सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

पोस्ट

जुलाई, 2018 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

INSPIRE AWARD (इंस्पायर अवार्ड) क्या हैं

# INSPIRE AWARD इंस्पायर अवार्ड क्या हैं ?  Inspire award इंस्पायर अवार्ड INSPIRE AWARD  मानक,भारत सरकार के विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभाग द्वारा संचालित एक विशिष्ट कार्यक्रम हैं।इसका मुख्य उद्देश्य प्रतिभाशाली विद्यार्थियों को किशोरावस्था में आकर्षित करना और उन्हें विज्ञान की रचनात्मक खोज से परिचित कराना हैं । साल 2009 - 10 में भारत सरकार के विज्ञान और प्रोधोगिकी विभाग ने इंस्पायर अवार्ड की शुरुआत की थी ।कुछ बदलावों के साथ अब इंस्पायर अवार्ड मानक का आयोजन राष्ट्रीय नवपर्वतन प्रतिष्ठान भारत के सहयोग से किया जा रहा हैं । इस कार्यक्रम में देशभर के कक्षा 6 से 10 तक सभी मान्यता प्राप्त सरकारी अथवा निजी/सहायता प्राप्त/गैर सहायता प्राप्त स्कूलों के विद्यार्थियों के मौलिक विचारों और नवप्रवर्तनो को आमंत्रित किया जाता हैं।जिससे भविष्य में विज्ञान और प्रौद्योगिकी को बढ़ावा और मजबूती देने के लिये एक बेहतर मानव बल श्रृंखला तैयार की जा सके,इसके साथ ही शोध और विकास के आधार को मजबूती दी जा सके ।  इंस्पायर अवार्ड मानक के तहत किस प्रकार के आवेदन आमंत्रित किया जाता हैं ? इंस्प

CPR , COMPRESSION PULMONARY RESUSCITATION यानि सांस पुनः लाने की तकनीक सीपीआर

यदि आप बाजार में हो,कहि सफ़र में हो या घर पर हो और अचानक कोई घटना घट जाए जिसमें कोई व्यक्ति अचानक गिर जाये, उसे करंट लग जाये या पानी में डूब जाये और उसकी सांस थम जाये तब आप क्या करेंगे ? यह सवाल मैंने लगभग 3000 लोगों से पूछा किंतु लगभग सभी ने कहा की हम व्यक्ति को आपातकालीन चिकित्सा के लिये एम्बुलेंस बुलाकर अस्पताल ले जाएंगे। मैंने फिर पूछा भारत जैसे देश में जहां दूर दूर तक कोई आपातकालीन चिकित्सा आसानी से उपलब्ध नहीं हैं या फिर जब तक आपातकालीन चिकित्सा उपलब्ध नहीं हो जाती आप क्या करोगे ?  आप को जानकर आश्चर्य होगा कि इन 3000 लोगों में से मात्र 340 लोगों ने ही आपातकालीन चिकित्सा में CPR की बात की,परन्तु कोई भी सी,पी, आर, का सही तरीका नहीं बता पाया। क्या आप जानते हैं आपातकालीन स्थिति में प्रथम 10 मिनिट में C.P.R.शुरू कर देने से व्यक्ति के बचने की संभावना कई गुना बढ़ जाती हैं। आइये जानते हैं आपातकालीन चिकित्सा की इस "संजीवनी विद्या" को C.P.R.या CHEST COMPRESSION PULMONARY RESUSCITATION क्या हैं ? :::: चेस्ट कम्प्रेशन पल्मोनरी रेसेसशन एक आधुनिक त

जल [water] :: लोक सृष्टि का उपादान

पंच महाभूतों में एक जल भी हैं। जल ही लोक सृष्टि का उपादान हैं।जो जल हमें दिखाई पड़ता हैं वह अपने आप में महत्वपूर्ण हैं। एक यौगिक हैं। प्रथ्वी भी पानी का ही एक रूपांतर हैं।पानी में वायु प्रवेश करके घनीभूत होता हुआ कालांतर में मिट्टी रूप में बदलता हैं। अंतरिक्ष में भी प्राणात्मक पानी का ही साम्राज्य हैं।चंद्रमा भी पानी का ही विरल अवस्था रूप सोम का ही रूपान्तर हैं।जल पिंड हैं।  महाकाल अंतरिक्ष का जल ही भिन्न- भिन्न लोकों के बीच सूत्र संबंध बनाए रखता हैं।जैसे हमारे तीन चौथाई जल है, वैसे ही पृथ्वी, चंद्रमा आदि पिंडो में भी तीन चौथाई जल होता हैं।सभी जड़ और चेतन भी इसी जल के कारण एक दूसरे से जुड़े रहते हैं।जल में संग्रह करने की एक विशिष्ट शक्ति होती हैं।   यह सभी ध्वनि तरंगों का संग्रह करता हैं।उसका परिवहन भी करता हैं।हम चाहें हरिद्वार या बनारस में गंगा स्नान करे, गौ मुख से गंगासागर की अनुभूति हो सकती हैं।लोगो के स्नान करने की, धोबी घाटो की,पूजा आरतियों की ध्वनियों पकड़ में आ सकती हैं।प्रत्येक डुबकी में अलग धरातल का अनुभव हो सकता हैं। हमारे  शब्दों का स्पंदन भी जल ग्रह