सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

मध्यप्रदेश उच्च न्यायालय जबलपुर में सरकारी नौकरी हेतू निकली सरकारी भर्ती

जबलपुर ।। M.P.high court vacancy,mphc vacancy

मध्यप्रदेश उच्च न्यायालय जबलपुर अन्तगर्त विधिक मध्यप्रदेश राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण (M.P.S.L.S.A.) में निज सचिव ,कम्प्यूटर आपरेटर और सहायक ग्रेड़ - 3 के नियमित Regular पदों पर देशभर के अभ्यर्थीयों हेतू भर्ती परीक्षा - 2020 का आयोजन करनें जा रहा हैं ,जिसकी विस्तृत  जानकारी निम्न हैं।


उम्मीदवार मध्यप्रदेश उच्च न्यायालय M.P.High court की वेबसाइट https://mphc.gov.in/में recruitment section पर जाकर  दिनांक 26/02/2020 से आनलाईन आवेदन submit कर सकता हैं ।
जाब वेकेंसी
 सरकारी नौकरी

आनलाइन आवेदन करनें की अंतिम तिथि 16/03/2020 रात 11.59 मिनिट तक हैं । जबकि आनलाइन आवेदन में त्रुटि होनें पर सुधार करनें की तारीख 20/03/2020 से 23/03/2020 रात 11.59 तक रहेगी ।


परीक्षा का कार्यक्रम बाद में घोषित किया जावेगा ।




# पदों का विवरण निम्नानुसार हैं --

# निज सचिव 

१.निज सचिव का एक पद हैं जो अनारक्षित  महिला के लियें है ।

२.इस पद की अनिवार्य शैक्षणिक योग्यता किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविधालय से स्नातक  उत्तीर्ण आवश्यक हैं ।

३.उम्मीदवार को  अंग्रेजी शार्टहैंड़/टाईपिंग परीक्षा किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड़ /संस्था से 100 वर्ड प्रति मिनिट की दर से उत्तीर्ण होना आवश्यक हैं ।


४.  कम्पयूटर एप्लीकेशन का ज्ञान आवश्यक हैं ।


५.इस पद का वेतनमान 42100 - 135100 हैं ।



#कम्प्यूटर आँपरेटर  


१.कम्प्यूटर आपरेटर के कुल कुल 3 पद हैं ।

२.अनारक्षित महिला के लिये 3 पद हैं।

३.एक पद अनूसूचित जन जाति Shedule tribes के लिये हैं जो कि सामान्य हैं अर्थात अनूसूचित जन जाति का महिला पुरूष या ट्रांसजेंड़र  कोई भी हो ।

४.इस पद का वेतनमान 19500 - 62000 हैं ।


५.इस पद के लिये उम्मीदवार के पास मान्यता प्राप्त बोर्ड़ /संस्था से हायर सेकण्डरी  परीक्षा या 10+2 पद्धति से हायर सेकण्डरी परीक्षा उत्तीर्ण होना आवश्यक हैं ।

६.  मान्यता प्राप्त विश्वविधालय से B.C.A.परीक्षा उत्तीर्ण होना चाहियें ।

७.मध्यप्रदेश शासन से मान्यता प्राप्त संस्था से हिन्दी मुद्रलेखन की परीक्षा उत्तीर्ण होना चाहियें या मध्यप्रदेश ऐजेंसी फार प्रमोशनल फार इन्फारमेशन टेक्नालाजी MAP -IT द्धारा आयोजित C.P.C.T.परीक्षा उत्तीर्ण जिसनें कम्प्यूटर दक्षता और हिन्दी टाइपिंग उत्तीर्ण की हो । 



# सहायक ग्रेड़ - 3


१. सहायक ग्रेड़ - 3 के कुल 15 पद हैं ।


२.सहायक ग्रेड़ - 3 के कुल 15 पदों में से 5 पद अनूसूचित जन जाति schedule Tribes महिलाओं के लिये आरक्षित हैं.


३.7 पद अनूसूचित जन जाति के लिये सामान्य श्रेणी वालें हैं अर्थात इन पदों पर महिलाओं, पुरूषों या इस श्रेणी के ट्रांसजेंड़र में से कोई भी चुना जा सकता हैं।


४. 2 पद अनूसूचित जन जाति के भूतपूर्व सैनिक के लिये आरक्षित हैं ।


५.1 पद अनूसूचित जन जाति के दिव्यांग (अस्थिबाधित) के लिये आरक्षित हैं ।


इन पदों के लिये भर्ती नियम ,परीक्षा योजना ,आयु आदि के लिये रोजगार और निर्माण का 10 फरवरी 2020 का अंक या मध्यप्रदेश हाइकोर्ट की वेबसाइट https://mphc.gov.in/  का 

