रविवार, 4 अक्तूबर 2020

कोरोना वायरस से जुड़ी ख़बरें : रिपोर्ट नेगेटिव आनें के बाद भी मौतें

 कोरोनावायरस से संक्रमित ऐसे मरीज जिनकी कोरोनावायरस रिपोर्ट नेगेटिव यानि RT PCR TEST नेगेटिव आ रहा है, किंतु शरीर से संक्रमण समाप्त नहीं हो रहा हैं और इसके बाद मरीज की मौत हो रही हैं। यह परिस्थिति चिकित्सा विज्ञानियो के लिए बहुत हैरत पैदा कर रही हैं।



पिछले कई दिनों से ऐसे मामले लगातार बढ़ रहे हैं जिसमें पहले से अस्थमा, मधुमेह, ह्रदय रोग, किडनी रोग से प्रभावित कोरोना मरीज कोरोना से तो स्वस्थ्य हो गया लेकिन कुछ दिनों के पश्चात उसकी मौत हो जाती हैं । विशेषज्ञों के मुताबिक ऐसा इसलिए हो रहा है क्योंकि कोरोनावायरस से पीड़ित रहने के दौरान शरीर का oxygen level बहुत कम हो जाता हैं और लगातार बहुत दिनों तक oxygen level कम होने से पूर्व की बीमारियों से पीड़ित अंग जैसे ह्रदय, किडनी,श्वसन तंत्र, आदि की कार्यक्षमता कम हो जाती हैं अतः मरीज corona से स्वस्थ्य होनें के बाद भी multiple organ failure के कारण मौत के आगोश में समा रहे हैं ।



कोरोनावायरस से ठीक होनें के बाद भी होने वाली मौत किन बीमारियों से हो रहीं हैं


कोरोनावायरस से ठीक होने के बाद भी होने मौतें निम्न कारणों से हो रही हैं 


रेस्पीरटरी फेल्युर


कोरोनावायरस से पीड़ित रहने के पूर्व जिन मरीजों को अस्थमा,cronic obstacle pulmonary disease, pneumonia की समस्या थी उनके फेफड़ो की कार्यक्षमता आक्सीजन की कमी से इतनी कमज़ोर हो जाती हैं कि मरीज को अचानक   Respiratory failure हो जाता हैं और कुछ ही समय में उसकी मौंत हो जाती हैं ।




Heart attack



पहले से ह्रदय रोग से ग्रस्त व्यक्ति के ह्रदय का बहुत बड़ा हिस्सा यदि आक्सीजन की कमी से क्षतिग्रस्त हो जाता हैं या ह्रदय की कुछ कार्यप्रणाली कमज़ोर हो जाती हैं तो व्यक्ति heart attack आ जाता हैं ।



Chronic renal failure



कोरोनावायरस से प्रभावित व्यक्ति यदि किडनी संबंधित बीमारी से पीड़ित हैं तो शरीर में आक्सीजन का स्तर कम होनें से किडनी पर दबाव पड़ता है फलस्वरूप व्यक्ति की रिपोर्ट नेगेटिव आनें के बाद भी किडनी संबंधित बीमारी गंभीर रूप धारण कर लेती हैं ।



कान्वलेसेंट प्लाज्मा थैरेपी




<script type="text/javascript">amzn_assoc_ad_type ="responsive_search_widget"; amzn_assoc_tracking_id ="healthylif0ff-21"; amzn_assoc_marketplace ="amazon"; amzn_assoc_region ="IN"; amzn_assoc_placement =""; amzn_assoc_search_type = "search_widget";amzn_assoc_width ="auto"; amzn_assoc_height ="auto"; amzn_assoc_default_search_category =""; amzn_assoc_default_search_key ="";amzn_assoc_theme ="light"; amzn_assoc_bg_color ="FFFFFF"; </script><script src="//z-in.amazon-adsystem.com/widgets/q?ServiceVersion=20070822&Operation=GetScript&ID=OneJS&WS=1&Marketplace=IN"></script>





लेबल:

0 टिप्पणियाँ:

टिप्पणी पोस्ट करें

सदस्यता लें टिप्पणियाँ भेजें [Atom]

<< मुखपृष्ठ