रविवार, 23 फ़रवरी 2020

MR खसरा रूबैला टीकाकरण के बारें में पूछे जानें वालें सामान्य प्रश्नों के उत्तर

प्रश्न १ .खसरा रोग क्या हैं तथा यह कैसे फैलता हैं ?
मीजल्स खसरा रूबैला टीकाकरण
MR tikakaran


उत्तर = खसरा वायरस से फैलने वाला जानलेवा रोग हैं । खसरा रोग के कारण khasara rog ke karan बच्चों में विकलांगता या असमय मृत्यु हो सकती हैं ।


प्रश्न २.खसरा रोग कैसे फैलता हैं ?




उत्तर = खसरा  एक संक्रामक रोग sankramak rog हैं जो खसरा प्रभावित व्यक्ति के छींकनें ,खाँसने से फैलता हैं ।



प्रश्न ३.खसरा के लक्षण khasara KE lakshan क्या हैं ?


उत्तर = खसरे के लक्षण khasare KE lakshan निम्न हैं


१.चेहरें या शरीर पर गुलाबी लाल दानें या चकतें होना ।


२.अत्यधिक बुखार ।


३.खाँसी khansi


४.नाक बहना


५.आँखों का लाल होना




प्रश्न ४.खसरा - रूबैला टीकाकरण MR tikakaran किन - किन बीमारीयों से सुरक्षा प्रदान करता हैं ?




उत्तर ::: खसरा - रूबैला टीकाकरण MR tikakaran खसरा और रूबैला बीमारीयों से सुरक्षा प्रदान करता हैं ।


प्रश्न ५.यदि गर्भवती स्त्री को MR tikakaran से प्रतिरक्षित कर दिया जायें तो क्या होनें वाला बच्चा congenital rubella syndrome से सुरक्षित रहेगा ।


उत्तर = हाँ,यदि गर्भवती स्त्री को रूबैला के प्रति प्रतिरक्षित कर दिया हैं तो होनें वाला बच्चा congenital rubella syndrome से सुरक्षित रहेगा ।


प्रश्न ६.यदि बच्चे को M.R.टीकाकरण tikakaran पूर्व में लगाया जा चुका हैं तो क्या दोबारा M.R.tikakaran करवाया जा सकता हैं ?


उत्तर = हाँ, यदि बच्चों को पहले M.R.टीकाकरण M.R.tikakaran करवाया जा चुका हैं तो अतिरिक्त खुराक के रूप में टीकाकरण tikakaran करवाया जा सकता हैं । यह टीकाकरण आपके बच्चें को अतिरिक्त सुरक्षा प्रदान करता हैं । 


प्रश्न ७.M.R.tikakaran के बाद बच्चों में कुछ स्वास्थ्य संबधी नकारात्मक लक्षण दिख सकते हैं ?


उत्तर = कुछ सामान्य स्वास्थ्य संबधी नकारात्मक लक्षण दिखाई दे सकतें हैं जैसें चिंता व घबराहट परंतु इनसे ड़रने की आवश्यकता नही हैं ।




प्रश्न ८.खसरा रोग कितना गंभीर हो सकता हैं ?


उत्तर = पाँच वर्ष से कम के बच्चों और 20 वर्ष से अधिक उम्र के वयस्कों में खसरा जानलेवा सिद्ध हो सकता हैं क्योंकि इसके कारण होनें वाले अतिसार ,निमोनिया और मस्तिष्क के संक्रमण की वज़ह से मृत्यु हो सकती हैं ।



प्रश्न ९.खसरे का इलाज khasare ka ilaj हैं या नही ?



उत्तर = खसरे का इलाज khasare ka ilaj अब तक नहीं खोजा गया हैं ,सिर्फ टीकाकरण tikakaran द्धारा ही इससे बचाव किया जा सकता हैं ।



  
प्रश्न १०.खसरा पीड़ित व्यक्ति को क्या करना चाहियें ?


उत्तर =

१.आराम करना चाहियें ।

२.तरल पदार्थों का भरपूर सेवन करना चाहियें ।

३.बुखार को नियंत्रित करना चाहियें ।


४.मरीज को विटामीन A की दो खुराक दी जानी चाहियें ।


प्रश्न ११.रूबैला के लक्षण Rubbela KE lakshan क्या हैं ?


उत्तर =

१.बच्चों में खुजली 


२.कम डिग्री का बुखार 


३.मितली (उल्टी)


४.नेत्र शोध conjutivitis


५.कान के पिछे और गर्दन  सूजी हुई ग्रंथियाँ


६.वयस्कों विशेषकर महिलाओं में जोड़ों में दर्द 




प्रश्न १२.यदि कोई महिला  गर्भावस्था के प्रारंभ  में रूबैला वायरस से संक्रमित हो गई तो इसका क्या परिणाम होता हैं ?




