सोमवार, 27 जुलाई 2015

शारिरीक शक्ति और आयुर्वेद

आजकल की भागती दोड़ती जीवनशैली में व्यक्ति दिन भर काम करते-करते इतना थक जाता हैं, कि उसे अपने निजी सम्बंधों का सुख उठाने की ताकत ही नहीं बचती,फलस्वरूप पारिवारिक जीवन तनावों से घिर जाता हैं.इस पृकार की परिस्थितियों में व्यक्ति आत्महत्या तक कर लेता हैं .
आयुर्वैद ने हजारों वषों से व्यक्ति के जीवन को सदैंव मुश्किलों से उबारा हैं,और आज भी इस दिशा में पृयत्नशील हैं. आईयें जानते हैं उपचार-::

१.अश्वगंधा चूर्ण ,बबूल का गोदं,बबूल की फली,केसर,मुलेठी,धायफूल,कोंच बीज को विशेष अनुपात मे मिलाकर सेवन करनें से से केसा भी नामर्द हो चार माह मे मर्द बन जाता हैं.
२.अश्वगंधा तेल,महामाष तेल को मिलाकर सुबह शाम लिंग पर मालिश करने से व्यक्ति पारिवारिक जीवन का पूर्ण आनंद लेने के योग्य हो जाता हैं .
नोट-:वैघकीय परामर्श आवश्यक हैं.
शिलाजित के बारें में जानियें
Svyas845@gmail.com

कान्वलेसंट प्लाज्मा थैरेपी क्या हैं ? यह कोरोना वायरस के इलाज में किस प्रकार मददगार हैं what is convalescent plasma therpy in hindi

कान्वलेसंट प्लाज्मा थैरेपी क्या हैं  What is Convalescent plasma therpy in hindi  Convalescent plasma therpy कान्वलेसंट प्लाज्...