सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Homeopathy medicine for emergency uses in hindi

 Homeopathy medicine for emergency uses in hindi



मित्रों हमारा उद्देश्य आपकों निरोगी healthy रखना हैं। इसी तारतम्य में हम आपकों हर वो जानकारी उपलब्ध कराते हैं जो आपके स्वास्थ के लिए जरूरी हैं ।

 तो आईए जानतें हैं आज कुछ महत्वपूर्ण Homeopathy medicine for  emergency uses in hindi के बारें में ।जो आप अपने घर में रखकर emergency में प्रयोग कर सकतें हैं, लेकिन यह जाननें से पहले हम होम्योपैथी चिकित्सा का थोड़ा सा परिचय प्राप्त कर लेतें हैं ।
मित्रों हमारा उद्देश्य आपकों निरोगी healthy रखना हैं। इसी तारतम्य में हम आपकों हर वो जानकारी उपलब्ध कराते हैं जो आपके स्वास्थ के लिए जरूरी हैं । तो आईए जानतें हैं आज कुछ महत्वपूर्ण Homeopathy emergency medicine in hindi के बारें में ।
Homeopathy



होम्योपैथी चिकित्सा के जनक जर्मनी के डाँ.सैम्युअल हैनीमन हैं। ये एक एलोपैथिक चिकित्सक थे किंतु मानव समाज को निरापद चिकित्सा उपलब्ध करानें की लालसा ने इन्हें होम्योपैथी जैसी निरापद चिकित्सा की खोज करने के लिए प्रोत्साहित किया ।और सन् 1796 में डाँ.सैम्युअल हैनीमन ने होम्योपैथी चिकित्सा का प्रादुर्भाव किया ।

डाँ.सैम्युअल हैनीमन का जन्म सन् 1755 ईस्वी में जर्मनी के मीसेन शहर में हुआ था । इन्होनें  होम्योपैथी चिकित्सा का सिद्धांत प्रतिपादित किया जो कि सम:सम्म शमयति 
के नाम से विश्व विख्यात हुआ । 
इस सिद्धांत के अनुसार एक स्वस्थ शरीर में जो पदार्थ बीमारी उत्पन्न करतें हैं वही पदार्थ उसी लक्षण वाली बीमारी को ठीक कर सकता हैं । 

