शुक्रवार, 26 अगस्त 2016

गंगाधर चूर्ण,बालचतुर्भुज चूर्ण, पंचकोल चूर्ण

#गंगाधर चूर्ण :::

घट़क :::

० नागरमोथा.
० सोंठ.
० धवई फूल.
० सेन्धा नमक.
० लोध्र.
० कूड़ा छाल.
० बेलमज्जा.
० मोचरस.
० पाण.
० इन्द्रयव.
० नेत्रवला.
० आमगुठली.
० अतीस.
० लज्जालू बीज.

#रोगाधिकार या गंगाधर चूर्ण के उपयोग :::

० प्रवाहिका.
० अतिसार.
० ग्रहणी.

#मात्रा :::

शहद या चावल के पानी के साथ वैघकीय परामर्श से.

#बालचतुर्भुज चूर्ण :::

घट़क :::

० नागरमोथा.
० पिपली.
० अतिविषा.
० काकड़ासींगी.

#रोगाधिकार या बालचतुर्भुज चूर्ण के उपयोग :::

० अतिसार.
० कास.
० श्वास.
० ज्वर.
० बालरोग.

#मात्रा :::

शहद या जल के साथ वैघकीय परामर्शानुसार.

#पंचकोल चूर्ण :::


घट़क :::

० पीपली.
० चव्य.
० सोंठ.
० पीपरामूल.
० चितृक.

#रोगाधिकार या पंचकोल चूर्ण के उपयोग :::


० अपच.
० उदररोग.
० लीवर से संबधित समस्याओं में.
० भूख कम लगना.

#मात्रा :::

० जल या शहद के साथ वैघकीय परामर्शानुसार.

x

कोई टिप्पणी नहीं:

प्रदूषित होती नदिया(River) कही सभ्यताओं के अंत का संकेत तो नही

विश्व की तमाम सभ्यताएँ नदियों के किनारें पल्लवित हुई हैं,चाहे मेसोपोटोमिया हो या हड़प्पा यदि नदिया नही होती तो न ये सभ्यताएँ होती और ना ही...