्रदान की जाती हैं.

• बालिका के 18 वर्ष की होनें पर एकमुश्त 1 लाख रूपये बालिका को प्रदान किये जातें हैं.


# 7.योजना की समीक्षा


लाड़ली लक्ष्मी बालिकाओं की उन्नति,समृद्धि और विकास की योजना हैं.इस योजना ने बालिकाओं की स्कूलों में नामाकंन दर को बढ़ाया हैं.

इस योजना से प्रभावित होकर अनेक राज्यों ने इस योजना से मिलती जुलती या इसी तरह की योजना शुरू की हैं.

जहाँ एक ओर यह योजना बालिकाओं के विकास की योजना हैं वही दूसरी और इस योजना की कुछ मूलभूत खामियाँ भी हैं जैसें

• योजना में बालिका के नाम से पाँच वर्ष में 30 हजार रूपयों के बचत पत्र खरीदें जातें हैं,बालिका जब कक्षा 6 में प्रवेश करती हैं,तो उसे मात्र 2 हजार ही प्रदान किये जातें हैं.इसके पश्चात कुछ राशि कक्षा 9 में प्रवेश करनें पर प्रदान की जाती हैं.इस तरह उसकी सम्पूर्ण प्राथमिक,माध्यमिक और 12 वी तक की पढ़ाई के दोंरान मात्र दो बार ही राशि मिल पाती हैं.जबकि वास्तविकता में बालिका को प्राथमिक,माध्यमिक और उच्च स्तरीय कक्षाओं के दोरान निरंतर छात्रवृत्ति मिलना चाहियें.

लाड़ली लक्ष्मी योजना नें प्रदेश में बालिका जन्म के प्रति आमजनों के दृष्टिकोण में सकारात्मक परिवर्तन उत्पन्न किया हैं.ऐसी योजना सम्पूर्ण देश भर में लागू की जानी चाहियें.


x

4 मई 2018

जल के ऐसे फायदे जिनको जानने के बाद आप खुद ही अपने डाक्टर बन जाओगे ( jal ke achuk fayde)

विभिन्न जल स्त्रोंतों से निकलनें वालें जल के अचूक फायदे ( jal ke achuk fayde)

  विभिन्न जल स्त्रोंतों से निकलनें वालें जल के अचूक फायदे ( jal ke achuk fayde)

जल के फायदे



# जल का परिचय


हमारी प्रथ्वी का 71% भाग जल से आच्छादित हैं.यह जल समुद्र,भूगर्भ और हिम ग्लेशियरों के रूप में प्रथ्वी पर मोंजूद हैं.


पानी रासायनिक रूप में दो हाइड्रोजन अणु और एक आक्सीजन अणु से मिलकर बना होता हैं.इसका रासायनिक सूत्र H²O हैं.


शुद्ध जल का pH मान 7 होता हैं,जिसका मतलब हैं,कि जल उदासीन द्रव हैं.


हमारें शरीर में 65 से 80 प्रतिशत भाग पानी का होता हैं.


पानी बिना जीवन की कल्पना करना असंभव हैं.
मनुष्य भोजन के बिना 7 दिन जीवित रह सकता हैं,परंतु पानी के बिना 72 घंटे से ज्यादा जीवित नही रह सकता हैं.

पानी की इसी महत्ता को देखते हुये रहीम ने लिखा हैं


रहिमन पानी राखिए बिन पानी सब सून पानी गये न उबरे मोती,मानुष,चून



 # विभिन्न स्त्रोत से मिलनें वाले जल के गुण :::


१.वर्षा का जल


चरकसंहिता में वर्षा जल के गुणों का वर्णन करतें हुये लिखा हैं कि

शितंशुचिशिवंमृष्टंविमलंलघुषड्गुणम ||प्रकृत्यादिव्यमुदकंभ्रष्टंपात्रमपेक्षते ||


आकाश से गिरा जल स्वभाव में शीतल,स्वच्छ,शुभ,हल्का होता हैं.यह जल प्रथ्वी के स्पर्श से मुक्त होता हैं.