तो आईए मित्रों जानतें हैं Homeopathy emergency medicine in hindi के बारें में 

• पेटदर्द के लिए Homeopathy emergency medicine


• कोलोसिन्थेसीस ---- 30 Potency ----5 से 6 गोली 

• डायस्कोरिया ---- 30 Potency --- 5 से 6 गोली

• दस्त होनें पर Homeopathy emergency medicine


• नक्स वोमिका ---- 30 Potency--- लक्षणों की गंभीरता के आधार पर 5 से 6 गोली

• पोडोफायलम ----- 30 Potency--- 5 से 6 गोली

• वेराइट्रम एल्बम --- 30 Potency --- 5 से 6 गोली

० बायोकाम्बिनेशन नम्बर 1 से 28 तक


• पेचिस होनें पर Homeopathy emergency medicine


• मर्कसाल ---- 30 Potency --- 5 से 6 गोली

• मर्ककार  ---- 30 Potency --- 5 से 6 गोली

• काल्चिकम ----30 Potency --- 5 से 6 गोली


• कब्ज के लिए Homeopathy emergency medicine


• सल्फर ----30 Potency --- 5 से 6 गोली

• ऐल्यूमिना ----30 Potency --- 5 से 6 गोली

• नक्स वोमिका----30 Potency --- 5 से 6 medicine

• सर्दी जुकाम के लिए Homeopathy emergency medicine



• एकोनाइट ----30 Potency --- 5 से 6 गोली

• आर्सेनिक एल्बम ----30 Potency --- 5 से 6 गोली

• एलियम सीपा ----30 Potency --- 5 से 6 गोली


• सिरदर्द के लिए Homeopathy emergency medicine



• सेंग्यूनेरिया ----30 Potency --- 5 से 6 गोली

• स्पाइजेलिया ----30 Potency --- 5 से 6 गोली

• बेलाडोना ----30 Potency --- 5 से 6 गोली


• खाँसी के लिए Homeopathy emergency medicine



• मर्कसाल ----30 Potency --- 5 से 6 गोली

• रियूमेक्स ----30 Potency --- 5 से 6 गोली


• हायोसियामस ----30 Potency --- 5 से 6 गोली


• लू लगना Homeopathy emergency medicine


• ग्लोनाईन  ----30 Potency --- 5 से 6 गोली

• नेट्रमम्यूर  ----30 Potency --- 5 से 6 गोली

• बेलाडोना ----30 Potency --- 5 से 6 गोली

• दांतदर्द के लिए Homeopathy emergency medicine


• मर्कसाल  ----30 Potency --- 5 से 6 गोली

• प्लान्टेगो मदर टिंचर - बाह्य प्रयोगार्थ

• कैमोमिला  ----30 Potency --- 5 से 6 गोली

• आँखों में दर्द के लिए Homeopathy emergency medicine


• एकोनाइट  ----30 Potency --- 5 से 6 गोली

• यूफ्रेसिया  ----30 Potency --- 5 से 6 गोली

• बेलाडोना  ----30 Potency --- 5 से 6 गोली

• कान दर्द के लिए Homeopathy emergency medicine



• बेलाडोना  ----30 Potency --- 5 से 6 गोली

• मर्कसाल  ----30 Potency --- 5 से 6 गोली

• कैमोमिला  ----30 Potency --- 5 से 6 गोली


• बच्चों की दाँत निकलने की तकलीफ़ में Homeopathy emergency medicine


• केल्केरियाफाँस ---- 6 एक्स -- 5 से 6 गोली प्रतिदिन

• कैमोमिला  ----30 Potency --- 5 से 6 गोली

• टांसलाइटिस के लिए Homeopathy emergency medicine


• मर्क बिन आयोड  ----30 Potency --- 5 से 6 गोली

• फायटोलक्का  ----30 Potency --- 5 से 6 गोली

• बेलाडोना  ----30 Potency --- 5 से 6 गोली


• सामान्य बुखार के लिए Homeopathy emergency medicine


• एकोनाइट  ----30 Potency --- 5 से 6 गोली

• बेलाडोना  ----30 Potency --- 5 से 6 गोली

• ब्रायोनिया  ----30 Potency --- 5 से 6 गोली


• मलेरिया बुखार के लिए Homeopath emergency mediciney


 • मलेरिया आँफ----200 Potency --- 5 से 6 गोली

• प्रिविऐंटिव चिनिनम  सल्फ  ----200 Potency --- 5 से 6 गोली

• टाइफाइड़ ज्वर  ----200 Potency --- 5 से 6 गोली

• बैप्टीसिया  ----30 Potency --- 5 से 6 गोली


• चिकनगुनिया के लिए Homeopathy emergency medicine


• इपीटोरियम पर्फ  ----200 Potency --- 5 से 6 गोली


• रोग प्रतिरोधक क्षमता में बढोतरी के लिए Homeopathy emergency medicine


• आर्सेनिक एल्बम  ----200 Potency --- 5 से 6 गोली सप्ताह में एक बार

• जस्टीसिया मदर टिंचर - 10 बूंद गुनगुनें जल के साथ सप्ताह में एक बार 


[नोट - उपरोक्त जानकारी आयुष विभाग के अनुसार हैं होम्योपैथिक दवाई लेनें से पूर्व चिकित्सक से परामर्श अवश्य कर लें ]
 

यहां भी पढें

बाख फ्लावर रेमेडीज या Batch flower remedy


भारत में होम्योपैथी चिकित्सा पद्धति की शुरुआत कब हुई?



 बच्चों में दांत निकलते समय होने वाली शारीरिक समस्या और होम्योपैथिक दवाएं


























 

