शुक्रवार, 16 सितंबर 2016

kaishore gugul,कैशोर गुग्गुल, Trayodashanga gugul,त्रयोदशांग गुग्गुल

#कैशोर गुग्गुल (Kaishore gugul) :::


कैशोर गुग्गुल के बारें में एक प्रसिद्ध श्लोक वर्णन हैं,कि 

" कैशोरकाभिधानोsयं गुग्गुल: कान्तिकारक:"


 घट़क (content) :::


हरड़ (Terminalia chebula).

बहेड़ा (Terminal is bellerica).

आंवला (Emblica officinalis).

सौंठ (Zingiber officinale).

गिलोय (Tinospora cordifolia).

कालीमिर्च (piper nigrum).

पिपली (piper longum).

वायविड़ंग (Emblia robes).

निसोंठ (operculina turpethum).

दन्तीमूल ( Baliospermumm ontanum)

घृत (ghee).

शुद्ध गुग्गुल (commiphora makul).

रोगाधिकार (indication) :::




कुष्ठ      -     खैर क्वाथ या मंजिष्ठा क्वाथ के साथ


वातरक्त  -   मंजिष्ठा,गिलोय अथवा पंचतिक्त क्वाथ के साथ.


व्रण.      -  खैर क्वाथ के साथ.


प्रमेह ( Diabetes).     -  आंवला रस के साथ.


भगंदर.   -  त्रिफला क्वाथ के साथ.


मंदाग्नि   -  त्रिकटु के साथ .


कास.    -  मुनक्का व पीप्पली के साथ.


शोध.    -  पुनर्नवा,गोक्षरू क्वाथ के साथ.


#त्रयोदशांग गुग्गुल ( Trayodashan guggul) :::


घट़क (content) :::



अश्वगंधा ( Withania somnifera)


बबूल


हनुबेर


शतावरी (Asparagus racemosus)


गोखरू


विधारा 


रास्ना पत्ती


सौंफ


कपूर कचरी

यवानी


सोंठ (Zingiber officinale)


घी 


शटी


शुद्ध गुग्गुल (commiphora makul)

रोगाधिकार (indication) :::


कटिग्रह 

ग्रधसी (sciatica)

हनुग्रह

बाहुशूल 

जानू स्तंभ

योनिदोष 

० अस्थिभग्न

अस्थिवात 

मज्जावात 

स्नायुवात 

वातकफ शोध 

विद्रधी 

मात्रा :::


त्रिफला क्वाथ ,शहद ,लहसुन रस या दूध के साथ वैघकीय परामर्शानुसार.






० बिल्वादि चूर्ण








लेबल: ,

0 टिप्पणियाँ:

टिप्पणी पोस्ट करें

सदस्यता लें टिप्पणियाँ भेजें [Atom]

<< मुखपृष्ठ