वर्षा का जल सबसे शुद्ध माना जाता हैं यह जल मनुष्य की कई शारीरिक समस्याओं के लिये रामबाण औषधि के रूप में माना जाता हैं जैसें


#१.जिन व्यक्तियों को अपच की समस्या होती हैं उन्हें इस जल को वर्षाकाल में नियमित रूप से पीना चाहियें.


#२.एसीडीटी की समस्या होनें पर इस जल को   सुबह के समय पीना चाहियें .


#३.उच्च रक्तचाप में वर्षा जल को किसी पीतल के बर्तन में संग्रहित कर उपयोग लें यदि वर्षाकाल में यह प्रयोग कर लिया जायें तो उच्च रक्तचाप में शर्तिया फायदा मिलता हैं.


#४.वर्षाजल के नियमित सेवन करनें से शरीर का Ph लेवल संतुलित रहता हैं,ph के संतुलित रहनें पर व्यक्ति का शरीर बीमार होनें से बचा रहता हैं.


#५.जिन लोगों को कम दिखाई देता हो उन्हें वर्षाजल से अपनी आँखों को धोना चाहियें.


#६.ह्रदय रोग होनें पर वर्षाजल को ताम्र पत्र में संग्रहित कर 24 घंटे बाद उपयोग करना चाहियें. यह जल ह्रदय की धमनियों में आये अवरोध का खोलता हैं.


#७.बच्चों की स्मरण शक्ति बढ़ाना हो तो चाँदी के पात्र में 24 घंटे तक रखा जल बच्चों को पीलाना चाहियें.


#८.तीरंदाजी,शतरंज आदि खेलों में एकाग्रता की ज़रूरत होती हैं अत: इन खेलों के खिलाड़ियों को चाँदी या मिट्टी के पात्र में 24. घंटे से अधिक रखा जल वर्षाकाल में अवश्य पीना चाहियें.


#९.गर्भवती स्त्रीयों को वर्षाजल का सेवन करना चाहियें इसके सेवन से गर्भवती द्धारा सेवन किये गये भोजन का पाचन अच्छी तरह होता हैं और गर्भ में पल रहें शिशु का विकास अच्छे प्रकार से होता हैं.



#१०.वर्षाजल से स्नान करनें वालें व्यक्ति की रोगप्रतिरोधक क्षमता बहुत अधिक होती हैं.वर्षाजल में स्नान करनें के बाद भूख खुलकर लगती हैं.



#११.नियमित रूप से वर्षाकाल में वर्षा में स्नान करनें वाला व्यक्ति अपनें जीवन के 100 वर्ष पूरें करता हैं ऐसी प्राचीन भारतीय चिकित्सा ग्रंथों की दृढ़ मान्यता हैं.



#१२.शरीर के किसी भी भाग में दर्द रहनें पर  वर्षाजल को सीधे आकाश से गिरनें के दोंरान किसी स्वच्छ पात्र में ग्रहण कर लेना चाहियें.तत्पश्चात शीघ्र ग्रहण करना चाहियें.



#१३.वर्षाजल के सेवन से शरीर की समस्त शारीरिक क्रियाएँ संतुलित अवस्था में रहकर संचालित होती हैं.



● यह भी पढ़े 👇👇👇

● सिंघाड़े के फायदे

●बथुआ के बारें में जानकारी

● मधुमक्खी पालन एक लाभदायक व्यवसाय




# २.पीली मिट्टी का जल



पीली मिट्टी से निकला जल या पीली मिट्टी से युक्त नदी का जल स्वाद में तीखा ,भारी,और चिकना होता हैं.इस जल के चिकित्सकीय उपयोग निम्न प्रकार से हैं


#१.निम्न रक्तचाप में यह जल अति उत्तम माना जाता हैं.इसके सेवन से व्यक्ति के निम्न रक्तचाप को सामान्य रक्तचाप में परिवर्तित किया जा सकता हैं.


