रविवार, 11 अक्तूबर 2015

MUSCLE BUILDING

#1.शरीर सोष्ठव::-

आज के युवा वर्ग का सपना अच्छे केरियर के अलावा स्वस्थ और मज़बूत तन भी बनता जा रहा हैं.और इस प्रवृत्ति को बढ़ानें में अभिनेता अभिनेत्रियों ने विशेष योगदान दिया हैं.हर युवा व्यायाम को छोड़ इन्हीं अभिनेताओं द्वारा प्रचारित महँगें -महँगें फूड़ सप्लीमेंट़ का उपयोग कर मज़बूत तन प्राप्त करना चाहता हैं.

फूड़ सप्लीमेंट़ का उपयोग लम्बें समय तक करतें रहनें से कभी कभी शरीर कई दूसरी समस्या की गिरफ़्त में आ जाता हैं,अधिकाँशत: यह भी देखनें में आता हैं,कि फूड़ सप्लीमेंट़ बंद कर देने पर शरीर पहलें वाली स्थिति से भी कमजोर हो जाता हैं.

#2 आयुर्वैद और योग की भूमिका::-

प्राचीन काल से ही योग और आयुर्वैद ने मनुष्य के शरीर को मज़बूत बनाने के लिये विशेष कार्य किया हैं,और आज भी इस भूमिका का बखूबी निर्वहन कर रहा किन्तु कुछ लोगों  ने आयुर्वैद के नाम पर स्टेराइड़ को बेचकर लोगों को भ्रमित किया हैं.
आईयें जानतें है स्वस्थ शरीर के निर्माण में योग और आयुर्वैद की भूमिका

#१.अश्वगंधा चूर्ण को गोघ्रत में मिलाकर इससे सम्पूर्ण शरीर पर मालिश करें और दस मिनिट तक धूप में बेठें तत्पश्चात स्नान करें लम्बी उम्र के साथ मज़बूत शरीर की गारन्टी हैं.

#२. रात में सिद्ध मकरध्वज को दूध में मिलाकर उबाले सुबह उठने पर इस दूध का सेवन करें माँसपेशियों को मज़बूत करनें का अचूक नुस्खा हैं.
#३. लोहासव और द्राछासव को  दो दो चम्मच मिलाकर सुबह शाम सेवन करनें से माँसपेशियाँ समान रूप में बनी रहती हैं.

योगिक क्रियाएँ::-

#१.हंसासन,सूर्य नमस्कार, शीर्षासन करते रहनें से शरीर मज़बूत बनता हैं.
#२.शरीर को स्ट्रेच करनें वाले व्यायाम करते रहना चाहियें.
#३. योगिक जांगिग करें.
#४. यदि तैरना आता हो और तेरनें की सुविधा हो तो नियमित रूप से तेरना चाहियें माँसपेशियों की मज़बूती का सबसे अच्छा व्यायाम हैं.

Svyas845@gmail.com


कोई टिप्पणी नहीं:

प्रदूषित होती नदिया(River) कही सभ्यताओं के अंत का संकेत तो नही

विश्व की तमाम सभ्यताएँ नदियों के किनारें पल्लवित हुई हैं,चाहे मेसोपोटोमिया हो या हड़प्पा यदि नदिया नही होती तो न ये सभ्यताएँ होती और ना ही...