Healthy lifestyle news सामाजिक स्वास्थ्य मानसिक स्वास्थ्य और शारीरिक स्वास्थ्य उन्नत करते लेखों की श्रृंखला हैं। Healthy lifestyle blog का यही उद्देश्य है व्यक्ति healthy lifestyle at home जी सकें

7 मार्च 2018

फ्रांस की क्रांति ,इसके कारण और परिणाम { what is Francis Revolution) #Cause#

#00.फ्रांस की क्रांति {French Revolution} •••••

फ्रांस की क्रांति सन् 1789 - 1799 ई.के मध्य फ्रांस के इतिहास में सामाजिक और राजनितिक उथल - पुथल की अवधि थी .
क्रांति का चित्र
 फ्रांस की क्रांति एक दृश्य

जिसके दोरान फ्रांस की सरकारी संरचना जो पहलें कैथोलिक पादरी और कुलीन वर्ग के लियें सामंतवादी विशेषाधिकारों और राजशाही पद्धति पर आधारित थी,में आमूल परिवर्तन हुआ और स्वतंत्रता, विधि सम्मत समानता,भातृत्व और नागरिकता पर आधारित हो गई.
 

#00.क्रांति के कारण (Causes of revolution) •••••


              //// सामाजिक कारण ////

##.फ्रांस का समाज 3 वर्गों में विभाजित था. जिन्हें एस्टेट़ कहा जाता था.
प्रथम एस्ट़ेट़ में केथोलिक पादरी ,दूसरें वर्ग में कुलीन ,वकील और 3 रे वर्ग में छोंट़े किसान,श्रमिक और छोट़ें व्यापारी सम्मिलित थें.

##.इन 3 एस्ट़ेट़ में से पहलें एस्ट़ेट़ को कुछ जन्मना अधिकार प्राप्त थें,जबकि तीसरा वर्ग जन्मना अभावग्रस्त था.

##.इस तीसरें एस्ट़ेट़ में उत्पन्न हुये अत्यंत प्रतिभाशाली लाँक,रूसों और मांटेस्क्यू ने समानता आधारित समाज का सपना देखा और इसके लियें आम जनता को प्रेरित किया.

##.मांटेस्क्यू की पुस्तक The sprit of laws ने समानता,भातृत्व के विचार फ्रांसीसी समाज में प्रसारित किये और क्रांति को अवश्यभांवी बना दिया.
मान्टेस्क्यू की किताब
 द स्परिट आफ लाज

##.महिलाएँ जो फ्रांसीसी समाज में दोयम दर्जें की नागरिक थी,इन्होंनें भी सामाजिक स्तरीकरण में ऊँचा स्थान प्राप्त करनें का प्रयास किया.


        //// आर्थिक कारण ////


##.फ्रांस का समाज महंगाई और करवृद्धि से परेशान था.

##.चर्च और पादरी वर्ग जो कुल जनसँख्या के मात्र 10% थे के पास कुल संपत्ति का 60% था,जबकि किसान और श्रमिक जो कुल जनसँख्या का 90% थे के पास कुल संपत्ति का 40% भाग ही था.इस व्यवस्था से श्रमिक और किसान वर्ग में असंतोंष पनपा और वे क्रांति की ओर उन्मुख हुयें.

##.पादरी और कुलीन वर्ग को करछूट़ जेसें जन्मजात अधिकार प्राप्त थें ,जबकि किसानों और श्रमिकों को नियमित कर टाइल (Tile) के अतिरिक्त चर्च को टाइथ (Tithe) भी देना पड़ता था.जिससे किसानों और श्रमिकों की आर्थिक  स्थिति शोचनीय हो गई.

##.लुई 16 वें ने फ्रांस को लगातार युद्धरत रखा जिससे फ्रांस की वित्तीय स्थिति विकट़ हो गई और जनता क्रांति के लियें प्रयासरत हो गई.

##.कड़ाके की ठंड़ की वज़ह से किसानों की फसल लगातार कई वर्षों तक नष्ट़ हो रही थी ,दूसरी और पादरी और कुलीन वर्ग अपनी ऐशोआराम की जीवनशैली के कारण आमजनता के मध्य प्रसिद्ध थे.



____________________________________________________________

●यह भी पढ़े👇👇👇

● सिन्धु घाटी सभ्यता


____________________________________________________________





                ////  राजनितिक कारण ////


##.लुई 16 वां फ्रांस के प्रशासन और राजनितिक व्यवस्था पर से पूर्णत:नियत्रंण खो चुका था.


                //// परिणाम ////


क्रांति के फलस्वरूप सामंतवादी और कुलीन वर्गों की सत्ता का अंत हो गया और सत्ता मज़दूर,किसान और उच्च मध्यम वर्गों के हाथों में केन्द्रित हो गई.

              //// क्रांति की विरासत ////


फ्रांसीसी क्रांति 19 वीं और 20 वीं शताब्दी में निम्न विरासत छोड़ गई

##. इंग्लैंड़, रूस,अमेरिका के नागरिकों ने फ्रांस की क्रांति से प्रेरणा ग्रहण कर क्रांति की.

##.स्वतंत्रता और जनवादी अधिकारों नें सम्पूर्ण विश्व से प्रेरणा ग्रहण की.

##.क्रांति के फलस्वरूप निरंकुश राजशाही  एंव सामंतवादी व्यवस्था का सम्पूर्ण विश्व में विरोध हुआ.

##.भारत में राजा राममोहन राय एँव टीपू सुल्तान ने फ्रांसीसी क्रांति से प्रेरणा ग्रहण कर क्रांति का सूत्रपात किया.

              //// फ्रांसीसी क्रांति के आदर्श ////

##.जनवादी अधिकार
##.स्वतंत्रता
##.विधि सम्मत समानता
##.भातृत्व

० यह भी पढ़ ले 👇👇👇



● पुनर्जागरण




कोई टिप्पणी नहीं:

Post Top Ad

Your Ad Spot

Pages

SoraTemplates

Best Free and Premium Blogger Templates Provider.

Buy This Template