#२.जिन लोगों को बार - बार दस्त लगतें हो उन्हें यह जल अवश्य सेवन करना चाहियें.


#३.इस जल के सेवन से हिचकी रोग की रोकथाम की जा सकती हैं.


#४.यदि किसी व्यक्ति को उच्च रक्तचाप हैं,तो इस जल का सेवन मिट्टी के घड़े में 2-3 घंटें रखनें के पश्चात ही करना चाहियें.


#५.शरीर के किसी हिस्से पर सूजन होनें या सम्पूर्ण शरीर पर बिना किसी विशेष बीमारी के सूजन होनें पर इस जल को हल्का गर्म करके सेवन करना चाहियें.


#६.पीली मिट्टी के स्त्रोंत से निकला जल व्यक्ति को फुर्तीला,और मेहनती बनाता हैं.

# ३.काली मिट्टी से निकला जल




काली मिट्टी से निकला हुआ जल शीतल,मीठा और हल्का होता हैं.इसको पीनें वालें लोग शाँतचित्त,और प्रशन्न रहतें हैं.



#१.कब्ज, अपच तथा पेट की गड़बडियों में काली मिट्टी के बनें घड़ें में रखा जल बहुत उत्तम माना गया हैं.



#२.बालों की समस्याओं जैसें बाल झड़ना,असमय सफेद होना आदि में इस जल से बाल धोना चाहियें.



#३.काली मिट्टी का जल वीर्य का वृद्धिकारक,शरीर को संपुष्टी देनें वाला और नपुंसकता नाशक होता हैं.



#४.यह जल चिकना होता हैं अत: इसके सेवन से हड्डीयों से संबधित समस्या और नसों से संबधित समस्या नही होती हैं.



#५.पेट़ में छालें होने पर इस जल का सेवन बहुत फायदेमंद होता हैं.



#६.मधुर होनें से काली मिट्टी का जल लम्बें समय तक पात्र में संग्रहित नही किया जाना चाहियें .



#७.काली मिट्टी के जल को 24 घंट तक ही संग्रहित कर उपयोग में लेना चाहियें.



#८.ग्रीष्म ऋतु में काली मिट्टी से निकला जल शरीर की गर्मी को शाँत करता हैं और लू लगनें से बचाता हैं.



# ४.रेगिस्तानी भूमि या ऊसर भूमि से निकला जल




रेगिस्तानी या ऊसर भूमि से निकला जल स्वाद में लवणयुक्त,हल्का और गर्म प्रकृति का होता हैं.इस जल के निम्न उपयोग हैं.


#१.निम्न रक्तचाप में इस जल का सेवन करनें से बहुत फायदा मिलता हैं.


#२.गठिया, वात,या जोंड़ों में दर्द रहनें पर इस जल का सेवन तांबें के पात्र में संग्रहित कर करना चाहियें.


#३.उसर भूमि से निकला जल गर्म प्रकृति का होनें से कास,श्वास में आराम दिलाता हैं,इसके लिये इसे उचित विधि से सेवन करना चाहियें.


#४.इस जल के सेवन से मोटापे की समस्या से निजात मिल जाती हैं.



# ५.ग्लेशियरों से निकला जल


ग्लेशियरों से प्रवाहित जल इसके स्त्रोंत के निकट शीतल,मधुर और भारी होता हैं.इसके चिकित्सकीय गुण निम्न प्रकार हैं.


#१.यह जल शरीर को बलशाली बनाता हैं.


#२.इसका सेवन वीर्य को गाढ़ा और पुृृष्ट करता हैं.



#३.यह जल स्त्रीयों की अनेक समस्याओं जैसें महावारी की समस्याओं, गर्भवती की समस्याओं का शमन करता हैं.



#४.त्वचा संबधित समस्याओं में इसका सेवन बहुत फायदेमंद रहता हैं.


# ६.लाल मिट्टी से निकला जल


लाल मिट्टी से निकला जल स्वाद में कसेला,भारी और प्रकृति में गर्म होता हैं.


