रविवार, 21 जुलाई 2019

जियो जी भरके

*🌴➰गौर से दो बार पढे!➰🌴*


➰जिस दिन हमारी मौत होती है, हमारा पैसा बैंक में ही रह जाता है।➰

➰जब हम जिंदा होते हैं, तो हमें लगता है कि हमारे पास खच॔ करने को पया॔प्त धन नहीं है।➰

➰जब हम चले जाते है, तब भी बहुत सा धन बिना खच॔ हुये बच जाता है।➰

➰एक चीनी बादशाह की मौत हुई। वो अपनी विधवा के लिये बैंक में 1.9 मिलियन डालर छोड़ कर गया। विधवा ने जवान नोकर से शादी कर ली। उस नोकर ने कहा, मैं हमेशा सोचता था कि मैं अपने मालिक के लिये काम करता हूँ, अब समझ आया कि वो हमेशा मेरे लिये काम करता था।➰

        *➰सीख?➰*

ज्यादा जरूरी है कि अधिक धन अज॔न कि बजाय अधिक जिया जाय।

• अच्छे व स्वस्थ शरीर के लिये प्रयास करिये।
• मँहगे फोन के 70% फंक्शन अनोपयोगी रहते है।
• मँहगी कार की 70% गति का उपयोग नहीं हो पाता।
• आलीशान मकानो का 70% हिस्सा खाली रहता है।
• पूरी अलमारी के 70% कपड़े पड़े रहते हैं।
• पुरी जिंदगी की कमाई का 70% दूसरो के उपयोग के लिये छूट जाता है।
• 70% गुणो का उपयोग नहीं हो पाता।

*➰तो 30% का पूण॔ उपयोग कैसे हो!➰*

• स्वस्थ होने पर भी निरंतर चेक-अप करायें।
• प्यासे न होने पर भी अधिक पानी पियें।
• जब भी संभव हो, अपना अहं त्यागें ।
• शक्तिशाली होने पर भी सरल रहेँ।
• धनी न होने पर भी परिपूण॔ रहें।

*➰बेहतर जीवन जीयें!➰*
    ☘🍃☘🍃☘🍃☘

काबू में रखें - प्रार्थना के वक़्त अपने दिल को!
काबू में रखें - खाना खाते समय पेट को!
काबू में रखें - किसी के घर जाएं तो आँखों को!
काबू में रखें - महफिल मे जाएं तो जबान को!
काबू में रखें - पराया धन देखें तो लालच को!

       ☘🍃☘🍃☘🍃☘

भूल जाएं - अपनी नेकियों को!
भूल जाएं - दूसरों की गलतियों को!
भूल जाएं - अतीत के कड़वे संस्मरणों को!

       ☘🍃☘🍃☘🍃☘

छोड दें - दूसरों को नीचा दिखाना!
छोड दें - दूसरों की सफलता से जलना!
छोड दें - दूसरों के धन की चाह रखना!
छोड दें - दूसरों की चुगली करना!
छोड दें - दूसरों की सफलता पर दुखी होना!

       ☘🍃☘🍃☘🍃☘

यदि आपके फ्रिज में खाना है, बदन पर कपड़े हैं, घर के ऊपर छत है और सोने के लिये जगह है, तो दुनिया के 75% लोगों से ज्यादा धनी हैं।

यदि आपके पर्स में पैसे हैं और आप कुछ बदलाव के लिये कही भी जा सकते हैं जहाँ आप जाना चाहते हैं, तो आप दुनिया के 18% धनी लोगों में शामिल हैं।

यदि आप आज पूर्णतः स्वस्थ होकर जीवित हैं, तो आप उन लाखों लोगों की तुलना में खुशनसीब हैं जो इस हफ्ते जी भी न पायें।

जीवन के मायने दुःखों की शिकायत करने में नहीं हैं, बल्कि हमारे निर्माता को धन्यवाद करने के अन्य हजारों कारणों में है!




.० कद्दू के औषधीय उपयोग


💫☘💫☘💫☘💫☘💫


      *🌴➰Eɴᴊᴏʏ EᴠᴇʀʏᴅᴀY➰🌴*

गुरुवार, 11 जुलाई 2019

कुछ उपयोगी जानकारी

❇ *सब बीमारी का एक इलाज*❇
〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰


गौमुञधनसत्व    20 gms 
गंधर्व हरितकी    350 gms 
अजवाइन.         20 gms 
मुलेठी               50 gms 
सौंठ.                20 gms 

उपर बताइ गइ सभी चिजे पंसारी से एवं गौमुञ धनसत्व ( गौमुञ भस्म) आपको कीसी गौशाला से प्राप्त होगी सभी को मिक्स करके चूरन बनाले| 
                     
रात्रि को सोते समय चम्मच पावडर एक गिलास पूरा गुनगुने पानी के साथ लेना है। 

गरम पानी के साथ ही लेना अत्यंत आवश्यक है लेने के बाद कुछ भी खाना पीना नहीं है। 

यह चूर्ण सभी उम्र के व्यक्ति ले सकतें है।
चूर्ण रोज-रोज लेने से शरीर के कोने-कोने में जमा पडी गंदगी(कचरा) मल और पेशाब द्वारा बाहर निकल जाएगी । 
पूरा फायदा तो 80-90 दिन में महसूस करेगें, जब फालतू चरबी गल जाएगी, नया शुद्ध खून का संचार होगा ।

 चमड़ी की झुर्रियां अपने आप दूर हो जाएगी। शरीर तेजस्वी, स्फूर्तिवाला व सुंदर बन जायेगा ।

❇ पाचनतंञ फिरसे मजबूत हो जायेगा | 

❇ गैस,ऐसीडीटी, दीर होगी | 

❇बालो का गीरनाॉ रुक जायेगा |

❇ शरिरमे खून बढ़ने लगेगा | 

❇ गठिया दूर होगा और गठिया जैसा जिद्दी रोग दूर हो जायेगा ।

❇ हड्डियाँ मजबूत होगी ।

❇ आॅख का तेज बढ़ेगा ।

❇ बालों का विकास होगा।

❇ पुरानी कब्जियत से हमेशा के लिए मुक्ति।

❇ शरीर में खुन दौड़ने लगेगा ।

❇ कफ से मुक्ति ।

❇ हृदय की कार्य क्षमता बढ़ेगी ।

❇ थकान नहीं रहेगी, घोड़े की तहर दौड़ते जाएगें।

❇ स्मरण शक्ति बढ़ेगी ।

❇ स्त्री का शरीर शादी के बाद बेडोल की जगह सुंदर बनेगा ।

❇ कान का बहरापन दूर होगा ।

❇ भूतकाल में जो एलाॅपेथी दवा का साईड इफेक्ट से मुक्त होगें।

❇ खून में सफाई और शुद्धता बढ़ेगी 

❇ शरीर की सभी खून की नलिकाएॅ शुद्ध हो जाएगी ।

❇ दांत मजबूत बनेगा, इनेमल जींवत रहेगा ।

❇नपुसंकता दूर होगी।

❇ डायबिटिज काबू में रहेगी, डायबिटीज की जो दवा लेते है वह चालू रखना है। इस चूर्ण का असर दो माह लेने के बाद से दिखने लगेगा । 


〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰

प्रदूषित होती नदिया(River) कही सभ्यताओं के अंत का संकेत तो नही

विश्व की तमाम सभ्यताएँ नदियों के किनारें पल्लवित हुई हैं,चाहे मेसोपोटोमिया हो या हड़प्पा यदि नदिया नही होती तो न ये सभ्यताएँ होती और ना ही...