गुरुवार, 7 मार्च 2019

आज दिनांक 7 मार्च का राशिफल और महाकाल दर्शन

. 🙏🌹जय श्री महाकाल🌹🙏
श्री महाकालेश्वर ज्योतिर्लिंग का आज का भस्म आरती श्रृंगार दर्शन
7 मार्च 2019 गुरुवार      
        *।। ॐ  ।।*
    🚩🌞 *सुप्रभातम्* 🌞🚩
📜««« *आज का पंचांग* »»»📜
कलियुगाब्द.......................5120
विक्रम संवत्......................2075
शक संवत्........................1940
मास..............................फाल्गुन
पक्ष.................................शुक्ल
तिथी.............................प्रतिपदा
रात्रि 11.42 पर्यंत पश्चात द्वितीया
रवि.............................उत्तरायण
सूर्योदय.........प्रातः 06.43.15 पर
सूर्यास्त.........संध्या 06.32.46 पर
चंद्रोदय..........प्रातः 07.13.32 पर
चंद्रास्त.........संध्या 07.11.24 पर
सूर्य राशि...........................कुम्भ
चन्द्र राशि..........................कुम्भ
नक्षत्र........................पूर्वाभाद्रपद
रात्रि 08.42 पर्यंत पश्चात उत्तराभाद्रपद
योग.................................साध्य
दोप 03.52 पर्यंत पश्चात शुभ
करण............................किस्तुघ्न
प्रातः 10.40 पर्यंत पश्चात बव
ऋतु..................................बसंत
दिन.................................गुरुवार

🇬🇧 *आंग्ल मतानुसार :-*
07 मार्च सन 2019 ईस्वी ।

👁‍🗨 *राहुकाल :-*
दोपहर 02.05 से 03.33 तक ।

🌞 *उदय लग्न मुहूर्त :-*
कुम्भ     05:36:53 07:10:12
मीन       07:10:12 08:41:09
मेष       08:41:09 10:21:35
वृषभ     10:21:35 12:19:52
मिथुन    12:19:52 14:33:11
कर्क       14:33:11 16:48:59
सिंह       16:48:59 19:00:27
कन्या     19:00:27 21:10:45
तुला       21:10:45 23:25:00
वृश्चिक    23:25:00 25:40:48
धनु       25:40:48 27:46:06
मकर     27:46:06 29:32:58

🚦 *दिशाशूल :-*
*दक्षिणदिशा -*
यदि आवश्यक हो तो दही या जीरा का सेवन कर यात्रा प्रारंभ करें ।

☸ शुभ अंक.................1
🔯 शुभ रंग.................पीला

✡ *चौघडिया :-*
प्रात: 06.46 से 08.14 तक शुभ
प्रात: 11.09 से 12.37 तक चंचल
दोप. 12.37 से 02.05 तक लाभ
दोप. 02.05 से 03.32 तक अमृत
सायं 05.00 से 06.28 तक शुभ
सायं 06.28 से 08.00 तक अमृत
रात्रि 08.00 से 09.32 तक चंचल |

📿 *आज का मंत्र :-*
|| ॐ गोविन्दाय नमः ||

📢 *सुभाषितम् :-*
दातव्यमिति यद्दानं दीयतेऽनुपकारिणे ।
देशे काले च पात्रे च तद्दानं सात्त्विकं स्मृतम् ॥ 
अर्थात :-
"दान देना कर्तव्य है" ऐसी भावना से जो दान देश, काल, और योग्य पात्र देखकर, प्रत्युपकार की भावना रखे बिगैर दिया जाता है वह सात्त्विक दान कहा गया है ।

🍃 *आरोग्यं :-*
*केले के औषधीय गुण -*

*1. ब्लड शुगर का स्तर कम करे -*
केले के औषधीय गुण में ब्लड शुगर के स्तर को कम करना शामिल है। केला पेक्टिन का समृद्ध स्रोत है, यह एक प्रकार का फाइबर है। इसके अलावा केले में रेजिसटेंट स्टार्च होता है, जो घुलनशील फाइबर की तरह कार्य करता है और पाचन में बहुत ही सहायता करता है। पेक्टिन और रेजिसटेंट स्टार्च ब्लड शुगर का स्तर कम कर सकता है और आपके पेट को खाली करके भूख को कम कर सकता है। 

⚜ *आज का राशिफल :-*

🐏 *राशि फलादेश मेष :-*
*(चू, चे, चो, ला, ली, लू, ले, लो, आ)*
शारीरिक कष्ट से बाधा उत्पन्न हो सकती है। कीमती वस्तुएं संभालकर रखें। अप्रत्याशित खर्च सामने आएंगे। कर्ज लेना पड़ सकता है। किसी व्यक्ति से अकारण विवाद हो सकता है। किसी कार्य को करने से प्रशंसा मिलेगी। व्यवसाय ठीक चलेगा।

🐂 *राशि फलादेश वृष :-*
*(ई, ऊ, ए, ओ, वा, वी, वू, वे, वो)*
लाभ में वृद्धि होगी। जोखिम उठाने का साहस कर पाएंगे। नई योजना बनेगी। कार्यप्रणाली में सुधार होगा। बकाया वसूली के प्रयास सफल रहेंगे। पारिवारिक चिंता रहेगी। फालतू खर्च होगा। व्यावसायिक यात्रा लंबी हो सकती है। लाभ होगा। 

👫 *राशि फलादेश मिथुन :-*
*(का, की, कू, घ, ङ, छ, के, को, ह)*
आर्थिक उन्नति के लिए नई योजना बनेगी। कार्यप्रणाली में सुधार होगा। व्यावसायिक यात्रा सफल रहेगी। व्यापार-व्यवसाय में मुनाफा बढ़ेगा। काफी समय से रुका हुआ कार्य पूर्ण हो सकता है। भाग्य का साथ मिलेगा। व्यस्तता रहेगी। प्रमाद न करें। 