#१.रक्ताल्पता ( Anaemia ) में इस जल का सेवन करनें वाला व्यक्ति इस बीमारी से जल्द निजात पा लेता हैं.



#२.यह जल माँसपेशियों में लचीलापन लाता हैं.



#३.कसेला होनें से यह जल वात प्रकृति के लोगो के लिये बहुत फायदेमंद रहता हैं.



जल जिस स्त्रोंत से प्राप्त होता हैं वहाँ की भूमि,जलवायु के अनुसार अपनी प्रकृति बदल लेता हैं.



पीनें का जल साफ स्वच्छ और निर्मल होना चाहियें यदि पीनें का जल रूका हुआ,बदबूदार,और मटमेला हैं तो ऐसा जल पीनें योग्य कदापि नही होता हैं.



आजकल पीनें का पानी प्लास्टिक बाँटल में आता हैं,यह जल कई कई दिनों तक ऐसे ही पैकिंग में पड़ा रहता हैं.



कई शोधों में यह स्पष्ट हुआ हैं कि बौतलबंद पानी में प्लास्टिक के कण खतरनाक स्तर तक पायें जातें हैं जो मनुष्य के शरीर में जाकर कैंसर जैसी खतरनाक बीमारी उत्पन्न कर रहें हैं.



भारत में करोड़ों लोग प्रतिवर्ष अशुद्ध पेयजल की वजह से बीमार होतें हैं तथा लाखो लोग मृत्यु को प्राप्त हो जातें हैं.जबकि वास्तविकता में देखा जाये तो भारत भारत शुद्ध वर्षा जल के मामलें में संपन्न देश हैं.



हमारें यहाँ प्रतिवर्ष इतनी वर्षा हो जाती हैं कि हम एशिया की आधी आबादी को पूरे एक वर्ष तक पानी पीला सकतें हैं.परंतु कुप्रबंधन के चलते यह जल समुद्र में बह जाता हैं और हमारी धरती प्यासी ही रह जाती हैं.



सरकारें सतह जल जैसें शुद्ध जल को सहजनें के बजाय जनता की प्यास हजारों फीट़ गहराई से निकालें जल से बुझाती हैं.कम गहराई से निकाले पानी की गुणवत्ता तो ठीक होती हैं परंतु अधिक गहराई से निकाला  जल कठोर,अनेक आँक्साइड़ों और सल्फेट से युक्त होता हैं.जो पीनें पर अनेक गंभीर रोग प्रदान करता हैं. 


#विभिन्न जल स्त्रोंतों से निकलनें वालें जल के अचूक फायदे ( jal ke achuk fayde)


#७.गेसियरों से निकला जल


गेसियरों से निकला जल गर्म होता हैं । यह पिनें योग्य तभी माना जाता हैं जब साफ स्वच्छ और बदबू रहित हो इस प्रकार का जल हृदय रोग,मधुमेह ,निम्न रक्तचाप और,मोटापे के लिए वरदान माना गया हैं । 

गेसियरों से निकला ऐसा जल जिसमें गंधक सिलिका जेसे तत्वों की प्रधानता हो चर्म रोगों के लियें वरदान माना गया हैं ।


आज आवश्यकता इस बात की है कि वैदिक कालिन ग्रंथों में वर्णित शुद्ध जल प्राप्त करनें के तरीकों पर गंभीरता से विचार किया जायें क्योंकि इन्ही वैदिककालीन तकनीकों की सहायता से मनुष्य पूरे 100 वर्ष तक जीवित रहता था.