अवलोकन करें।

टिप्पणियां

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

टीकाकरण चार्ट [vaccination chart] और संभावित प्रश्न

 टीकाकरण चार्ट # 1.गर्भावस्था के समय टीकाकारण ::: गर्भावस्था की शुरूआत में Titnus का पहला टीका टी.टी - 1. टी.टी -1 के चार सप्ताह बाद टी.टी.-2 यदि पिछली गर्भावस्था में टी.टी - 2 दिया गया हैं,तो केवल बूस्टर दीजिए. ० गर्भावस्था के प्रथम तीन महिनें मे किए जानें वाले योगासन # टीके की मात्रा ,कैसें और कहाँ दें 0.5 ml.मात्रा प्रशिक्षित व्यक्ति द्धारा ऊपरी बांह की मांसपेशी में. # महत्वपूर्ण गर्भावस्था के 36 सप्ताह हो गयें हो तो मात्र टी.टी.- बूस्टर देना चाहियें.  टीकाकरण का दृश्य # 2.शिशुओं के लियें टीकाकरण  #जन्म के समय ::: 1. B.C.G.  =     0.1 ml बाँह पर त्वचा के निचें. 2.हेपेटाइटिस बी.=  0.5 ml मध्य जांघ के बाहरी हिस्सें पर मांसपेशी में 3.o.p.v.या oral polio vaccine = दो बूँद मुहँ में . ///////////////////////////////////////////////////////////////////////// ० आँखों का सूखापन क्या बीमारी हैं ? जानियें इस लिंक पर ०  जानिये पोलियो क्या होता हैं ? ० चुम्बक चिकित्सा के बारें में जानें ० बच्चों की परवरिश कैसें करें healthy parating

गेरू के औषधीय प्रयोग

गेरू के औषधीय प्रयोग गेरू के औषधीय प्रयोग   आयुर्वेद चिकित्सा में कुछ औषधीयाँ सामान्य जन के मन में  इतना आश्चर्य पैदा करती हैं कि कई लोग इन्हें तब तक औषधी नही मानतें जब तक की इनके विशिष्ट प्रभाव को महसूस नही कर लें । गेरू भी उसी श्रेणी की आयुर्वेद औषधी हैं । जो सामान्य मिट्टी से कही अधिक इसके विशिष्ट गुणों के लियें जानी जाती हैं । गेरू लाल रंग की की मिट्टी होती हैं जो सम्पूर्ण भारत में बहुतायत मात्र में मिलती हैं । इसे गेरू या सेनागेरू भी कहतें हैं । गेरू आयुर्वेद की विशिष्ट औषधी हैं जिसका प्रयोग रोग निदान में बहुतायत किया जाता हैं ।     गेरू का संस्कृत नाम  गेरू को संस्कृत में गेरिक ,स्वर्णगेरिक तथा पाषाण गेरिक के नाम से जाना जाता हैं । गेरू का लेटिन नाम  गेरू   silicate of aluminia  के नाम से जानी जाती हैं । गेरू की आयुर्वेद मतानुसार प्रकृति गेरू स्निग्ध ,मधुर कसैला ,और शीतल होता हैं । गेरू के औषधीय प्रयोग 1. आंतरिक रक्तस्त्राव रोकनें में गेरू शरीर के किसी भी हिस्से में होनें वाले रक्तस

गिलोय के फायदे GILOY KE FAYDE

 GILOY KE FAYDE गिलोय के फायदे GILOY KE FAYDE गिलोय का संस्कृत नाम क्या हैं ? गिलोय का संस्कृत नाम गुडुची,अमृतवल्ली ,सोमवल्ली, और अमृता हैं । गिलोय का हिन्दी नाम क्या हैं ? गिलोय GILOY का हिन्दी नाम 'गिलोय,अमृता, संशमनी और गुडुची हैं । गिलोय का लेटिन नाम क्या हैं ? गिलोय का लेटिन नाम Tinospra cordipoolia (टिनोस्पोरा  कोर्ड़िफोलिया ) गिलोय की पहचान कैसें करें ? गिलोय सम्पूर्ण भारत वर्ष में पाई जानें वाली आयुर्वेद की सुप्रसिद्ध औषधी हैं । Ayurveda ki suprasiddh oshdhi hai यह बेल रूप में पाई जाती हैं, और दूसरें वृक्षों के सहारे चढ़कर पोषण प्राप्त करती हैं । गिलोय के पत्तें दिल के (Heart shape) आकार के होतें हैं।  गिलोय का तना अंगूठे जीतना मोटा और प्रारंभिक   अवस्था में हरा जबकि सूखनें पर धूसर हो जाता हैं । गिलोय के फूल छोटे आकार के और हल्का पीलापन लियें गुच्छों में लगतें हैं । गिलोय के फल पकनें पर लाल रंग के होतें हैं यह भी गुच्छों में पाये जातें हैं । गिलोय में पाए जाने वाले पौषक तत्व 1.लोह तत्व : 5.87 मिलीग्राम 2.प्रोट