सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

पोस्ट

जुलाई, 2020 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

मोतियाबिंद क्या होता हैं । लक्षण ,और कारण । what is cataract in Hindi

मोतियाबिंद क्या होता हैं what is cataract in Hindi मनुष्य की आंखों के लेंस manusy ki  aankho ke lens प्रोटीन और फाइबर से बनी संरचना होती हैं। यह लेंस पारदर्शी और कांच के समान होती हैं । इस लेंस के माध्यम से होकर प्रकाश आंखों के पर्दे पर आता हैं , जिससे किसी वस्तु का साफ़ प्रतिबिंब दिखाई देता हैं । जब कभी किसी कारण से यह लेंस धुंधले हो जातें हैं तो प्रकाश इन लेंस से नहीं गुजर पाता है । लेंस के धुंधला होनें की यह अवस्था मोतियाबिंद cataract कहलाती हैं ।  मोतियाबिंद भारत में अन्धत्व का बहुत बड़ा कारण मोतियाबिंद हैं । भारत में लगभग 65 प्रतिशत लोग में नेत्रहीनता का कारण मोतियाबिंद ही है । भारत में प्रतिवर्ष 20 लाख लोगों में मोतियाबिंद होता हैं । मोतियाबिंद के लक्षण motiyabind ke laxan आंखों से धुंधला दिखाई देना यदि किसी को मोतियाबिंद हो जाता हैं तो पढ़ने या कोई वस्तु देखने पर वह धुंधली दिखाई देती हैं ।  आंखें चोंधियाना यदि मोतियाबिंद ग्रसित व्यक्ति टीवी देखता है या किसी साधारण से प्रकाश स्रोत जिसे सामान्य आंखों वाला देख सकता हैं को देखता है तो उसकी आंखें चोंधिया

ब्रेन हेमरेज क्या होता हैं । WHAT IS BRAIN HEMORRHAGE IN HINDI

ब्रेन हेमरेज क्या होता हैं WHAT IS BRAIN HEMORRHAGE IN HINDI   ब्रेन हेमरेज क्या होता हैं ब्रेन हेमरेज BRAIN HEMORRHAGE मस्तिष्क आघात Brain stroke का एक प्रकार हैं। जिसमें मस्तिष्क की धमनी फट जाती हैं और खून आसपास के ऊतकों तक फैल जाता हैं। ऊतकों तक खून का फैलाव होनें से आक्सीजन का स्तर oxygen level कम हो जाता हैं और कोशिकाएं मरने लगती हैं। इस अवस्था को ब्रेन हेमरेज Brain hemorrhage  कहते हैं । ब्रेन हेमरेज BRAIN HEMORRHAGE के दौरान जब रक्त स्त्राव होता हैं तो मस्तिष्क के आंतरिक भाग में सूजन आ जाती हैं जिससे आसपास के ऊतकों पर दबाव पड़ता हैं और मस्तिष्क कोशिकाएं मरने लगती हैं। ब्रेन हेमरेज BRAIN HEMORRHAGE के क्या कारण हैं  1.मस्तिष्क में लगी चोंट दुर्घटना में लगी चोंट यदि गंभीर होती हैं तो ब्रेन हेमरेज हो सकता है । भारत में युवाओं में ब्रेन हेमरेज का सबसे बड़ा कारण सड़क दुघर्टना में लगी मस्तिष्क की चोंट ही हैं । BRAIN HEMORRHAGE ka sabse bada karan sadak durghatna me lagi mastishk ki chont hi hai 2.उच्च रक्तचाप  लम्बे समय से बने रहने व

काला धतूरा के फायदे और नुकसान kala dhatura ke fayde aur nuksan

धतूरा भगवान शिव का प्रिय पौधा है। भगवान शिव धतूरा अपने मस्तिष्क पर धारण करते हैं और जो लोग धतूरा भगवान शिव को अर्पण करते थे वे उन्हें मनचाहा आशीष प्रदान करते हैं। धतूरा भी कई प्रकार का होता है जैसे काला धतूरा, सफेद धतूरा, पीला धतूरा आदि। आज हम आपको "काला धतूरा के फायदे और नुकसान kala dhatura ke fayde aur nuksan" के बारे में बताएंगे।  काला धतूरा के फायदे और नुकसान आयुर्वेद आयुर्वेद चिकित्सा में काला धतूरा बहुत महत्वपूर्ण औषधि के रूप में बहुत लंबे समय से इस्तेमाल हो रहा है । धतूरा बहुत ही जहरीला फल होता है , प्रकृति में गर्म और भारी होता है। काला धतूरा का वैज्ञानिक नाम काला धतूरा का वैज्ञानिक नाम धतूरा स्ट्रामोनियम DHATURA STRAMONIUM है । अंग्रेजी में इसे डेविल्स एप्पल Devil's apple, डेविल्स ट्रम्पेट Devil's trumpet के नाम से जाना जाता है। संस्कृत में इसे दस्तूर, मदन, उन्मत्त ,शिव प्रिय महामोधि, कनक आदि नाम से जानते हैं। काला धतूरा की पहचान कैसे करें  काला धतूरा के पत्ते नोक दार ,डंठल युक्त और बड़े आकार के होते हैं। काला धतूरा

हर्ड इम्यूनिटी । herd immunity क्या है ? । क्या कोरोनावायरस से बचाव का सही तरीका यही है

हर्ड इम्यूनिटी herd immunity :: क्या कोरोनावायरस से बचाव का सही तरीका यही है ? Herd immunity kya hoti hai  हर्ड इम्यूनिटी भारत समेत पूरी दुनिया कोरोनावायरस से पीड़ित हैं,दिन प्रतिदिन कोविड़ 19 बीमारी से निपटने के लिए नयी नयी औषधियों का अविष्कार करने का प्रयास किया जा रहा है वहीं अनेक विशेषज्ञों ने हर्ड इम्यूनिटी द्वारा भी कोरोनावायरस से निपटने की सलाह दी है। आईये जानतें हैं हर्ड इम्यूनिटी क्या होती हैं  हर्ड इम्यूनिटी क्या है Herd immunity kya hai हर्ड (Herd) का हिंदी अनुवाद Herd immunity ka hindi anuvad झुंड होता है। इसी हर्ड से हर्ड  का प्रादुर्भाव हुआ है । इसी प्रकार इम्यूनिटी ( IMMUNITY ) का अर्थ शरीर विज्ञान के सन्दर्भ में रोग प्रतिरोधक क्षमता से है । अर्थात हर्ड इम्यूनिटी या झुंड प्रतिरोधक क्षमता चिकित्सा विज्ञान की वह अवधारणा है जिसमें जनसंख्या का एक बड़ा हिस्सा या तो टीकाकरण द्वारा या किसी महामारी द्वारा प्राकृतिक रुप से संक्रमित होकर उस बीमारी के प्रति रोग प्रतिरोधक क्षमता विकसित कर लेता है ‌।  अलग-अलग बीमारियों के लिए हर्ड इम्यूनिटी का स्तर अलग-अलग होता है