अधिक पानी पीनें से शरीर में क्या नुकसान हो सकता है

आयुर्वेद ग्रंथों में लिखा है

जलाधिक्या





०अश्वगंधा


3 मई 2018

म.प्र.की प्रमुख नदी [river]

म.प्र.की प्रमुख नदी [river] 

म.प्र.भारत का ह्रदय प्रदेश होनें के साथ - साथ नदी,पहाड़,जंगल,पशु - पक्षी,जीव - जंतुओं के मामलें में देश का अग्रणी राज्य हैं.
map mp
 river map of mp

प्रदेश में बहनें वाली सदानीरा नदीयों ने प्रदेश की मिट्टी को उपजाऊ बनाकर सम्पूर्ण प्रदेश को पोषित और पल्लवित किया हैं.यही कारण हैं कि यह प्रदेश "नदीयों का मायका" उपनाम से प्रसिद्ध हैं.

ऐसी ही कुछ महत्वपूर्ण नदियाँ प्रदेश में प्रवाहित होती हैं,जिनकी चर्चा यहाँ प्रासंगिक हैं.





#१.नर्मदा

नर्मदा म.प्र.की जीवनरेखा कही जाती हैं.इस नदी के किनारें अनेक  सभ्यताओं ने जन्म लिया .


नर्मदा नदी कहां से निकलती है ?


यह नदी प्रदेश के अमरकंटक जिला अनूपपुर स्थित " विंध्याँचल " की पर्वतमालाओं से निकलती हैं.

नर्मदा प्रदेश की सबसे लम्बी नदी हैं,इसकी कुल लम्बाई 1312 किमी हैं.

म.प्र.में यह नदी 1077 किमी भू भाग पर बहती हैं.बाकि 161 किलोमीटर गुजरात, राजस्थान और महाराष्ट्र में बहती हैं.

नर्मदा प्रदेश के 15 जिलों से होकर बहती हैं जिनमें शामिल हैं,अनूपपुर,मंड़ला,डिंडोरी,जबलपुर,नरसिंहपुर,रायसेन,होशंगाबाद,सिहोर,हरदा,देवास,खंडवा,खरगौन,बड़वानी,धार और अलीराजपुर जिला सम्मिलित हैं.

नर्मदा विंध्याचल और सतपुड़ा पर्वत मालाओं के बीच से रिफ्ट घाटी (v shape) में बहती हैं.नर्मदा नदी के किनारें विश्व प्रसिद्घ ज्योर्तिलिंग 'ओंकारेश्वर' स्थित हैं । इसी प्रकार एंडवेचर गतिविधियों के लिए प्रसिद्व हनुवंतिया टापू नर्मदा नदी पर बने बांध इंदिरा सागर के बेकवाटर में स्थित हैं ।


नर्मदा की सहायक नदीयाँ


नर्मदा की कुल 41 सहायक नदी हैं जो नर्मदा के दाँयें और बाँयें तट़ से नर्मदा से मिलती हैं.

दाँये तट से मिलनें वाली सहायक नदीयाँ

हिरन,तिन्दोली,बनास,चन्द्रकेशर,कानर,बरना,उरी हथनी आदि

बाँयें तट से मिलनें वाली नदीयाँ


शेर,शक्कर,दूधी,मान,बरनार,बंजर,तवा,गंजाल,छोटी तवा,कु्ंदी,देव और गोई आदि 

नर्मदा नदी धुँआधार जलप्रपात ,कपिलधार जलप्रपात, दुग्धधारा जलप्रपात, सहस्त्रधारा जल प्रपात,मंधार जलप्रपात और दरदी जलप्रपात बनाती हैं.

० यह भी पढ़े👇👇👇


● ओरछा और ग्वालियर के बारें में जानें


● फ्रांस की क्रांति




# नर्मदा नदी का अपवाह क्षेत्र कितना है?


नर्मदा का अपवाह 98,496 वर्ग किमी हैं.नर्मदा अपवाह की दृष्टि से भारत की पाँचवी सबसे बडी नदी हैं.


#.नर्मदा पर स्थित परियोजनाएँ 


नर्मदा के पानी के इस्तेमाल को दृष्टिगत रखते हुए सन् 1981 में "नर्मदा घाटी विकास प्राधिकरण"का गठन किया गया था। जो नर्मदा और इसकी सहायक नदियों पर 29 बड़ी,133 मझोली और 3000 लघु परियोजना बनाने के लिए प्रयासरत हैं।


• सरदार सरोवर परियोजना : यह परियोजना म.प्र.,राजस्थान, गुजरात और महाराष्ट्र की संयुक्त परियोजना हैं.



