24 फ़र॰ 2021

बागपत के आंइस्टीन चाचा,Bagpat ke Einstein chacha

 बागपत के आंइस्टीन चाचा,Bagpat ke Einstein chacha


तो भाई और बहनों, दुनिया क्या याद रखेगी अल्बर्ट आइंस्टीन को अब तो हमारें अपने बागपत ने भी दुनिया को आंइस्टीन दे दिया है,और हां हमारे आंइस्टीन चाचा पिछले दो-तीन दिनों में ही पैदा हुए हैं।😂
बागपत की लड़ाई, आंइस्टीन चाचा
आंइस्टीन चाचा



विडियो में हमारे आंइस्टीन चाचा ने पानीपत की लड़ाई को भी मात देकर "बागपत की लड़ाई"🤼 का जो आविष्कार किया है उसके चर्चे तो बर्लिन तक हो रहें हैं ।

आंइस्टीन चाचा ने बागपत की लड़ाई में जिन शस्त्रों🦯 का प्रयोग किया हैं अब उन शस्त्रों की राष्ट्रीय कीमत बढ़ चुकी है सरकार को चाहिए कि अविलंब इन शस्त्रों को राष्ट्रीय संग्रहालय में रखवाने की व्यवस्था करें ।😂😂😂


हमारे आंइस्टीन चाचा उर्फ हरिंदर सिंह ने बागपत की लड़ाई में जिन तरीकों से अपने प्रतिद्वंद्वीयों को धरती दिखाई है, उन तरीकों को अपनाकर ओलम्पिक में कोई खेल बनना चाहिए ये हमारी राष्ट्रीय मांग है। और हां हम ओलम्पिक कमेटी को ये भी बताना चाहते हैं कि यदि हमारी मांग पर गंभीरतापूर्वक विचार नहीं किया गया तो हर शहर में बागपत की लड़ाई की भांति डंडों,बैलनो, चिमटों,गैस के लाइटरो  से लड़ाई लड़ी जाएगी और ओलम्पिक कमेटी को यह दिखाया जाएगा कि आप बागपत की लड़ाई को ओलम्पिक में स्थान नहीं दोगे तो जहां जहां ओलम्पिक खेलों का आयोजन होगा हम वहां वहां बागपत करेंगें ।


हमारें मासूम आंइस्टीन चाचा ने बागपत को बर्लिन तक जो पहचान दिलाई हैं उसे देखते हुए जिस स्थान पर बागपत की लड़ाई लड़ी गई है उस स्थान को भी सरकार को पर्यटन केंद्र के रुप में विकसित करना चाहिए ताकि देश के भावी बच्चों को बागपत की लड़ाई में आंइस्टीन चाचा के जो बाल बलिदान हुए हैं उनका महत्व बताया जा सकें और जो बच्चें आंइस्टीन चाचा के नक्शे कदम पर चलना चाहते हैं उन्हें बागपत की लड़ाई की भांति लड़ाई लड़ने की प्रेरणा मिल सकें ।



बर्लिन के लोग आंइस्टीन को अपने देश का बताकर गोरान्वित महसूस करते हैं अब बागपत के लोग भी ये सीना ठोककर बोल सकते हैं रोड़ पर नागिन डांस🐍 🤸🏊की तरह नाचकर प्रतिद्वंद्वीयों पर वार करनें वाला जिन्दा आंइस्टीन चाचा हमारे पास है। 


आंइस्टीन चाचा की नागिन डांस करते हुए प्रतिद्धिंयों पर हमला करने वाली बड़ी सी प्रतिमा देश विदेश के हर चौराहों पर स्थापित करवाना देश की हर पार्टी का राष्ट्रीय धर्म हैं ।और देश की हर पार्टी को अविलंब इस पुनित कार्य क लिए संसद में बिल पास करवाना चाहिए ।


अंत में एक बात और कहना चाहता हूं  आंइस्टीन चाचा चाट 🧆🧆🧆के लिए बागपत की लड़ाई कर सकते हैं तो अब ये सोच लो कहीं मोर्चें पर तैनात हो गये तो ...... समझने वाले को इशारा काफी हैं । 







कोई टिप्पणी नहीं:

टाप स्मार्ट हेल्थ गेजेट्स इन हिंदी। Top smart health gadgets

Top smart health gadgets।टाप स्मार्ट हेल्थ गेजेट्सस इन हिंदी  कोरोना काल में स्वास्थ्य सुविधाओं पर जितना दबाव पैदा हुआ उतना शायद किसी भी काल...