बुधवार, 11 सितंबर 2019

मुलेठी (mulethi) के अनसुने सेहत सुधारनें वाले उपयोग

*मुलेठी एक अनमोल औषधी*
☘☘☘☘☘☘☘☘☘☘☘



🌷 दोस्तो नमस्कार, मुलेठी की जडे ज्यादातर उपयोग मे लि जाती है जिनको *मुलेठी, मुलहठी, यष्टीमधु, जेढीमध* के नामसे भी जानां जातां है मुलेठी के चमत्कारीक फायदे जानने के लिये लेख पुरां पढे़. 

☘ *कफ- खांसी,गले मे खराश*☘
〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰
⚛ १ चम्मच मुलेठी का चूरन १ चम्मच शहद मे मिक्स करके सुबह नास्ते के बाद लिजिये | 

☘ *दिल के रोगो मे* ☘
〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰
⚛ १-१ चम्मच सुबह शाम गुनगुने पानी से  नास्तेके बाद लेने से काफी राहत मिलती है | 

☘ *फोडे- फुन्सी*☘
〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰
⚛ शहद के साथ मुलेठी का चुरन को मिक्स करके लगाने से ढिक होते है | 

☘ *लिवर के रोग* ☘
〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰
⚛ १ चम्मच सुबह खाने के बाद लेने से लिवर के रोगो से बचा जा सकतां है | 

☘ *खून बढा़ये* ☘
〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰
⚛ आधा ग्राम सुबह लेने से खून मे व्रृद्धि होती है | 

☘ *जलजाने पर* ☘
〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰
⚛ मुलहठी आैर चंदन को समान लेकर गायके धी के साथ मिलाकर लैप करने से जलन दूर होती है | 

☘ *खिल- मुंहासे* ☘
〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰
⚛ मुलेठी + चंदन को मिक्स करके गुलाबजल के साथ मिक्स करके लैप करने से खिल मुंहासे दूर होते है| 

☘ *मुंह कै छाले* ☘
〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰
⚛ १ चम्मच मुलेठी का चूरन सुबह १ कप दूध मे मिलाकर लिजिये एवं मुलेठी का चूरन को पानी मे डालकर मुंह मे भरकर कुल्ले करने से ढिक हो जाते है | 

☘ *पित्त वृद्धि* ☘
〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰
⚛ मुलहठी+ शतावर जड को बकरी के दूध या गायके दूध या गुनगुने पानी  के साथ लिजिये १ चम्मच सुबह -शाम | 

☘ *आंखो की रोशनी बठाने*☘
〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰
⚛ मुलेठी + शतावरजड  का चूरन मिक्स करके १ चम्मच चूरन +२ चम्मच गायका धी के साथ लेने से नंबर कम होता है रोशनी बढ़ती है | 

☘ *गांठ* ☘
〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰
⚛ हल्दी + मुलेठी + शहद को मिक्स करके लैप करने ये कीसी भी प्रकार की गांठ दूर होती है | 

☘ *ऐचआइवी-ऐड्स* ☘
〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰
☘ मुलेठी + अश्वगंधा+ शतावर जड का चूरन १ चम्मच सुबह शाम लेने से रोग प्रतिकार शकित बढ़ती है | 

☘ *पेट का अल्सर* ☘
〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰
⚛ सौंफबिज + गिलोय + मुलेठी को मिक्स करके सुबह शाम १-१ चम्मच लेने से पेट का अल्सर ठिक होता है | 

☘ *शुक्राणु की कमी* ☘
〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰
मुलेठी + अश्वगंधा + बबुल की फली + इनसे तिन गुनां मिश्री मिक्स करके सुबह शाम १-१ चम्मच दूध के साथ लेने से ताकत आती है , शुक्राणु मे व्रृद्धि होती है | 

☘ *वाइरल फिवर* ☘
〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰
मुलेठी + निम के पत्ते + हल्दी को मिक्स करके शहद के साथ १-१ चम्मच सुबह शाम लेने से फिवर दूर होतां है | 


० केले के औषधीय प्रयोग


० गिलोय के फायदे


० पलाश वृक्ष के औषधीय गुण


० पारस पीपल के औषधीय गुण


० पंचनिम्ब चूर्ण


० प्याज के औषधीय उपयोग


० तेल के हेरान कर देनें वाले फायदे



० अश्वगंधा



० लक्ष्मीविलास रस नारदीय के फायदे



० रूमेटाइड आर्थराइटिस


❇❇❇❇❇❇❇❇❇❇❇

कोई टिप्पणी नहीं:

Laparoscopic surgery kya hoti hai Laparoscopic surgery aur open surgery me antar

Laparoscopic surgery kya hoti hai लेप्रोस्कोपिक सर्जरी सर्जरी की एक अति आधुनिक तकनीक हैं। जिसमें सर्जरी के लिए बहुत बड़े चीरें की जगह ...