• रानी अँवतीबाई सागर परियोजना जबलपुर म.प्र.



• इन्दिरा सागर परियोजना (पुनासा)खंडवा 


• शहीद चन्द्रशेखर आजाद परियोजना


• बरगी दांयी तट परियोजना

• तना परियोजना

• डालना परियोजना

• ओंकारेश्वर परियोजना

• अपरवेदा परियोजना

• लोअर गोई परियोजना


#.नर्मदा नदी कहां जाकर गिरती है


नर्मदा म.प्र.से होती हुई खम्बात की खाड़ी (गुजरात) में गिरनें से पहलें एश्चुरी बनाती हैं.

नर्मदा पूर्व से पश्चिम की ओर बहनें वाली नदी हैं.



#२.चम्बल नदी (Chambal river)

चम्बल मध्यप्रदेश की दूसरी सबसे बडी नदी हैं.इसका प्राचीन नाम चर्मावती हैं.


●यह भी पढ़े 👇👇👇



● सौर मंडल के बारें में जानें



● जैविक खेती बिना किसानों की आय दुगनी नहीं होगी



●सिंधु घाटी सभ्यता के पतन का कारण



# चम्बल नदी कहां से निकलती है

चम्बल नदी इन्दौर के निकट जानापाव पहाड़ी से निकलती हैं.यह स्थान विंध्याँचल पर्वतमालाओं में  854 मीटर ऊँचाई पर स्थित हैं.

इस नदी की लम्बाई 965 किमी हैं.

यह नदी म.प्र.के उज्जैन, रतलाम,मंदसौर,नीमच,धार और इन्दौर जिलों से होकर बहती हैं.


# चम्बल नदी की  सहायक नदीयाँ कोंन सी है



कालीसिंध,पार्वती,क्षिप्रा और बनास


# चम्बल नदी पर स्थित परियोजनायें :::



चम्बल नदी पर मध्यप्रदेश की प्रथम जलविधुत परियोजना गाँधी सागर नाम से बनायी गई हैं,जो नीमच के निकट स्थित हैं.


इसी प्रकार जवाहर सागर कोटा के पास और राणा प्रताप सागर चित्तौड़गढ़ के पास स्थित जलविधुत और सिंचाई परियोजना हैं.


चम्बल नदी पर स्थित यह परियोजनायें म.प्र.और राजस्थान की संयुक्त परियोजना हैं.


चम्बल नदी पर चूलिया जलप्रपात स्थित हैं जिसकी ऊँचाई 18 मीटर हैं.


# चम्बल नदी कहां जाकर गिरती है



चम्बल नदी उत्तर पूर्व की ओर बहते हुये इटावा (उत्तर प्रदेश) के निकट यमुना नदी में मिल जाती हैं.यह नदी गंगा नदी तंत्र में सम्मिलित हैं.


यमुना नदी से मिलनें से पूर्व इस नदी ने अवनालिका अपरदन के द्धारा प्रदेश के भिंड़ मुरेना क्षेत्रों में गहरें खड्ड निर्मित किये हैं जो एक समय डाकूओं की शरणस्थली बन गये थे और कानून व्यवस्था की समस्या बन गये थे.

# ३.सोन नदी



सोन नदी प्रदेश की तीसरी बडी नदी हैं जिसकी कुल लम्बाई 780 किमी हैं.

# सोने नदी कहां से निकलती है


सोन नदी नर्मदा नदी के उद्गम स्थल (अमरकंटक) के निकट से निकलती हैं.विंध्याँचल पर्वत में यह स्थल नर्मदा के उद्गम स्थल से तीन किलोमीटर के अँदर स्थित हैं.


सोन नदी का अपवाह क्षेत्र 17_990 वर्ग किमी हैं.