🦀 *राशि फलादेश कर्क :-*
*(ही, हू, हे, हो, डा, डी, डू, डे, डो)*
नए मित्र बनेंगे। पूजा-पाठ में मन लगेगा। शत्रु सक्रिय रहेंगे। वाणी पर नियंत्रण रखें। सामंजस्य बनाकर रखें। कोर्ट व कचहरी आदि में विजय मिलेगी। कारोबार लाभदायक रहेगा। नौकरी में अधिकारी प्रसन्न रहेंगे। घर-बाहर प्रसन्नता रहेगी। जोखिम न लें। 

🦁 *राशि फलादेश सिंह :-*
*(मा, मी, मू, मे, मो, टा, टी, टू, टे)*
बेचैनी रहेगी। अज्ञात भय सताएगा। वाहन व मशीनरी के प्रयोग में लापरवाही न करें। एकाग्रता की कमी होगी। स्वास्थ्य का पाया कमजोर रहेगा। अकारण विवाद की स्थिति उत्पन्न हो सकती है। व्यापार-व्यवसाय ठीक चलेगा। आय बनी रहेगी। 

👩🏻‍🦱 *राशि फलादेश कन्या :-*
*(ढो, पा, पी, पू, ष, ण, ठ, पे, पो)*
शत्रु पस्त होंगे। कोर्ट व कचहरी के कार्य मनोनुकूल रहेंगे। जीवनसाथी से सहयोग प्राप्त होगा। धन प्राप्ति सुगम होगी। लाभ के अवसर हाथ आएंगे। पारिवारिक सुख-शांति बनी रहेगी। शत्रु सक्रिय रहेंगे। नजरअंदाज न करें। चोट व रोग से बचें। भाग्य का साथ मिलेगा। 

⚖ *राशि फलादेश तुला :-*
*(रा, री, रू, रे, रो, ता, ती, तू, ते)*
किसी व्यक्ति से बहस हो सकती है। पारिवारिक चिंता बनी रहेगी। स्थायी संपत्ति के कार्य बड़ा लाभ दे सकते हैं। रोजगार में वृद्धि होगी। कारोबार से लाभ बढ़ेगा। नौकरी में उच्चाधिकारी प्रसन्न रहेंगे। धनहानि संभव है। प्रमाद न करें। 

🦂 *राशि फलादेश वृश्चिक :-*
*(तो, ना, नी, नू, ने, नो, या, यी, यू)*
शारी‍रिक कष्ट के योग हैं, सावधानी बरतें। लेन-देन में जल्दबाजी न करें। चिंता तथा तनाव रहेंगे। किसी आनंदोत्सव में भाग लेने का अवसर प्राप्त होगा। विद्यार्थी अपने कार्य एकाग्रता से कर पाएंगे। अध्ययन में मन लगेगा। यात्रा मनोरंजक हो सकती है। 

🏹 *राशि फलादेश धनु :-*
*(ये, यो, भा, भी, भू, धा, फा, ढा, भे)*
ऐश्वर्य के साधनों पर खर्च होगा। दूर से दु:खद समाचार प्राप्त हो सकता है। विवाद से क्लेश हो सकता है। पुराना रोग उभर सकता है। झंझटों में न पड़ें। महत्वपूर्ण निर्णय टालें। व्यापार-व्यवसाय ठीक चलेगा। आय बनी रहेगी। जल्दबाजी न करें। 

🐊 *राशि फलादेश मकर :-*
*(भो, जा, जी, खी, खू, खे, खो, गा, गी)*
विवाह के उम्मीदवारों को वैवाहिक प्रस्ताव मिल सकता है। खुशी का वातावरण निर्मित होगा। जल्दबाजी न करें। पूर्व में किए गए प्रयासों का फल अब मिल सकता है। जोखिम उठाने का साहस कर पाएंगे। धनार्जन होगा। व्यस्तता बनी रहेगी। 

🏺 *राशि फलादेश कुंभ :-*
*(गू, गे, गो, सा, सी, सू, से, सो, दा)*
शारीरिक कष्ट से बाधा संभव है। मनोरंजन का मौका मिलेगा। शुभ समाचार प्राप्त होंगे। घर में अतिथियों का आगमन होगा। व्यय होगा। विवाद से बचें। आत्मविश्वास में वृद्धि होगी। घर-बाहर सुख-शांति बनी रहेगी। नए मित्र बन सकते हैं। 

🐠 *राशि फलादेश मीन :-*
*(दी, दू, थ, झ, ञ, दे, दो, चा, ची)*
राजभय रहेगा। किसी भी प्रकार की बहस का हिस्सा न बनें, बात बिगड़ सकती है। जल्दबाजी व लापरवाही न करें। बेरोजगारी दूर करने के प्रयास सफल रहेंगे। व्यावसायिक यात्रा सफल रहेगी। अप्रत्याशित लाभ के योग हैं। चोट व रोग से बचें। जोखिम न लें। 

☯ *आज का दिन सभी के लिए मंगलमय हो ।*

*।। शुभम भवतु ।।*

🇮🇳🇮🇳 *भारत माता की जय*  🚩🚩

कोई टिप्पणी नहीं:

प्रदूषित होती नदिया(River) कही सभ्यताओं के अंत का संकेत तो नही

विश्व की तमाम सभ्यताएँ नदियों के किनारें पल्लवित हुई हैं,चाहे मेसोपोटोमिया हो या हड़प्पा यदि नदिया नही होती तो न ये सभ्यताएँ होती और ना ही...