उत्तर = गर्भावस्था की शुरूआत में रूबैला वायरस rubbela virus से संक्रमित हो गई स्त्री के बच्चोंं मेंं congenital rubella syndrome विकसित हो जाता हैं । जो की नवजात के लिये  बेहद गंभीर  और जानलेवा होता हैं ।



यह शिशु को जीवनभर के लिये विकलांग बना देता हैं ,जिसके उपचार शल्य क्रिया पर बहुत अधिक पैसा खर्च होता हैं ।

इस संक्रमण के कारण गर्भपात,premature डिलेवरी या मृत शिशु का जन्म हो सकता हैं ।



प्रश्न १३.जन्मजात रूबैला सिंड्रोम congenital rubbela syndrome क्या हैं ?


उत्तर = जन्मजात रूबैला सिंड्रोम रूबैला वायरस rubbela virus जनित रोग हैं । जिसके कारण बहुत से रोग जैसें आँखों में ग्लूकोमा  ,मोतियाबिंद ,कानों के रोग जैसें सुनने की शक्ति कम होना। मस्तिष्क के रोग जैसें माइक्रोसिफली,मानसिक विकास में अवरोध तथा ह्रदय के विकास को प्रभावित करनें वालें रोग होतें हैं ।


प्रश्न १४.रूबैला से बचाव rubbela se bachav के क्या तरीकें हैं ?


उत्तर = रूबैला से बचाव rubbela se bachav का अब तक ज्ञात एकमात्र तरीका टीकाकरण tikakaran ही हैं ।



प्रश्न १५.M.R.टीकाकरण tikakaran कहाँ किया जाता हैं?



उत्तर = M.R.tikakaran सभी सरकारी अस्पतालों , तथा आंगनवाड़ी में लगाया जाता हैं ।


प्रश्न १६.क्या M.R.टीकाकरण मुफ्त हैं ?


उत्तर = जी हाँ, M.R.टीकाकरण पूरी तरह से मुफ़्त हैं ।


प्रश्न १७.क्या M.R.vaccine के कोई दुष्प्रभाव ( side effects ) हैं ? 


उत्तर= M.R.vaccine बहुत सुरक्षित vaccine हैं जो पिछलें 40 वर्षों से दुनिया के करोड़ों बच्चों को दी जा रही हैं । यह vaccine विश्व स्वास्थ्य संगठन ( W.H.O.) के मापदंड़ों पर पूरी तरह खरा उतरा हैं ।



प्रश्न १८.M.R.टीकाकरण के लियें बच्चों की उम्र कितनी होना चाहियें ?


उत्तर = M.R.टीकाकरण के लिये बच्चों की उम्र 9 माह से 15 साल के मध्य होना चाहियें । इस आयु वर्ग के बच्चों को यह टीका पूरे जीवनकाल में मात्र एक बार ही दिया जाता हैं । 



प्रश्न १९.किन बच्चों का टीकाकरण नही किया जाना चाहियें ?


उत्तर = टीकाकरण करते समय रखी जानें वाली सावधानी tikakaran karte samay rkhi Jane wali savdhani


1.जिन बच्चों को बुखार हो उनका टीकाकरण नहीं किया जायें ।

2.जिन बच्चों को बच्चों को गंभीर बीमारी जैसें बेहोशी ,दौरे पड़ना आदि हो उनका टीकाकरण नही करना चाहियें ।


3.जिन बच्चों को पहले लगे टीकों से कोई गंभीर एलर्जी की शिकायत हुई हो।


प्रश्न २०.M.R.टीकाकरण होनें के बाद क्या सावधानी रखनी चाहियें ?


उत्तर = बच्चे का टीकाकरण हो जानें के बाद उसे शांत और प्रशन्न रखे ।


उसे आरामदायक महसूस हो ऐसा वातावरण निर्मित  करें ।


हल्का नाश्ता - पानी उसे दें ।


यदि बच्चा टीकाकरण के बाद ज्यादा कमज़ोर थका हुआ महसूस करें तो नजदीकी स्वास्थ्य केन्द्र या ए.एन.एम.को सूचना दें। इस अंतराल में बच्चें को लिटा दें और उसके पैरों को थोड़ा ऊँचा कर दें ।


m.r.टीकाकरण
 टीकाकरण के बाद की सावधानी

 


प्रश्न २१.क्या M.R.टीकाकरण नियमित टीकाकरण का हिस्सा हैं ?


उत्तर = वर्तमान में m.r.टीकाकरण स्कूलों तथा आउटरिच सत्रोंं में प्रारंभ किया गया हैैं । जिसे बाद


में नियमित टीकाकरण का हिस्सा बनाया जायेगा ।



० पंचनिम्ब चूर्ण


० रोटावायरस टीकाकरण


० होली पर्व स्वास्थ्य का पर्व



० पारस पीपल के औषधीय गुण




० लक्ष्मीविलास रस नारदीय के फायदे





० तनाव क्या हैं



० योग क्या हैं





० शास्त्रों में लिखे तेल के फायदे


Disqus Comments

हर्ड इम्यूनिटी :: क्या कोरोनावायरस से बचाव का सही तरीका यही है

हर्ड इम्यूनिटी :: क्या कोरोनावायरस से बचाव का सही तरीका यही है ?  हर्ड इम्यूनिटी भारत समेत पूरी दुनिया कोरोनावायरस से पीड़ित ह...