# सोन नदी पर स्थित परियोजना



सोन नदी पर म.प्र.,उत्तर प्रदेश और बिहार की संयुक्त परियोजना " बाणसागर"स्थित हैं.

शहडोल जिलें में देवलोद बाँध इसी नदी पर बना हैं.



# सोने नदी किस नदी से मिलती हैं?


सोन नदी मध्यप्रदेश और उत्तर प्रदेश और बिहार में बहती हुई पटना के पास दीनापुर में गंगा नदी में मिल जाती हैं.



# ४.ताप्ती नदी ( Tapti river)



ताप्ती प्रदेश की चौथी बड़ी नदी हैं .जिसकी कुल लम्बाई 724 किमी हैं.

यह नदी नर्मदा के समानांतर बहती हुई म.प्र.की दक्षिणी सीमा निर्धारित करती हैं.बुरहानपुर ताप्ती नदी के तट पर बसा प्रदेश का प्रमुख नगर हैं.


ताप्ती नदी का उदगम स्थल कहां है


ताप्ती बेतूल जिले के मुल्ताई के निकट से उद्गमित होती हैं.


ताप्ती नदी की सहायक नदीयाँ कौंन सी है?


पूरणा,बाघुड़,गिरना,बोरी,और शिवा ताप्ती की सहायक नदीयाँ हैं.

# समापन

यह नदी सूरत के निकट  अरब सागर (खम्बात की खाड़ी) में समाहित हो जाती हैं.

# ५.बेतवा


बेतवा प्रदेश की पाँचवी बड़ी नदी हैं,जो मालवा के पूर्वी भाग का जल लेकर बहती हैं.इस नदी की लम्बाई 380 किमी हैं.

यह म.प्र.के विदिशा,सागर,गुना और टीकमगढ़ जिलो में बहती हैं.साँची नगर इसी नदी के किनारें पर बसा हैं.



# बेतवा नदी का उदगम


बेतवा नदी रायसेन जिले के कुमरा गाँव के निकट विंध्याँचल पर्वतमालाओं से निकलती हैं.


# बेतवा की सहायक नदियाँ


बीना,धसान,सिंध,देनवा,मालिनी,सुखतवा,कालीभीत



# बेतवा पर स्थित परियोजना



महारानी लक्ष्मीबाई परियोजना (माताटीला बाँध)


भांडेर नहर और हलाली नहर


# बेतवा नदी किस नदी में जाकर मिलती है


बेतवा उत्तर प्रदेश के हमीरपुर के पास यमुना नदी में मिल जाती हैं.


# ६.क्षिप्रा नदी ( kshipra river)



क्षिप्रा नदी 195 किमी लम्बी नदी हैं,इस नदी के किनारें उज्जैन बसा हुआ हैं,जहाँ प्रति बारह वर्ष में " सिंहस्थ " मेला आयोजित होता हैं.


# क्षिप्रा का उदगम


क्षिप्रा इन्दौर के निकट " काकडी बल्डी "नामक स्थल से निकलती हैं.


# क्षिप्रा की सहायक नदी


खान और गंभीर

क्षिप्रा नदी किस नदी से जाकर मिलती है

क्षिप्रा देवास,उज्जैन, रतलाम,मंदसौर जिलों में बहती हुई चम्बल नदी में मिल जाती हैं.



# ७.तवा नदी ( Tava river)


यह नदीं पंचमढ़ी स्थित महादेव पर्वत से निकलती हैं.


# तवा नदी पर स्थित परियोजना


तवा परियोजना ( होशंगाबाद),इस परियोजना से 3.33 लाख हेक्टेयर में सिंचाई होती हैं.


# तवा नदी कहां जाकर गिरती है



नर्मदा नदी में ( होशंगाबाद में)



# ८.बैनगंगा नदी ( Benganga river)




बैनगंगा प्रदेश के दक्षिण भाग में प्रवाहित होनें वाली महत्वपूर्ण नदी हैं.जो सिवनी और बालाघाट जिले में प्रवाहित होती है.इस नदी का वर्धा नदी से जब संगम होता हैं तो उसे " प्राणहिता " के नाम से जाना जाता हैं.