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

गेरू के औषधीय प्रयोग

गेरू के औषधीय प्रयोग गेरू के औषधीय प्रयोग   आयुर्वेद चिकित्सा में कुछ औषधीयाँ सामान्य जन के मन में  इतना आश्चर्य पैदा करती हैं कि कई लोग इन्हें तब तक औषधी नही मानतें जब तक की इनके विशिष्ट प्रभाव को महसूस नही कर लें । गेरु भी उसी श्रेणी की   आयुर्वेदिक औषधी   हैं। जो सामान्य मिट्टी   से   कहीं अधिक   इसके   विशिष्ट गुणों के लिए जानी जाती हैं। गेरु लाल रंग की मिट्टी होती हैं। जो सम्पूर्ण भारत में बहुतायत मात्रा में मिलती हैं। इसे गेरु या सेनागेरु कहते हैं। गेरू आयुर्वेद की विशिष्ट औषधी हैं जिसका प्रयोग रोग निदान में बहुतायत किया जाता हैं । गेरू का संस्कृत नाम  गेरू को संस्कृत में गेरिक ,स्वर्णगेरिक तथा पाषाण गेरिक के नाम से जाना जाता हैं । गेरू का लेटिन नाम  गेरू   silicate of aluminia  के नाम से जानी जाती हैं । गेरू की आयुर्वेद मतानुसार प्रकृति गेरू स्निग्ध ,मधुर कसैला ,और शीतल होता हैं । गेरू के औषधीय प्रयोग 1. आंतरिक रक्तस्त्राव रोकनें में गेरू शरीर के किसी भी हिस्से में होनें वाले रक्तस्त्राव को कम करने वाली सर्वमान्य औषधी हैं । इसके लिय

टीकाकरण चार्ट [vaccination chart] और संभावित प्रश्न

 टीकाकरण चार्ट # 1.गर्भावस्था के समय टीकाकारण ::: गर्भावस्था की शुरूआत में Titnus का पहला टीका टी.टी - 1. टी.टी -1 के चार सप्ताह बाद टी.टी.-2 यदि पिछली गर्भावस्था में टी.टी - 2 दिया गया हैं,तो केवल बूस्टर दीजिए. # टीके की मात्रा ,कैसें और कहाँ दें 0.5 ml.मात्रा प्रशिक्षित व्यक्ति द्धारा ऊपरी बांह की मांसपेशी में. # महत्वपूर्ण गर्भावस्था के 36 सप्ताह हो गयें हो तो मात्र टी.टी.- बूस्टर देना चाहियें.  टीकाकरण का दृश्य # 2.शिशुओं के लियें टीकाकरण  #जन्म के समय ::: 1. B.C.G.  =     0.1 ml बाँह पर त्वचा के निचें. 2.हेपेटाइटिस बी.=  0.5 ml मध्य जांघ के बाहरी हिस्सें पर मांसपेशी में 3.o.p.v.या oral polio vaccine = दो बूँद मुहँ में . ०  जानिये पोलियो क्या होता हैं ? #6 सप्ताह पर ::: 1.हेपेटाइटिस बी. = 0.5 ml 2.D.P.T. = 0.5 ml मध्य जांघ का बाहरी हिस्सें में माँसपेशियों में. 3.o.p.v.या oral polio vaccine. #10 सप्ताह पर ::: 1.हेपेटाइटिस बी. 2.D.P.T. 3.o.p.v. #14 सप्ताह पर ::: 1.हेपेटाइटिस बी. 2.D.P.T. 3.o.p.v.   #9 से 12 माह

काला धतूरा के फायदे और नुकसान kala dhatura ke fayde aur nuksan

धतूरा भगवान शिव का प्रिय पौधा है। भगवान शिव धतूरा अपने मस्तिष्क पर धारण करते हैं और जो लोग धतूरा भगवान शिव को अर्पण करते थे वे उन्हें मनचाहा आशीष प्रदान करते हैं। धतूरा भी कई प्रकार का होता है जैसे काला धतूरा, सफेद धतूरा, पीला धतूरा आदि। आज हम आपको "काला धतूरा के फायदे और नुकसान kala dhatura ke fayde aur nuksan" के बारे में बताएंगे।  काला धतूरा के फायदे और नुकसान आयुर्वेद आयुर्वेद चिकित्सा में काला धतूरा बहुत महत्वपूर्ण औषधि के रूप में बहुत लंबे समय से इस्तेमाल हो रहा है । धतूरा बहुत ही जहरीला फल होता है , प्रकृति में गर्म और भारी होता है। काला धतूरा का वैज्ञानिक नाम काला धतूरा का वैज्ञानिक नाम धतूरा स्ट्रामोनियम DHATURA STRAMONIUM है । अंग्रेजी में इसे डेविल्स एप्पल Devil's apple, डेविल्स ट्रम्पेट Devil's trumpet के नाम से जाना जाता है। संस्कृत में इसे दस्तूर, मदन, उन्मत्त ,शिव प्रिय महामोधि, कनक आदि नाम से जानते हैं। काला धतूरा की पहचान कैसे करें  काला धतूरा के पत्ते नोक दार ,डंठल युक्त और बड़े आकार के होते हैं। काला धतूरा के फूल घंटी