# बैनगंगा नदी का उदगम स्थल कहां है


परसवाड़ा पठार जिला सिवनी से


# वैनगंगा पर निर्मित परियोजनायें


संजय सरोवर परियोजना (अपर वैनगंगा) इस परियोजना से सिवनी और बालाघाट जिले की 1.03 लाख हेक्टेयर भूमि सिंचित होती हैं.


# ९.कैन नदी ( Ken river)


कैन नदी को शुक्तिमति,दिर्णावती भी कहा जाता हैं.


# केन नदी का उदगम स्थल कहां है?



विंध्याँचल पर्वत से निकलती हैं.



# केन नदी किस नदी से जाकर मिलती है



कटनी,पन्ना और बांदा (उ.प्र.) जिलों से होती हुई गोदावरी नदी में मिल जाती हैं.


#१० सिंध नदी ( Sindh river)



सिंध नदी सिंरोज (गुना) से निकलकर उ.प्र.में जाकर यमुना नदी में मिल जाती हैं.


# ११.कालीसिंध नदी ( Kalisindh river)


कालीसिंध नदी की लम्बाई 150 किमी हैं.यह नदी गर्मीयों के समय सूख जाती हैं.इसी बात को दृष्टिगत रखतें हुये म.प्र.शासन ने इस नदी को नर्मदा नदी से जोड़नें की योजना की रूपरेखा बनाई हैं.

सोनकच्छ नगर इस नदी के तट पर बसा हुआ हैं


# कालीसिंध नदी का उदगम स्थल कहां है?



यह नदी देवास जिले के बागली नगर के समीप से निकलती हैं.


# कालीसिंध नदी किस नदी से मिलती है

राजस्थान में चम्बल नदी में मिल जाती हैं.



# १२.पार्वती नदी ( Parvati river )


यह नदी कालीसिंध नदी के समानांतर बहती हैं.


# उदगम


सिहोर जिले के आष्टा नगर के समीप से निकलती हैं.इस नदी के किनारें आष्टा,शाजापुर और राजगढ़ नगर बसे हुये हैं.


# समापन


चम्बल नदी में मिल जाती हैं.


#१३. कूनो नदी ( Kuno river )


इस नदी की लम्बाई 180 किमी हैं.

# उदगम


शिवपुरी पठार से निकलती हैं.


# कूनो पर निर्मित परियोजनायें



इस नदी पर केन बहुउद्देश्यीय परियोजना निर्मित हैं,जो छतरपुर और पन्ना जिलें को सिंचित करती हैं.इससे 50 मेगावाट बिजली उत्पादन भी होता हैं.

यह परियोजना म.प्र.और उ.प्र.की संयुक्त परियोजना हैं.

# समापन


चम्बल नदी में मिल जाती हैं.

#१४. वर्धा नदी ( vardha river)


यह नदी वर्धन शिखर बैतूल से निकलती हैं.

# समापन


चम्बल नदी में

#१५.शक्कर नदी ( sakkar river )


यह नदी अमरवाड़ा जिला छिंदवाड़ा से निकलती हैं.

# समापन


चम्बल नदी में मिल जाती हैं.

# १६.गार नदी ( Garr river )

लखनादोन जिला सिवनी से निकलती हैं और नर्मदा नदी में मिल जाती हैं.

# १७.टोंस नदी ( Tons river )


सतना जिले में स्थित कैमूर पहाड़ी से उदगम तथा उत्तर प्रदेश में गंगा नदी में मिल जाती हैं.

टाप स्मार्ट हेल्थ गेजेट्स इन हिंदी। Top smart health gadgets

Top smart health gadgets।टाप स्मार्ट हेल्थ गेजेट्सस इन हिंदी  कोरोना काल में स्वास्थ्य सुविधाओं पर जितना दबाव पैदा हुआ उतना शायद किसी भी काल...